दीप कालरा ने कैसे सफलता कैसे प्राप्त की - LetsDiskuss
img
Download LetsDiskuss App

It's Free

LOGO
गेलरी
ब्लॉग बनाएं

दीप कालरा ने कैसे सफलता कैसे प्राप्त की

pooja mishra

@ Content writer | | others

दीप कारला MakeMyTrip कंपनी के CEO के रूप में जाने जाते है , और आज के समय में वह सफल कंपनियों की लिस्ट में सबसे आगे आते है | साल 2000 तक भारत में अगर किसी को भी कही भी घूमने या काम से एक शहर से दूसरे शहर जाने के लिए पहले उसे सफल योजना बनानी पड़ती थी की कब कैसे रेल ,या हवाई यात्रा का टिकट बनवाएं और कैसे कहाँ रुका जायें | लेकिन इन सभी परेशानियों को हल निकालने के लिए दीप कारला ने MakeMyTrip कंपनी को बनाया ताकि घर से ही इंटरनेट के जरिये कोई भी व्यक्ति कभी भी अपने सफर की टिकट कटवा सकता है और अपने रहने का इंतज़ाम भी कर सकता है |


(courtesy-TiE Global Summit)


- दीप कालरा ने साल 1987 में अपनी ग्रेजुएशन की पढाई दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज से पूरी की और उसके बाद वह उन्होनें IIM अहमदाबाद से बिजनेस मैनेजमेंट की डिग्री हासिल की | 


- अपने जीवन में उन्होनें करीब 3 साल तक काम किया और साल 1995 में नौकरी छोड़ दी, लेकिन अपनी पढाई के बाद उन्होनें अपनी पहली नौकरी के लिए बैंकिंग सेक्टर को चुना |


(Courtesy-TiE Global Summit)


- यही वो वक़्त था जब नौकरी छोड़ने के बाद दीप कालरा ने कुछ अलग करने का सोचा और उनके ब्रेक के दौरान उन्हें कई corporate jobs ऑफर आएं लेकिन सब कुछ नकारते हुए उन्होनें इंटरनेट का माध्यम चुना और इंटरनेट की मदद से कुछ ऑनलाइन काम करने का सोचा |



- उसके बाद वह जीवन को चुनौती समझ कर अमेरिका बेस्ड कंपनी एएमएफ बोलिंग में शामिल हो गए और उन्होंने एएमएफ बोलिंग इंक को भारत लाने का काम हाथ में लिया , लेकिन कही न कही उन्हें बहुत सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा और वह अपने इस काम से खुश भी नहीं थे और फिर जैसे तैसे 4 साल निकालने के बाद उन्होनें नौकरी छोड़ दी और कुछ बड़ा करने की चाहत में दीप कारला योजना बना रहे थे और वह एमएफ बोलिंग की तरह अपना बिजनेस स्टार्ट करना चाहते थे , यही वजह थी की उन्होनें अमेरिकी बेस्ड कंपनी से हाथ मिलाया |


(courtesy-Fortune India)


- साल 1999 के दौर में दीप कालरा को इंटरनेट की शक्तियों की पूरी समझ हो चुकी थी , और वह उस वक़्त जेई केपिटल के साथ काम कर रहे थे | यह वही वक़्त था जब भारत जैसे देश में इंटरनेट ने कदम रखा ही था |



- उसके बाद दीप कारला ने भारतीय पर्यटन उद्योग का अध्ययन किया तो देखा कि हमारे देश में ऑनलाइन यात्रा टिकट बुक नहीं होते, और फिर क्या था उन्हें यह समझ आ गया की उन्हें क्या करना है, तब उन्होनें यह ठाना की वह यही कारोबार करेंगे , और फिर साल 2000 में दीप कालरा ने ऑनलाइन टिकट बुकिंग सर्विस शुरू करने के लिए मेकमायट्रिप डॉट कॉम (makemytrip.com) वेबसाइट लॉन्च की। यह एक ऐसी ऑनलाइन ट्रेवल कंपनी है, जिसने यात्रा से जुड़ी समस्याओं का हल निकालने की कोशिश की और इसके माध्यम से सभी लोग अपनी यात्रा की प्लानिंग आसानी से कर सकते है |



हाँ शुरूआती दौर में दीप कालरा को भारत में अच्छा रिस्पांस नहीं मिल रहा था लेकिन, साल 2016 की शुरुआत में उनकी कंपनी ने कामयाबी का नया मुकाम छुआ और आज दीप कालरा को हर एक व्यक्ति एक ईमानदार, मेहनती और सफल बिजनेसमैन के रूप में जानता है |