मनुष्य पेड़-पौधों के भरोसे हैं, या पेड़-पौधे मनुष्य के भरोसे आपको क्या लगता हैं ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Amayra Badoni

Student (Delhi University) | पोस्ट किया |


मनुष्य पेड़-पौधों के भरोसे हैं, या पेड़-पौधे मनुष्य के भरोसे आपको क्या लगता हैं ?


0
0




Teacher | पोस्ट किया


अगर आप मेरा जवाब जानने चाहें, तो मेरा जवाब तो यही हैं, कि मनुष्य पेड़-पौधों के भरोसे हैं, क्योकिं इसका सबसे महत्वपूर्ण कारण तो मानव को मिलने वाली ऑक्सीजन से हैं, जो कि पेड़-पौधों से ही मिलती हैं |


अगर हम ये सोचें की पौधे हम पर निर्भर हैं, तो ये प्रकृति से बिल्कुल opposite होगा | क्योकिं अगर पौधे हम पर निर्भर हो तो यह थोड़ा सा अकल्पनीय और थोड़ा आश्चर्यजनक है | इसका तो साफ़-साफ़ मतलब यह होगा कि - प्रकृति के नियमों को उलट दिया जाएगा।

इसके अलावा, यह मानव अहंकार के लिए एक बड़ा बढ़ावा हो सकता है | अगर पौधे हम पर निर्भर हो गए तो शायद हम उनका उतना ख्याल नहीं रख पाएं | वैसे हम जानते हैं, कि मनुष्य पेड़-पौधे पर निर्भर हैं, फिर भी वो उसका नुक्सान करते हैं, अपने इस्तेमाल के लिए वो ये नहीं सोचते के वो ग़लत काम कर रहें हैं |

सोचिये अगर पेड़-पौधे नहीं रहे तो मानव जीवन संभव ही नहीं | इससे तो यही बात साबित होती हैं, पेड़-पौधे मनुष्य पर नहीं मनुष्य पेड़ पौधे पर निर्भर हैं |

Letsdiskuss


0
0

Picture of the author