क्या आयुर्वेदिक वैदिक दवाइयों का भी साइड इफेक्ट होता है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


Rinki Pandey

| पोस्ट किया |


क्या आयुर्वेदिक वैदिक दवाइयों का भी साइड इफेक्ट होता है?


2
0




| पोस्ट किया


Letsdiskuss

 

क्या आयुर्वेदिक दवाइयों का साइड इफेक्ट होता है? इस प्रश्न का जवाब यह है कि आयुर्वेदिक दवाओं का वैसे तो साइड इफेक्ट कुछ भी नहीं होता लेकिन इसे अधिक मात्रा में ले लिया जाए तो शरीर में इसके कुछ साइड इफेक्ट वाले लक्षण दिखाई देते हैं। आयुर्वेद का साइड इफेक्ट आप बिल्कुल उसी तरीके से हैं, जैसे मान लीजिए कि आप ढेर मात्रा में आम खा लिया और उसके बाद आपका पेट खराब हो गया, इसी तरह से आयुर्वेदिक दवाओं के साथ होता है। यदि आप उसे मात्रा से अधिक ले लिया तो आपके लिए वह साइड इफेक्ट कर सकता है।

 

आयुर्वेद एक नेचुरल पैथी है, जिसका साइड इफेक्ट नहीं होता या दावा किया जाता है। लेकिन अगर कुछ दवाओं को बिना जांचे परखे लगातार उसका उपयोग अधिक मात्रा में करेंगे तो इसका साइड इफेक्ट दिखाई देता है।

आयुर्वेद का साइड इफेक्ट नहीं होता है जाने कैसे

 

एलोपैथिक दवा का साइड इफेक्ट इसलिए शरीर में दिखाई देता है क्योंकि लगातार आप केमिकल वाली दवा खा रहे हैं, जिसका कोई न कोई साइड इफेक्ट है। शरीर में चकत्ते के रूप में, जलन के रूप में, खराश के रूप में दिखाई देता है। लेकिन आयुर्वेद के इलाज में डॉक्टर सोच समझ के सही मात्रा में आपको दवा देता है इस कारण से होने वाला साइड इफेक्ट भी आपके शरीर में दिखाई नहीं देता है यानी साइड इफेक्ट्स का नहीं होता है।

 वैसे भी आयुर्वेदिक दवा नेचुरल पैथी दवा होती है, मतलब नेचर से सीधे जड़ी बूटियों को कूटकर, पीसकर या उसे छानकर आसवन विधि से बनाया जाता है या खाया जाता है, इस कारण से इसमें किसी भी तरह का केमिकल नहीं मिलाया जाता है। जिस कारण से आयुर्वेदिक दवा अपने आप में साइड इफेक्ट फ्री होता है। कहने का मतलब यह है कि अगर आप आयुर्वेदिक दवा सही ग्रेजुएट पढ़े-लिखे आयुर्वेदाचार्य की देखरेख में और उनके परामर्श में लेते हैं तो दवा का कोई साइड इफेक्ट आप पर नहीं पड़ता है। लेकिन एलोपैथी दवा में ऐसा नहीं है, आप डॉक्टर की सलाह से दवा लेते हैं लेकिन उस दवाओं के बनाने की विधि आयुर्वेद की तरह नेचुरल नहीं होती इसलिए उसका साइड इफेक्ट ऑफ देखते हैं।





3
0

| पोस्ट किया


जी हां बिल्कुल आयुर्वेदिक दवाइयों के भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं। यदि आप उसका सेवन बिना वैद्य के  परामर्श के करते हैं तो आपके शरीर में इसके साइड इफेक्ट हो सकते हैं। आयुर्वेद में बताया गया है कि यदि आप मौसम के अनुसार आयुर्वेदिक दवाइयों का सेवन करते हैं तो इससे पहले आप वैद्य से सला ली क्योंकि आयुर्वेदिक की दवाइयां सर्दियां और गर्मियों के अनुसार दी जाती हैं यदि आप सर्दी की दवाई गर्मी के मौसम में सेवन करते हैं तो और गर्मी की दवाइयां सर्दी के मौसम में लेते हैं तो इससे आपकी बॉडी में हानिकारक हो सकता है।Letsdiskuss


0
0

Picture of the author