स्वाइन फ्लू से बचने के घरेलु उपाय क्या हैं ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Amayra Badoni

Student (Delhi University) | पोस्ट किया |


स्वाइन फ्लू से बचने के घरेलु उपाय क्या हैं ?


0
0




Content Writer | पोस्ट किया


स्वाइन फ्लू एक ऐसी बीमारी है जो बहुत ही तेजी से बढ़ रही है | इस बीमारी ने भारत में भी दस्तक दी और इसका संक्रमण भारत में भी फ़ैल गया | स्वाइन फ्लू का वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान तक बहुत तेज़ी से फ़ैल जाता है | परन्तु यह कोई लाइलाज बीमारी नहीं है | इस बीमारी में थोड़ा सा अपना ख़्याल रखने से आप इस बीमारी से बच सकते हैं और अगर आपको यह फ़्लू है तो आप जल्दी ठीक हो सकते हैं |

स्वाइन फ़्लू के लक्षण :-
- स्वाइन फ़्लू में 100 डिग्री से ज्यादा बुखार आता है , और सांस लेने में तकलीफ महसूस होती है |
- नाक से पानी बेहता है, और इस बीमारी में भूख नहीं लगती |
- गले में जलन और दर्द बना रहता है, सिर में दर्द होता है |
- जोड़ों में सूजन और उल्टी होती है |

स्वाइन फ़्लू से बचने के घरेलु उपाय :-

तुलसी :-
तुलसी आसानी से उपलब्ध होने वाला पौधा है | जो अधिकतर लोगों के घर में होता है | तुलसी में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-वायरस दोनों से लड़ने की भरपूर क्षमता होती है | यह एक गुणकारी और लाभकारी जड़ी-बूटी है | जो बिना किसी परेशानी के आसानी से मिल जाती है | तुलसी का सेवन करने से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है |
ऐसा तो नहीं कहा जा सकता की तुलसी का सेवन पूरी तरह फ़्लू को ख़त्म कर देगा परन्तु हाँ ऐसा निश्चित रूप से हम मान सकते हैं कि स्वाइन फ़्लू जैसे वाइरस से लड़ने में यह आपके शरीर को तैयार जरूर कर देगा | प्रतिदिन 5 तुलसी के पत्ते को सेवन जरूर करें |

Letsdiskuss (Courtesy : healthline.com )

कपूर :-
स्वाइन फ़्लू से बचने का एक आसान और घरेलु उपाय है कपूर का इस्तेमाल | कपूर का सेवन स्वाइन फ्लू से बचाव का बहुत अच्छा तरीका है | कपूर की गोली को पानी में मिला कर उसका सेवन करें | अगर कपूर बच्चों को देना हो तो थोड़ा सा कपूर का पाउडर बनाएं और इसको उबले आलू या केले के साथ मिलकर बच्चों को इससे स्वाइन फ़्लू में आराम मिलेगा | परन्तु इस बात का ध्यान रखें कि कपूर का सेवन प्रतिदिन नहीं करना है | इसका सेवन महीने में एक या दो बार ही करें | इससे आपका शरीर सिर्फ स्वाइन फ़्लू से ही नहीं बल्कि कई बीमारियों से सुरक्षित रहेगा |

(Courtesy : epatrakar.com )

गिलोय :-
गिलोय देश भर में बहुत ज्यादा मिलने वाली एक औषधि है। गिलोय का काढ़ा बनाकर पीने से शरीर में उत्पन्न होने वाले जानलेवा वाइरस ख़त्म हो जाते हैं | इसका सेवन करना आपके शरीर को अंदर से मजबूत बनाता है | गिलोय का काढ़ा बनाने के लिए गिलोय की एक फुट लंबी शाखा को लें और उसमें तुलसी की पांच पत्तियाँ मिलें और उसको पानी में 10 मिनट तक उबलने रख दें | इसको ठंडा होने पर

आप इसमें थोड़ी सी काली मिर्च, मिश्री, सेंधा नमक और काला नमक मिला लें |
गिलोय का सेवन आपको बुखार से बचाता है | गिलोय का सेवन आपको सिर्फ स्वाइन फ़्लू से नहीं बल्कि चिकिनगुनिया जैसी बीमारी से भी बचाता है |

(Courtesy : femina.in )

लहसुन :-
लहसुन का सेवन आपके शरीर के लिए लाभकारी है | लहसुन का एंटी-वॉयरल गुण शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है | इसके लिए प्रतिदिन आपको लहसुन की दो कलियां सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लेना होगा | यह सिर्फ आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता ही नहीं बल्कि आपके डाइजेस्ट सिस्टम को भी ठीक रखता है |

(Courtesy : AajTak )


0
0

Picture of the author