Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


pravesh chuahan,BA journalism & mass comm | पोस्ट किया |


विवादों में घिरे जूम ऐप की शुरुआत से लेकर इसके अंत काल तक का सफर

0
0




 इन दिनों कोरोनावायरस  की खबरें हर जगह छाई रहती है  इन्हीं के बीच अब नई खबर जूम ऐप का विवादों में  रहना है. आपको हमेशा सुर्खियों में जूम एेप की खबरें तो जरूर दिखाई देती होंगी.इस ऐप पर यह आरोप लग रहा है कि इससे निजी जानकारियां यूजर्स की चोरी हो रही हैं जिस वजह से इस ऐप को लेकर कई देश चेतावनी दे रहे हैं अब यह एेप विवादों की वजह से वायरस की तरह ही चर्चा में छाया हुआ है आइए जानते हैं इस ऐप के बारे में आखिर कब इस  ऐप की शुरुआत हुई और कैसे कितने बिलियन तक की संपत्ति खड़ी कर दी.

जूम को प्ले स्टोर पर 5 करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है.प्ले स्टोर पर इस एप को लोग लगातार डाउनलोड कर रहे हैं.हालांकि व्हाट्सएप 5वें नंबर पर चला गया है. 40 करोड़ डाउनलोड के साथ व्हाट्सएप हमेशा टॉप 2 में बना रहता था. जूम उन कंपनियों में से एक है, जिन्हें कोरोना वायरस के कारण सबसे ज्यादा फायदा हुआ है.

 ज़ूम की किसी भी बैठक में शामिल होने के लिए पासवर्ड की आवश्यकता होती है.सितंबर 2015 में, ज़ूम ने सेल्सफोर्स के कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट प्लेटफॉर्म के साथ जूम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के एकीकरण की घोषणा की, जिससे सेल्सपर्सन अपनी बिक्री के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंस की सहायता ले सकते हैं.


प्रारंभ में, ज़ूम 15 वीडियो प्रतिभागियों के साथ सम्मेलनों की मेजबानी कर सकता था. जनवरी 2013 में बढ़कर 25 हो गया, अक्टूबर 2015 में संस्करण 2.5 के साथ 100,और बाद में व्यावसायिक ग्राहकों के लिए 1,000 हो गया. 2015 और 2016 के मध्य के बीच, ज़ूम वीडियो कम्युनिकेशंस ने स्क्य्पे फॉर बिजनेस के समर्थन और स्लैक के साथ एकीकरण की घोषणा की.

जूम 40 मिनट की समय सीमा के साथ, 100 प्रतिभागियों के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग प्रदान करता है.इससे अधिक प्रतिभागियों को अनुमति देने, समय सीमा बढ़ाने, और अधिक उन्नत सुविधाएँ प्राप्त करने के लिए भुगतान पर सदस्यता उपलब्ध हैंहालाँकि ये दावे दुनिया भर के सुरक्षा शोधकर्ताओं द्वारा सत्यापित नहीं किए है. ज़ूम ने अपने उत्पादों के लिए विभिन्न उद्योग मान्यता प्राप्त की है.

कब हुई जूम एेप की स्थापना कैसे हासिल किया मुकाम:-

ज़ूम एेप की स्थापना 2011 में  सिस्को सिस्टम के  एक प्रमुख इंजीनियर एरिक युआन और इसकी सहयोग व्यवसाय इकाई वेबएक्स द्वारा की गई थी यह सेवा जनवरी 2013 में शुरू हुई, और मई 2013 तक इसने एक मिलियन भाग लेने वालो का दावा किया.

जून 2014 तक, जूम के 10 मिलियन उपयोगकर्ता थे. फरवरी 2015 में, ज़ूम वीडियो कम्युनिकेशन के मुख्य उत्पाद, जूम मीटिंग्स का उपयोग करने वाले प्रतिभागियों की संख्या, 40,000 व्यक्तियों तक पहुँच गई, जिसमें 65,000 संगठनों ने सदस्यता ली.कंपनी की स्थापना के बाद से कुल 1 बिलियन मीटिंग मिनट की मेजबान की थी. कंपनी धीरे-धीरे कामयाबी की सीढ़ी चढ़ती ही जा रही थी

इसी दौरान 4 फरवरी, 2015 को, ज़ूम वीडियो कम्युनिकेशंस को सीरीज़ सी फंडिंग में 30 यूएस डॉलर मिलियन मिले.नवंबर 2015 में, रिंगसेंट्रल के पूर्व अध्यक्ष डेविड बर्मन को ज़ूम वीडियो कम्युनिकेशंस अध्यक्ष पद के लिए नामित किया गया था, और वीवा सिस्टम्स के संस्थापक और  सीईओ पीटर गैस्नर, ज़ूम के निदेशक मंडल में शामिल किये. इससे कंपनी में मजबूती भी आई और जल्द ही ऐप बेहतर सुविधाएं लोगों को देने लगा जिस वजह से इस एप की प्रसिद्ध दिनों दिन और बढ़ने लगी

उपलब्धि हासिल करते हुए जनवरी 2017 में, ज़ूम ने आधिकारिक तौर पर यूनिकॉर्न क्लब 1 बिलियन यूएस डॉलर वैल्यूएशन में प्रवेश किया और सीकोइया कटल से एक बिलियन डॉलर वैल्यूएशन पर सीरीज़ डी फंडिंग में100 मिलियन यूएस डॉलर की फंडिंग ली. और यह कमाई करने वाला ऐप के रूप में उभर कर सामने आया

सितंबर 2017 में, ज़ूम ने "ज़ूमटॉपिया 2017" के नाम से,पहला वार्षिक उपयोगकर्ता सम्मेलन आयोजित किया.मार्च 2019 में, ज़ूम को नैस्डैक पर सार्वजनिक करने के लिए दायर किया गया

ऐप  सबसे ज्यादा बुलंदियों पर तब  पहुंचा जब  वायरस के बढ़ते प्रकोप के बाद सभी लोगों को घर में पैक होना पड़ा बाकी किसी आप में एक साथ बहुत से लोगों का वीडियो कॉलिंग में बात करना बिल्कुल भी मुमकिन नहीं था  केवल इसी ऐप के बदौलत ऐसा करना संभव था पूरी दुनिया जहां पर  घर में ही  बंदी बनी हुई थी  इस ऐप ने सब को एक साथ जोड़ दिया  इसकी वजह से  बहुत कम होने लगे  और ऑनलाइन  कामों का प्रचलन बहुत ज्यादा बढ़ गया  यह वह समय था जब इस ऐप ने जबरदस्त  कमाई में भी उछाल हासिल किया और दुनिया में भी अपनी प्रसिद्धि का परिचय दिया रिपोर्ट के मुताबिक 2020 में, ज़ूम के उपयोग में वर्ष की शुरुआत से मार्च के मध्य तक 67% की वृद्धि की जूम ऐप को 343,000 बार डाउनलोड किया गया, जिसमें से लगभग 18% डाउनलोड संयुक्त राज्य अमेरिका में किये गये 2020 के पहले महीने में ज़ूम के उपयोगकर्ताओं की संख्या 2019 के पूरे वर्ष के उपयोगकर्ताओं से अधिक थी.नतीजन, मार्च 2020 तक, ज़ूम के शेयर बढ़कर 160.98 यूएस डॉलर प्रति शेयर हो गए, जिससे शुरुआती एक शेयर की तुलना में अब एक शेयर कीमत में 263% की वृद्धि हुई.कंपनी ने बताया कि दैनिक औसत उपयोगकर्ता कि संख्या दिसंबर 2019 में 10 मिलियन से बढ़कर मार्च 2020 में लगभग 200 मिलियन हो गए. जिस वजह से सबसे ज्यादा इस्तेमाल करने वाला ऐप यह बन गया.

उसके बाद समय आया जब यह ऐप विवादों में घिरा

 जैसे-जैसे इस ऐप की प्रस्तुति बढ़ती जा रही थी वैसे मैसेज ऐप विवादों में गिरता जा रहा था मार्च 2020 में, फेसबुक सहित तीसरे पक्ष को व्यक्तिगत डेटा का अवैध रूप से खुलासा करने के लिए ज़ूम इन यूएस फेडरल कोर्ट में मुकदमा दायर किया गया था.सूट के अनुसार, जूम की गोपनीयता नीति उपयोगकर्ताओं को यह नहीं समझाती है कि इसके ऐप में कोड है जो फेसबुक और संभावित अन्य तीसरे पक्षों को जानकारी का खुलासा करता है.उसी महीने, न्यूयॉर्क स्टेट अटॉर्नी जनरल, लेटिटिया जेम्स ने ज़ूम की गोपनीयता और सुरक्षा प्रथाओं की जांच शुरू की. एफबीआई के अनुसार, छात्रों के आईपी पते, ब्राउज़िंग इतिहास, शैक्षणिक प्रगति, और बायोमेट्रिक डेटा समान शिक्षा सेवाओं के उपयोग के दौरान जोखिम में हो सकते हैं.

इस ऐप पर हमेशा से आरोप लग रहे थे कि  यह निजी जानकारियों  को सुरक्षित करने के लिए बाध्य नहीं है इसकी वजह से लोगो निजी जानकारियां  चोरी हो रही है इसको लेकर गोपनीयता विशेषज्ञ भी चिंतित हैं कि स्कूलों और विश्वविद्यालयों द्वारा ज़ूम का उपयोग छात्रों की अनधिकृत निगरानी और परिवार शैक्षिक अधिकारों और गोपनीयता अधिनियम के तहत छात्रों के अधिकारों के संभावित उल्लंघन के बारे में मुद्दे उठा सकता है. कंपनी का दावा है कि वीडियो सेवाएं फेरपा के अनुरूप हैं, और यह भी दावा करती है कि यह केवल और परिचालन सहायता प्रदान करने के उपयोगकर्ता डेटा एकत्र करता है और संग्रहीत करता है.

विवादों में घिरते देख अप्रैल 2020 में, ज़ूम ने स्वीकार किया कि चीन में स्थित सर्वर के माध्यम से कुछ जूम कॉल को रूट किया जा रहा था. अप्रैल में, न्यूयॉर्क अटॉर्नी जनरल ने ज़ूम के बारे में कई आधिकारिक और स्पष्ट प्रश्न जारी किए हैं.इसके अलावा, अप्रैल 2020 में, द सिटिजन लैब के सुरक्षा शोधकर्ताओं ने एक रिपोर्ट जारी की, जिसमें यह निष्कर्ष निकाला गया कि ज़ूम में महत्वपूर्ण सुरक्षा और एन्क्रिप्शन में कमजोरियाँ हैं. जिस वजह से इसकी प्रसिद्ध दिनोंदिन घटने लगी

जिस वजह से मार्च 2020 में कई गोपनीयता और सुरक्षा चिंताओं के मद्देनजर न्यूयॉर्क स्टेट अटॉर्नी जनरल, लेटिटिया जेम्स ने ज़ूम की गोपनीयता और सुरक्षा के लिए जांच शुरू की इन जांचों के बाद, जूम को न्यूयॉर्क सिटी शिक्षा विभाग के प्लेफ़ॉर्म के साथ सुरक्षा और गोपनीयता के मुद्दों के कारण न्यूयॉर्क सिटी स्कूलों से प्रतिबंधित कर दिया गया था.

भारत में इस ऐप के इस्तेमाल की बात की जाए तो. इस ऐप को इस्तेमाल करते हुए सावधानी बरतनी की चेतावनी दी गई है गृह मंत्रालय ने एक निर्देश जारी कर के सरकारी विभागों को इस ऐप को इस्तेमाल करने के लिए चेतावनी दी है.भारत में इस ऐप का धड़ल्ले से इस्तेमाल हो रहा था. भारत में इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले लोगों की तादाद बहुत अधिक है जिस वजह से भारत में  लॉकडाउन की वजह से इस ऐप को बहुत लोगों ने डाउनलोड किया और इसी के जरिए  अपने काम भी किए, ऑफिस की मीटिंग  और स्कूल कॉलेज ऑनलाइन क्लासेस ले रही थे.मगर अब इस एप पर चेतावनी जारी करने के बाद भारत ने भी इस एप से किनारा कर लिया है.  हाल ही में गृह मंत्रालय ने जूम ऐप को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है.

विवादों में घिरे जूम ऐप की शुरुआत से लेकर इसके अंत काल तक का सफर