खेती की इज़राइली तकनीक जो भारत को सीखनी चाहिए - LetsDiskuss
img
Download LetsDiskuss App

It's Free

LOGO
गेलरी
ब्लॉग बनाएं

खेती की इज़राइली तकनीक जो भारत को सीखनी चाहिए

Sandeep Singh

@ Founder Digitalu | | Science-Technology

भारत एक कृषि प्रधान देश है और आबादी के ज्यादातर लोग प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से इसी क्षेत्र से जुड़े है। हालांकि अभी भारत इस क्षेत्र मे काफी समस्याओ से लड़ रहा है और किसान अभी भी आधुनिक तकनीकों का इतना इस्तेमाल नहीं कर रहे। वही पुराने औजार और बारिश पर निर्भर यह क्षेत्र को इजराइल से सिख लेनी चाहिए जो की एक रेगिस्तानी इलाका है पर कृषि के मामले मे काफी एडवांस्ड है। यहां के किसानो ने कुछ ऐसी तकनीक का विकास किया है जो की अगर भारत के किसान सिख ले तो कृषि क्षेत्र को और कोई समस्याओ का सामना ना करना पड़े।





यहां पर हम ऐसी कुछ तकनीक के बारे मे बात करेंगे की जिस के लिए इजराइल पूरे विश्व मे मशहूर है।


1. हवा से पानी खींचकर सिंचाई: यह हम सब जानते है की हवा मे पानी का भी एक हिस्सा होता है। इजराइल की इस तकनीक के अनुसार हवा मे जो ओस की बुँदे होती है उन्हें एक ख़ास तरह की ट्रे मे जमा किया जाता है और जो पानी इकठ्ठा होता है उस से पौधों को पानी दिया जाता है। इस तकनीक से पानी की जरुरत 50 % हो जाती है। भारत मे कई इलाके ऐसे है जहां कृषि के लिए पर्याप्त पानी की किल्लत होती है और ऐसे इलाको मे अगर इस तकनीक प्रयोग किया जाए तो काफी फायदा हो सकता है।


2. सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल: इस छोटे से देश ने कृषि के क्षेत्र मे ऐसे सॉफ्टवेर बनाये है जो की किसानो को नयी नयी तकनीकों से अवगत कराता है और उन को योग्य मार्गदर्शन देता है जिससे उन की पैदावार बढे और उत्पाद की गुणवत्ता मे भी कोई समाधान ना हो।


3. ड्रीप इरिगेशन: वैसे तो अब समूचे विश्व मे यह तकनीक काफी फ़ैल चुकी है और भारत मे भी कई किसानो ने इस का फायदा उठाना शुरू कर दिया है पर ज्यादातर किसान अभी भी बारिश पर निर्भर है और पानी ना होने से हर मौसम मे फसल नहीं ले सकते। अगर ड्रीप इरिगेशन का इस्तेमाल बढे तो ना सिर्फ कृषि क्षेत्र या किसानो को पर पूरे देश को इसका फ़ायदा मिल सकता है। इस तकनीक के अनुसार पौधों को पानी बूंदो के रूप मे दिया जाता है जिससे उन्हें पर्याप्त पानी भी मिलता है और ज्यादा पानी बर्बाद भी नहीं होता। ऐसे इलाके की जहां पानी की किल्लत है वहां इस तकनीक की मदद से कम पानी मे भी किसान अच्छी फसल ले सकते है।


4. बायो पेस्टीसाइड: इसराइल के वैज्ञानिकों ने ऐसी कीटनाशक दवाई बनाई है जो की पौधों को नुकसान करनेवाले कीटो का सफाया कर देती है पर अच्छे कीटो को नुकसान नहीं करती। इस की वजह से भी उनकी फसल एवं पैदावार मे काफी बढ़ौतरी देखने को मिली है। भारत मे कई राज्यों मे किसानो के लिए कीट ही सबसे बड़ा दुश्मन होती है जिस से फसल को नुक्सान होता है। ऐसी कीटनाशक से किसानो को काफी सहूलियत मिल सकती है।

५। अनाज के बचाव की तकनीक: इजराइल के कृषि निष्णातो ने ऐसा बक्सा बनाया है जिस मे अनाज को रखने से हवा और पानी से वो सुरक्षित बना रहता है। उस मे कीड़े भी नहीं लगते। खराब मौसम मे इस बक्से की मदद से अनाज को बचाया जा सकता है। भारत मे मौसम कभी भी बदलता है और ऐसे बक्से किसानो के लिए आशीर्वाद साबित हो सकते है।