Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Heena Sehgal

Freelancer | पोस्ट किया | others


सच्चे प्यार को सही अर्थ में कैसे पहचाने

1
0



दोस्तों  मैंने  कभी  सच्चा  प्यार  नहीं  किया  पर  मै यह कह सकती हु आप सभी का कोई न कोई प्यार रहा होगा जिसके बिना आप रह नहीं सकते वो होगा या रहा होगा  तो आज हम उसके बारे में ही बात  करते हैं  की पहला प्यार कैसा होता हैं   और वो होता है या सिर्फ भ्रम ही  होता हैं तो हमे बस कुछ चीजे जाननी हैं जिन्हे जानके हम 
उसके बारे में जान सकते है की हमे प्यार हुआ है और वो सच्चा है

 

 

सच्चे  प्यार को सही अर्थ में कैसे पहचाने

  • पहली चीज ये की हमारे बीच में अंडरस्टैंडिंग जिसे हम आपसी समझ का नाम ले लेते है वो होना जरूरी है!
  • दूसरी चीज उस पर कभी भी शक नहीं करना चाहिए जिससे तुम प्यार करो वो सच्चा ही करो पुरे मैं से उसे अपना बनाओ  
  • अपने प्यार की पहचान सिर्फ इन्ही बातो को लेके की जा सकती है की बिना कहे एक दूसरे की बात समझना और उस पर यदि शक को तो उससे सामने से पूछना और यदि वो तुमसे सच्चा प्यार करता है तो सब कुछ बताएगा नहीं तो फिर बिच में हमेशा खटपट चलती ही रहेगी पर इस बात को साफ़ शब्दों में यदि वो बता देता है उस शक को दूर कर देता है तो वो सच में आपसे प्यार करता है। 
  • हमे उस पर पूरा भरोसा होना चाहिए और यदि भरोसा किसी बात को लेके टूट रहा है तो उसे जल्दी से ख़तम कर देना चाहिए 
  • एक दूसरे का मान सम्मान सबसे ज्यादा जरूरी होता है यदि वो नहीं हैं तो प्यार कभी भी खतम हो सकता है
  • जब एक रूठ जाये तो दूसरा उसे मनाये तभी प्यार का सच्चा अर्थ समझा जाता हैं।
  • जिस प्रकार एक पौधे की मरम्मत उसे पानी देके करते है तभी वह बड़ा होता है और हमे छाया देता है उसी प्रकार प्यार के लिए भी जरूरी है अपने प्यार को मजबूत करने के लीये ाचा एहसास करवाते रहे वो कभी गिफ्ट देके या उसे ाचा खाना खिलाके अपने हाथो से या कभी उसकी देखभाल करके हो सकता है समय समय पर उसे आई लव यू भी कहते रहना चाहिए ताकि उसे बोरियत सी न लगे रोमांस की कमी नहीं लुगनी चाहिए रिश्ते में बस तभी वो रिश्ता मजबूत हो सकता है