द इन सर्कल पर पायें प्लम्बर की नौकरी के ढेरों विकल्प ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

Digital Marketer | पोस्ट किया |


द इन सर्कल पर पायें प्लम्बर की नौकरी के ढेरों विकल्प ?


0
0




Digital Marketer | पोस्ट किया


हम सबको पता है कि प्लम्बर का काम पानी और उसके पाइप लाइन से संबंधित होता है। किसी भी रेसिडेंशियल फ्लैट या फिर कमर्शियल फ्लैट्स और बिल्डिंग्स के बाथरुम और किचेन इन सब जगहों पर पानी के पाइप लाइन्स बिछाना, उनको आपस में जोड़ना और समय-समय पर उनकी मरम्मत करने वाले को प्लम्बर कहा जाता है। इतना ही नहीं ऑफिसेस, होटल्स और हरदिन बड़े पैमाने पर हो रहे कंस्ट्रक्शन में भी पानी के पाइप लाइन से जुड़े कामों के लिये प्लम्बर की बहुत ज्यादा डिमांड रहती है। प्लम्बर की आवश्यकता गावों, कस्बों और शहरों में हर जगह होती है। प्लम्बर का काम बहुत ही मेहनत और शारिरिक श्रम वाला होता है। इस काम को करना हर किसी के बस की बात नहीं होती है। मेहनत वाला होने के साथ ही ये काम टेक्निकल भी होता है। और इस काम को करने से पहले इसका प्रशिक्षण लेना भी बहुत ही जरुरी होता है। बीना प्रोफेशनल कोर्स किये आप इस फिल्ड में सफल नहीं हो सकते हैं। क्यूँकि हर काम के साथ ही साथ इस काम में पहले के मुकाबले अब टेक्नोलॉजी का प्रयोग बहुत बड़े स्तर पर होने लगा है। अतः प्लम्बिंग के काम में प्रयोग किये जाने वाले औजारों और बाकी अन्य विधियों को अच्छे से जानने और एक कुशल प्लम्बर बनने के लिये आपको सबसे पहले इस काम को अच्छे से सीखना जरुरी है। और इसके लिये आप 8वीं या 10वीं के बाद आईटीआई से एक साल का प्लम्बिंग का कोर्स कर सकते हैं। आप अपनी सुविधा के अनुसार ये कोर्स सरकारी अथवा निजी संस्थान कहीं से भी कर सकते हैं। लेकिन अगर आपको ये कोर्स सरकारी संस्थान से करना है तो उसके लिये आपको आठवीं पास होना जरुरी होता है। बीना आठवीं के सर्टीफिकेट के आपको इस कोर्स में एडमिशन नहीं मिल सकता है। कोर्स खतम करने के बाद आप सरकारी अथवा प्राइवेट सेक्टर में अपरेंटिस कर सकते हैं। इसके साथ ही आप चाहें तो आईपीएससी जिसका पूरा नाम इंडियन प्लम्बिंग स्किल काउंसिल है। ये भारत सरकार द्वारा गठित एक ऐसी संस्था है जो प्लम्बर को प्रशिक्षित करने का काम करती है। एक आकड़े के अनुसार भारत में लगभग 90 प्रतिशित प्लम्बर प्रशिक्षित नहीं होते जिसके कारण उनको अच्छी नौकरी मिलने में बहुत ही कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। इस संस्थान के द्वारा ऐसे प्लम्बर को प्रशिक्षित कर उन्हें इस काम में माहिर बनाया जाता है। और उसके बाद उन्हें प्लम्बर का सर्टिफिकेट प्रदान किया जाता है। जिससे उन्हें अच्छी नौकरी के साथ ही साथ अच्छे पैसे भी मिलते हैं। भारत में एक प्लम्बर की औसत मासिक सेलरी 15 से 20 हजार होती है। इस फिल्ड में आप प्राइववेट और सरकारी दोनो जगहों पर नौकरी कर सकते हैं। तो अगर आपने भी प्लम्बिंग का कोर्स किया है और एक अच्छी नौकरी की तलाश में तो आप इसके लिये इंडिया की सबसे अच्छी और एकमात्र ऐसी वेबसाइट द इन सर्कलTheincircle  जो ब्लू कॉलर जॉब देने के लिये जानी जाती है। उसकी मदद ले सकते हैं और अपने मन मुताबिक नौकरी पा सकते हैं। तो फिर देर किस बात की आज ही लॉगिन करें द इन सर्कल पर। 


0
0

Picture of the author