भगवान कृष्ण के कितने बच्चे थे? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


parvin singh

Army constable | पोस्ट किया |


भगवान कृष्ण के कितने बच्चे थे?


0
0




Preetipatelpreetipatel1050@gmail.com | पोस्ट किया


हमारे भगवान श्रीकृष्ण के  80 पुत्र थे. भगवान श्री कृष्ण का विवाह 8 रानियों से हुआ था ! उनकी 16108 पटरानी अभी थी !

 रुक्मिणी ने -प्रद्युम्न, चारुदेशना, सुदेष्णा, चारुदेव, सुचारु, चारुगुप्त इन सभी पुत्रों को जन्मा है ।

• सत्यभामा ने  -भानु, सुभानु, स्वभानु, प्रभाणू, भानुमान, चंद्रभानु, बृहद भानु, अतीभानु, श्रीभानु और प्रतिभानु जैसे पुत्रो को जन्म दिया है!

• जाम्बवती  ने - सांबा, सुमित्रा, पुरुजित, शतजीत, सहस्रजीत, विजय, चित्रकेतु, वसुमन, द्रविण और कृतु इन सभी पुत्र को जन्म दिया है ।

• नागराजिती उर्फ ​​सत्य ने - वीर, चंद्र, अश्वसेना, चित्रगु, वेगवान, वृषभ आदि जैसे बच्चों को जन्म दिया!

• कालिंदी- श्रुति, कवि, वृष, विरा, दर्स, पूर्णमासा और सोमका जैसे पुत्रों को जन्म दिया था।

•  मित्रविंदा ने - वृक, हर्ष, अनिल, गृध्र, वर्धन, अन्नद, महेश, पवन, वनि और क्षुधि आदि!

•  भद्र-संग्रामजीत, बृहत् सेन, शूर, प्रहरन, अरिजीत, जय, सुभद्रा इन सभी पुत्रों को जन्म दिया!

Letsdiskuss


0
0

Occupation | पोस्ट किया


भगवान श्री कृष्ण जी के 80 बच्चे थे, तथा श्री कृष्ण के 8 पत्नीयां थी।   कृष्ण के 8 पत्नियों के नाम - रुक्मणि,सत्यभामा,कालिंदी,मित्रबिदा,सत्या,जाम्बवन्ती, भद्रा, लक्ष्मणा आदि।

श्री कृष्ण भगवान के 80 बच्चो के नाम इस प्रकार है :-
प्रद्युम्न, चारुदेष्ण, सुदेष्ण, चारुदेह, सुचारू, चरुगुप्त, भद्रचारू, चारुचंद्र, विचारू और चारू रुक्मिणी के पुत्र है।

तथा सुमित्र, साम्ब,पूरजीत,शतजित,विजय, चित्रकेतु,वसुमान,द्रविड़,क्रतू, सहस्त्रजित ये सब जाम्बवन्ती के पुत्र है।

भानु,प्रभानु,भानुमानु,चंद्रभानु,श्रीभानु,प्रतिभानु,
अतिभानु,वृद्धभानु,स्वरभानु,सुभानू आदि सत्यभामा के पुत्र थे।

कवि, वृष, वीर,भद्र,सुबाहु,शांति,दर्श,सोमक,पूर्णवास आदि कालिंदी के पुत्र है।

हर्ष, अनिल,वृक,वर्धन,अन्नाद,पावन,महास,वहि, ग्रध, शुधा
 मित्रबिन्दा पुत्र थे।

प्रबल,महाशक्ति, सह,गत्रवान, प्रघोष,अपराजित,औज, बल,लक्ष्मणा के पुत्र है।

Letsdiskuss


0
0

| पोस्ट किया


भगवान श्री कृष्ण का विवाह 8 पत्नियों से विधिवत हुआ था। जिनमें से प्रत्येक पत्नियों के 10 10 पुत्र थे। इसलिए 8 महिलाओं में उन्हें 80 पुत्र प्राप्त हुए थे। उनकी 8 पत्नियों को आष्टा भार्या कहा जाता था। उनकी 8 पत्नियों के नाम इस प्रकार हैं रुकमणी, जामवंती, सत्यभामा,कालिंदी, मित्रविंदा, सत्या, भद्रा, और लक्ष्मणा। और उनके पुत्रों के नाम इस प्रकार है प्रद्युम्न, सुचारू, सांब, सुमित्र, भानु, सुभान, श्रुत, कवि, वर्धन, हर्ष, बल, प्रबल, वीर, चंद्र, संग्राम जित, सूर आदि अनेक पुत्र थे। वैसे तो भगवान श्री कृष्ण की 16108 रानियां थी तो इसके हिसाब से 161,080 पुत्र होने चाहिए थे जिन्हे भगवान श्रीकृष्ण भूल चुके थे ।Letsdiskuss


0
0

Army constable | पोस्ट किया


श्रीशुक उवाच

एकिकाशास्तः कृष्णस्य पुत्राण दश दशलाः।


अजीजनन्ननमनपितु: सर्वात्मसम्पदा मान |


"तुक्केदेव गोस्वामी ने कहा- भगवान कृष्ण की पत्नियों में से प्रत्येक ने दस पुत्रों को जन्म दिया, जो अपने व्यक्तिगत रौद्र रूप (भगवान कृष्ण की सुंदरता) के साथ अपने पिता से कम नहीं थे।"


मुराद


भगवान कृष्ण की 16,108 पत्नियां थीं, और इस तरह यह वचन बताता है कि भगवान 161,080 पुत्रों को भूल गए।


-श्री श्रीमद्भागवतम्


  • भगवान कृष्ण और रुक्मिणी के पुत्र-प्रद्युम्न, चारुदेशना, सुदेष्णा, चारुदेव, सुचारु, चारुगुप्त, भद्रचक्र, चारुचंद्र, विचरु, और चारु।
  • भगवान कृष्ण और सत्यभामा के पुत्र -भानु, सुभानु, स्वभानु, प्रभाणू, भानुमान, चंद्रभानु, बृहद भानु, अतीभानु, श्रीभानु और प्रतिभानु
  • भगवान कृष्ण और जाम्बवती के पुत्र- सांबा, सुमित्रा, पुरुजित, शतजीत, सहस्रजीत, विजय, चित्रकेतु, वसुमन, द्रविण और कृतु।
  • भगवान कृष्ण और नागराजिती उर्फ ​​सत्य-वीर, चंद्र, अश्वसेना, चित्रगु, वेगवान, वृषभ, आम, शंकु, वसु और कुंती के पुत्र
  • भगवान कृष्ण और कालिंदी-श्रुति, कवि, वृष, विरा, सुबाहु, भद्रा, संति, दर्स, पूर्णमासा और सोमका के पुत्र।
  • भगवान कृष्ण और मित्रविंदा के पुत्र- वृक, हर्ष, अनिल, गृध्र, वर्धन, अन्नद, महेश, पवन, वनि और क्षुधि।
  • भगवान कृष्ण और भद्र-संग्रामजीत, बृहत् सेन, शूर, प्रहरन, अरिजीत, जय, सुभद्रा, वाम, अयु और सत्यक के पुत्र।

Letsdiskuss




0
0

Picture of the author