भारतीय सिनेमा के लोकप्रिय अभिनेता रजनीकांत - LetsDiskuss
LOGO
गेलरी
ब्लॉग बनाएं

भारतीय सिनेमा के लोकप्रिय अभिनेता रजनीकांत

pooja mishra

@ Content writer | | Entertainment

                                     सफलता और सम्मान का सही उदहारण अगर कोई है तो वह है रजनीकांत

बैंगलोर के मराठी परिवार में जन्मे शिवाजी राव गायकवाड़ से थलाईवा बनने तक का सफर आसान नहीं था,वह सिर्फ रजनीकांत नही सुपरस्टार रजनीकांत है| रजनीकांत के खुद के जीवन की कहानी भी वास्तविकता में किसी फिल्म से कम नहीं है वह हमेशा नायको के नायक बने रहे अगर उनके अंदाज़ में बताया जाए तो तो उनकी फिल्म की ये लाइन बिलकुल ठीक साबित होगी "नंबर 1 नं .2 एलाम पापा विलायाट्टू जिसका मतलब है ... मैं सुपर वन हूं"।


रजनीकांत ना केवल एक सुपरस्टार थे, वह अपने करियर में एक स्क्रीन लेखक और प्लेबैक गायक भी बने | अपने जीवन में बस कंडक्टर से लेकर सबसे लोकप्रिय अभिनेता बनने के लिए रजनीकांत ने कड़ी मेहनत की अपने करियर के शुरुआती दौर में रजनीकांत ने अपना अभिनय के शौक को पूरा करने के लिए मंच पर नाटकों का प्रदर्शन भी किया क्योंकि उनकी आध्यात्मिक रूचि की वजह से उन्हें मठ में नाटक करने के प्रस्ताव मिले |

उसके बाद रजनीकांत की रूचि अभिनय की ओर बढ़ने लगी उसके बाद उन्होंने फिल्म स्कूल में दाखिला लिया|





रजनीकांत के सलाहकार बालचंद्रन का कहना है की रजनीकांत को थलाईवा बनने की उपलब्धि उनके महान फिल्मी करियर के साथ साथ इसलिए भी मिली है क्योंकि रजनीकांत को विनम्र प्रकृति, सरल जीवन और उच्च सोच के लिए उनकी सफलता और लोकप्रियता का श्रेय दिया गया है।

यह सिर्फ उनका कौशल अभिनय नहीं है बल्कि उनका अभिनय उनके आस पास के लोगो के इलाज का भी एक तरीका है यही कारण है की तमिलियन लोगो ने रजनीकांत को भागवान का दर्ज़ा सौपा हुआ है |




जब 1 9 75 की सुपर हिट फिल्म अपूर्व रागगंगल में एक छोटी भूमिका के लिए के बालचंदर ने रजनीकांत का चयन किया, तो कोई भी नहीं जानता कि रजनीकांत कि किस्मत ने उसके लिए क्या फैसला किया है।यही बाते रजनीकांत को सबसे अलग और महान कलाकार के रूप में निखारती है |

हाल ही में रिलीज़ रजनीकांत कि फिल्म 2 . 0 में उनके सह अभिनेता अक्षय कुमार ने उन्हें "निर्माता आदमी "कहकर सम्मान किया और बताया रजनीकांत के लिए उनके अनुसार, एक फिल्म का चुनाव करते समय, फिल्म की व्यावसायिकता रजनीकांत के लिए सबसे महत्वपूर्ण मानदंडों में से एक है। (स्रोत: फोर्ब्स)

निदेशक श्रीधर का कहना है कि रजनीकांत अवार्ड से ज्यादा बॉक्स ऑफिस कि परवाह करते है इसलिए वह फिल्म कि कहानी को सही ढंग से पढ़ते है और देखते है कि फिल्म में कॉमेडी, एक्शन,और सांग्स का ख़ास ध्यान रखा गया हो |

इसके साथ साथ जिस तरह से रजनीकांत अपने सह कलाकारो से पेश आते है वह भी काफी सरहानीय है, रजनीकांत ने कभी भी अपने सह कलाकारों को अपना विरोधी या प्रतियोगी नहीं समझा है वह हमेशा ही अपने सह साथी कलाकारों से विनम्रता और शांत स्वभाव से पेश आये है| इससे उनके साथ के कलाकारों को भी लाइट फील होता है और वह उनके साथ आरामदायक तरीके से काम करते है |




रजनीकांत का जलवा ना केवल दक्षिण भारत तक फैला हुआ है बल्कि जापान तक उनके अभिनय के चर्चे है वहां तक उनकी सुपरस्टारडम का जलवा बिखरा हुआ है |

रजनीकांत एकमात्र ऐसे अभिनेता है जिन्होंने चारो प्रारूपों में काम किया है ब्लैक एंड व्हाइट, रंग, 3 डी और मोशन कैप्चर टेक्नोलॉजी।रजनीकांत एकमत ऐसे अभिनेता है जिसकी फिल्म्स सबसे महंगी है ना केवल दक्षिण भरत में बल्कि पूरे भारतीय सिनेमा में |

जैसे रोबोट और 2.0 दोनों उनकी सबसे महंगी भारतीय फिल्में थीं।

व्यक्तिगत के रूप से देखा जाए तो रजनीकांत का जीवन काफी प्रेरणा दायक है, अपनी शुरुआती करियर के दौर में भी रजनीकांत ने कभी अपने निर्माता निर्देशकों को किसी विशेष व्यवहार के लिए परेशान नहीं किया वह केवल उन चीज़ो को पसंद करते है जो सबके लिए हो वही उनके लिए भी हो|


 

उनके सुपरस्टारडम ने कभी भी उन्हें अपनी जड़ों से अलग नहीं किया है क्योंकि वह सबसे सरल तरीकों से कपड़े पहनते है और उनकी ये साधारणता उन्हें औरो से अलग करती है और यहां तक कि वह कभी भी बाहर मेकअप लगा कर नहीं जाते हैं , जिसका अर्थ है कि वह केवल अपनी शूटिंग के लिए मेक-अप रखते है | यही कारण है कि उनके साथी कलकार सिर्फ वृद्ध लोगो का किरदार निभा रहे हैऔर रजनीकांत आज भी लीड रोल में नज़र आते है| इसी के साथ हम जन्मदिन की हार्दिक बधाई देते हुए उनके कुशल जीवन कि कामना करते है |


                                                                          हैप्पी बर्थडे सुपरस्टार रजनीकांत |