Hindi Astrology Question Answer Platform
LOGO
गेलरी
प्रश्न पूछे

भगवान शिव के पुत्र कार्तिकेय या मुरुगन भगवान ..आगे पढ़े

उत्तर दिया अज्ञात

user

नरसिंघ जयंती की पूजा का क्या महत्व है?

Amayra Badoni Student (Delhi University) | पोस्ट किया 17 May, 2019

नरसिंघ भगवान विष्णु का एक रूप है | भगवान नरसिंघ का यह रूप आधा इंसान और आधा शेर का रूप है | नरसिंघ भगवान का यह स्वरुप अपने भक्त प्रहलाद को हिरण्यकश्यप के आतंक से मुक्ति दिलाने के लिए था | नरसिंघ जयंती की पूजा का महत्व... आगे पढ़े

उत्तर दिया पंडित दयाराम शर्मा (Astrologer,Shiv shakti Jyotish Kendra)

नवग्रहों में सबसे महत्वपूर्ण और सबसे मजबूत ग्रह होता है बृहस्पति , जिसको गुरु ग्रह भी कह सकते हैं | अर्थात कहा जा सकता है कि गुरु ग्रह सबका गुरु होता है | बृहस्पति ग्रह का अगर असर शुभ हो तो तो आपके जीवन में सुख और सौभाग्य मिलता है और वहीं अगर बृहस्पति का असर अशुभ हो... आगे पढ़े

उत्तर दिया पंडित दयाराम शर्मा (Astrologer,Shiv shakti Jyotish Kendra)

वैसे तो सभी राशियां अपने आप में खास स्थान रखती है | ज्योतिष के अनुसार 12 राशियां होती हैं और सभी राशि अपने आप में कुछ खास महत्व रखती हैं | आज हम बात कर रहे हैं वृश्चिक राशि के बारें में और आज आपको बताते हैं कि वृश्चिक राशि में ऐसी कौन सी खास बात हैं जो उन्हें सभी... आगे पढ़े

उत्तर दिया पंडित दयाराम शर्मा (Astrologer,Shiv shakti Jyotish Kendra)

महीने में 2 एकादशी आती है, जिसको ग्यारस भी कहते हैं | एकादशी हर महीने की 11 वीं तिथि होती है | महीने की हर ग्यारस का अपना एक महत्व होता है | आज आपको मोहिनी ग्यारस का महत्व बताते हैं | जैसा कि हर दिन का शुभारम्भ शुभ है या अशुभ ये हिन्दू धर्म में पंचाग पर निर्धारित होता है |... आगे पढ़े

उत्तर दिया पंडित दयाराम शर्मा (Astrologer,Shiv shakti Jyotish Kendra)