क्या आंखों का चश्मे का नंबर हमेशा के लिए हटाया जा सकता हैं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Trishna Dhanda

Self-Starter!!!!! | पोस्ट किया |


क्या आंखों का चश्मे का नंबर हमेशा के लिए हटाया जा सकता हैं?


0
0




Student | पोस्ट किया


हां आंखों को चश्मे का नंबर हमेशा के लिए हटाया जा सकता है। हम आज के युग के व्यक्ति हैं हम अपने टेक्नोलॉजी का बहुत ज्यादा मात्रा में जैसे स्मार्टफोन टीवी कंप्यूटर वीडियो गेम इत्यादि। यही सब हम अपने प्रयोग में ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। जो हमारी आंखों की रोशनी को अपनी तरफ खींचता है। जिससे हमारी देखने की क्षमता कम हो जाती है। अगर हम इन सभी चीजों का कम से कम इस्तमाल करे तो हमें जरूर फायदा मिलेगा। और हमें चश्मे पहनने की जरूरत नहीं पड़ेगी। मैं आपको के लिए एक नुक्सा भी बताने वाला हूं। जिसे मेरे भाई मैं खुद इस्तेमा  क्या है।  और उन्हें यह नुक्से को करके बहुत आराम  मिला।


 नुस्खा = हमें रात को सोने से पहले अच्छी तरह अपने मुंह और आपको को अच्छी तरह साफ करना होगा।जब आप सुबह उठते हो तो बिना बस वह मुंह धोए अपनी सलाइवा (लार ) को अपने आपको मैं लगाना होगा यह सलाइवा (लार) इतना असरदार होता है।कि आपको कुछ महीनों में इसका असर देखने को मिलेगा।Letsdiskuss



0
0

Student | पोस्ट किया


आधुनिक तकनीक से युक्त आज का युग यूं तो दिन दुगनी रात चौगुनी तरक्की कर रहा है। आज मानव तकनीकी उपकरणों का प्रयोग रोज कर रहा है। और इन्हीं तकनीकी उपकरणों में कंप्यूयर   लेपटॉप  टीवी और फ़ोन भी मानव के लिए बहुत मायने रखते है। ये उपकरण तकनीकी विकास के लिए तो उपयोगी है परन्तु कही ना कही ये मानव स्वस्थ के लिए थोड़े बहुत हानिकारक भी है  खासकर आंखों के लिए। कंप्यूटर, मोबाइल, टीवी से निकलने वाली विद्युत चुंबकीय किरणें हमारी आंखों पर अपना सीधा प्रभाव डालती है। 

   आंखें जो कि हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक है। जिनकी वजह से हम पूरी दुनिया देख पाते हैं। तो इनकी देखभाल करना भी हमारा परम कर्तव्य होता है। परंतु वर्तमान समय में विद्यमान इलेक्ट्रॉनिक उपकरण व दिन प्रतिदिन बढ़ने वाला प्रदूषण हमारी आंखों के हानिकारक साबित हो रहा है। और इसकी चपेट में जवान बूढ़े यहां तक कि बच्चे भी आ रहे हैं। और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के प्रयोग की वजह से आज हमें छोटे-छोटे बच्चों की आंखों में भी चश्मे लगे नजर आते है। क्योंकि फोन में चलने वाले ऑनलाइन गेम बच्चों को बहुत प्रभावित करते हैं जिस वजह से वे इन गेमो के आदी हो जाते हैं और उनकी आंखों की रोशनी कमजोर हो जाती है। परंतु कुछ उपायों की बदौलत हम आंखों के चश्मे को हमेशा के लिए हटा सकते हैं। 

   आंखों की समस्या को दूर करने का एक सरल उपाय यह है कि आप अपने खाने में विटामिनयुक्त चीजों का प्रयोग करें। खाने में विटामिन ए तथा विटामिन सी से युक्त फल और सब्जी का इस्तेमाल हमारी आंखों के लिए उत्तम होता है।  बात गाजर की करे तो गाजर में विटामिन ए तथा विटामिन सी और उचित मात्रा में फास्फोरस और आयरन होता है। इसके अतिरिक्त आंवला टमाटर संतरा नींबू का सेवन शरीर में विटामिन सी की कमी पूरी करता है।

   यदि सोने से पहले आप मिस्त्री बादाम व सौंफ को समान मात्रा में मिलाकर एक पाउडर बना लें और प्रतिदिन कम से कम ढाई सौ मिलीलीटर दूध में 10 ग्राम बादाम सौंफ और मिश्री के पाउडर को मिला ले। और इसका इस्तेमाल करे तो यह आपकी आंखों की रोशनी को बढ़ाता है जिस कारण आपके आंखों के चश्मे का नंबर भी कम होता जाता है।

 आईबॉल की मसाज के लिए एक एक्सरसाइज ऐसी है जिसे हम प्रतिदिन कर सकते हैं। यह बहुत ही आसान और लाभदायक एक्सरसाइज है। जिसे कोई भी आसानी से कर सकते हैं इस एक्सरसाइज में सुबह के समय में सूर्य की ओर देखें और अपनी आंखों को बंद कर ले। तत्पश्चात अपने शरीर को एक स्थान से दूसरे स्थान तक झूलाए। 5 मिनट रोजाना यह एक्सरसाइज करने पर हमारी आईबॉल की मसाज होती है जो कि हमारी आंखों के लिए लाभदायक है।

 कभी-कभी गर्मियों के मौसम में या देर तक टीवी फोन या कंप्यूटर के प्रयोग से आंखों में जलन बढ़ जाती है। तो ऐसी स्थिति में एक गिलास पानी से अपनी आंखों को धोये। 

 छोटे बच्चों में अक्सर यह देखा जाता है कि वह किताबे या फोन को बहुत नजदीक से देखते हैं। किस वजह से उनकी आंखें लाल हो जाती है। तो ऐसी गलती करने से उन्हें बचना चाहिए। और 25 सेंटीमीटर की दूरी से किताबों को पढ़ना चाहिए या फिर फोन आदि का इस्तेमाल करना चाहिए।

 पेंडुलम एक्सरसाइज यह एक सहज एक्सरसाइज है। एक्सएक्सएल साइज में अपनी आंखों को पेंडुलम की भांति एक छोर से दूसरे छोर तक घूमाए

 इस एक्सरसाइज के परिणाम स्वरूप आंख के लेंस का फोकस बढ़ता है।

 देर रात तक कंप्यूटर लैपटॉप पर कार्य करने और रात भर फोन के इस्तेमाल से हमारी आंखों को पर्याप्त आराम व नींद नहीं मिल पाती। ये एक मुख्य कारण है आंखों की रोशनी के कम होने का। इसलिए देर रात तक कार्य ना करें और अपनी आंखों को आराम दे।

 हरी सब्जी जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी होती है। इसके सेवन करने से हमारी आंखों को वह भी बहुत फायदा मिलता है इसलिए हमें रोजाना हरी सब्जी खानी चाहिए। यदि आप हरी सब्जी खाना पसंद नहीं करते तो आप इसका जूस बनाकर पी भी सकते हैं।

  1. गुलाब जल आंखों को ठंडक देने का कार्य करता है। परंतु इसके प्रयोग से पहले यह सुनिश्चित कर लें क्या आपकी आंखों को छोड़ हो रहा है कि नहीं। यदि आपके आंखों को सूट कर रहा है तो आप इसका हफ्ते में 2 दिन इस्तेमाल कर सकते हैं।Letsdiskuss


0
0

Picture of the author