राष्ट्रपति चुनाव इलेक्शन 2022 राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार कौन-कौन हैं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


A

Anonymous

| पोस्ट किया |


राष्ट्रपति चुनाव इलेक्शन 2022 राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार कौन-कौन हैं?


0
0




| पोस्ट किया


Letsdiskuss

हम आपको राष्ट्रपति पद के नए उम्मीदवारों के बारे में बताने जा रहे हैं। जैसा कि आपको मालूम है कि राष्ट्रपति चुनाव का बिगुल बज चुका है।

से बड़ी सत्तापक्ष की घटक दल एनडीए है जिसमें भारतीय जनता पार्टी में शामिल है। तो वहीं पर कांग्रेस एनसीपी कुड़मूल कांग्रेस को मिला दे तो एक बड़ा विपक्ष है जो अपना राष्ट्रपति का कैंडिडेट चुनाव मैदान में उतारे हैं।

NDA की उम्मीदवार श्रीमती द्रौपदी मुर्मू



आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 18 जुलाई को राष्ट्रपति के चुनाव के लिए मतदान होगा और 21 जुलाई को भारत के नए राष्ट्रपति का नाम घोषित हो जाएगा। राष्ट्रपति के चुनाव के मैदान में फिलहाल एनडीए के तरफ से झारखंड के पूर्व राज्यपाल और आदिवासी नेता श्रीमती द्रौपदी मुर्मू हैं। आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने बहुत विचार करके श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को अपना प्रत्याशी बनाया है।

विपक्ष ने राष्ट्रपति पद के लिए जाने-माने चेहरा यशवंत सिन्हा को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है। आपको बता दें कि यशवंत सिन्हा भारतीय जनता पार्टी के उच्च और योग नेता रह चुके हैं। वरिष्ठ नेताओं की जिस तरह से पार्टी में अनदेखी हुई उनमें से यशवंत सिन्हा भी रहे हैं। ऐसे में विपक्ष के द्वारा यशवंत सिन्हा को राष्ट्रपति पद प्रिय सशक्त उम्मीदवार खड़ा कर दिया है। हालांकि बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष की तरफ से कई नामों पर असहमति के कारण यशवंत सिन्हा जी को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने में सभी की सहमति हो पाई थी।

भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार श्रीमती द्रौपदी मुर्मू

प्रेसिडेंट के चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने आदिवासी महिला नेता श्रीमती द्रौपदी मुर्मू चुनाव मैदान में उतारा है। आपको बता दें अगर वे राष्ट्रपति का चुनाव जीती है तो पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति भारत की होंगी। NDA की बैठक में 20 नामों में से झारखंड की पूर्व राजपाल श्रीमती द्रौपदी मुर्मू पर मोहर लगी है। आपकी उम्र 61 साल की है।

विपक्षी दल के राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा

एनडीए के अलावा जो दल हैं, वे विपक्षी दल है, जिनमें प्रमुख कांग्रेस तृणमूल कांग्रेस एनसीपी आदि है। इन्होंने सर्वसम्मति से 84 वर्ष यशवंत सिन्हा को राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार चुना है। दोस्तों आपको बता दें कि यशवंत सिन्हा बीजेपी ने दो 2018 तक बड़े नेता के रूप में रहे हैं। अटल बिहारी बाजपेई के कैबिनेट में मंत्री भी रह चुके हैं। बीजेपी से अनदेखी होने के कारण उन्होंने 2018 में भाजपा से इस्तीफा दे दिया था।


0
0

');