ओलंपिक और एशियाई खेलों में चीन इतने पदक कैसे जीतता है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Brij Gupta

Optician | पोस्ट किया | खेल


ओलंपिक और एशियाई खेलों में चीन इतने पदक कैसे जीतता है ?


0
0




Entrepreneur | पोस्ट किया


शायद वे अन्य एथलीटों की तुलना में आनुवांशिक रूप से बेहतर हैं?


या, यह सुने - शायद उनके पास बेहतर घर के बुनियादी ढांचे हैं जो उन्हें बेहतर अभ्यास करने और अपने खेल में सुधार करने में मदद करते हैं? हाँ, यह हो सकता है! यही कारण है कि चीन सभी खेल आयोजनों में सबसे अधिक पदक जीतता है।


यदि आप तुलना करते हैं, तो चीन के लोग ओलंपिक और एशियाई खेलों जैसे बहु-आयोजन के खेल के बारे में अधिक भावुक हैं। चीन में एथलीटों को अधिक सम्मान व सराहना मिलती है जो उन्हें अच्छे प्रदर्शन के लिए प्रेरित करता है, जोकि भारत में नहीं होता | उन्हें बहुत बेहतर बुनियादी ढांचा और एक सहानुभूतिपूर्ण संस्कृति मिलती है जो उन्हें कड़ी मेहनत करने के लिए प्रोत्साहित करती है। फिर वे कड़ी मेहनत करते हैं, अधिक अभ्यास करते हैं, बेहतर हो जाते हैं और फिर अधिक पदक जीतते हैं।

Letsdiskuss
भारत में, यह दृश्य नहीं है। आपने देखा होगा कि इन एथलीटों में से कितने लोग अपनी जीत के दौरान स्पष्ट रूप से "राष्ट्र का गौरव" बन जाते हैं, परन्तु अन्य दिनों में बिलकुल अकेले होते हैं, अकेले जीते हैं, अकेले अभ्यास करते हैं। खिलाड़िओ के लिए सही प्रकार से धनापूर्ति नहीं होती | उनमें से अधिकांश, छोटे शहरों से आते हैं, जहाँ का पर्यावरण सही नहीं होता और उन्हें अभ्यास के लिए कोई सुविधा प्रदान नहीं करता |


और सबसे ऊपर, भारतीय एथलीटों को वास्तव में मीडिया और जनता से किसी प्रकार कि मान्यता प्राप्त नहीं है। आप खुद देखिये, Asian Games 2018 चल रहा है, उन राष्ट्रवादियों जो अपनी देशभक्ति को टीवी पर और कैमरे के सामने ही दिखाते है, के अलावा किसी को इन खेलो की परवाह नही है | किसी को इस बात से कोई लेना देना नहीं है कि कौन पदक जीत रहा है और कौन नहीं। चीन में ऐसा नहीं है, और यही कारण है कि वे बहु-खेल आयोजनों में कई देशों की तुलना में अधिक पदक जीतते हैं |

Translated from English by Team Letsdiskuss


4
0

Picture of the author