दांतों में होने वाली बीमारी पायरिया को ठीक करने के घरेलु नुस्ख़े क्या हैं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

digital marketer | पोस्ट किया |


दांतों में होने वाली बीमारी पायरिया को ठीक करने के घरेलु नुस्ख़े क्या हैं?


0
0




blogger | पोस्ट किया


आप ईसे निबु से दातुन से सही कर सकते है


0
0

| पोस्ट किया


आप देखते होंगे कि ज्यादातर लोगों को दांतों की समस्या होती रहती है उन्हीं में से एक है पायलिया पायरिया हो जाने के कारण दातों में सूजन हो जाती हैं दांतों में दर्द होने लगता है मसूड़ों से खून निकलने लगता है। ऐसे में हम कई तरह की दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं जो हमारे लिए हानिकारक भी हो सकता है इसलिए हम आपको कुछ घरेलू नुस्खे बताते हैं जिस को आजमा कर आप पायरिया की समस्या से निजात पा सकते हैं।

पायरिया की समस्या के लिए घरेलू उपचार :-

नीम का इस्तेमाल करके आप पायरिया की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं क्योंकि नींद में औषधीय गुण पाए जाते हैं इसके इलाज के लिए नीम की पत्तियों का रस निकालकर मसूड़ों की चारों तरफ लगाकर 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें इसके बाद गुनगुने पानी से कुल्ला कर ले ऐसा रोजाना करने से पायरिया की समस्या जड़ से खत्म हो जाती है।

 आप पायरिया की समस्या से छुटकारा पाने के लिए हल्दी और सरसों के तेल को मिलाकर मसूड़ों में मालिश करने से पायरिया की समस्या से जल्द आराम मिलता है।Letsdiskuss


0
0

student | पोस्ट किया


पायरिया - हम में से अधिकांश इस शब्द के पार नहीं आए हैं, हालांकि बड़ी संख्या में लोग इस समस्या का अनुभव करते हैं। उलझन में? खैर, "पायरिया" एक दंत स्थिति है जो बैक्टीरिया के कारण होती है। सरल शब्दों में, यह मसूड़ों की सूजन है जो ज्यादातर दांतों की जड़ों के आसपास की झिल्ली को प्रभावित करता है। इससे मवाद निकलता है और दांतों का ढीलापन होता है। पीरियोडोंटाइटिस के रूप में भी जाना जाता है, इस बीमारी के सामान्य लक्षणों में ब्रश करते समय खून बहना, मसूढ़ों में दर्द, सांसों की बदबू, खाने के दौरान दर्द और सूजन, लाल या आवर्ती मसूड़े शामिल हैं।
पायरिया का मुख्य कारण जीवाणु पट्टिका का संचय है जो ज्यादातर गरीब मौखिक स्वच्छता के कारण होता है। गलत या जल्दी ब्रश करने, टूथपिक के अनुचित उपयोग, अनुपचारित गम की चोट या खाद्य कणों के ठहराव जैसे अन्य कारण हो सकते हैं। दांतों का स्वास्थ्य बहुत हद तक खाने की आदतों पर भी निर्भर करता है। अतिरिक्त चीनी और अन्य अस्वास्थ्यकर खाद्य पदार्थों का सेवन आपके मुंह में रोगाणु गिनती को बढ़ा सकता है, जिससे पायरिया हो सकता है। कुछ विटामिन या खनिजों की कमी भी ट्रिगर कारकों के रूप में कार्य करती है। अच्छी खबर यह है कि यह एक गंभीर स्थिति नहीं है और नीचे दिए गए कुछ सरल घरेलू उपचारों से इसे आसानी से ठीक किया जा सकता है।

घरेलू उपचार के साथ पायरिया का उपचार:

नींबू का रस:
कच्चे नींबू का रस पायरिया के उपचार में प्रभावी है। आप अपनी उंगलियों पर कुछ नींबू का रस ले सकते हैं और धीरे से अपने मसूड़ों पर मालिश कर सकते हैं। यह आपको शुरुआत में जलन देगा लेकिन अंततः रक्तस्राव को रोक देगा। नियमित रूप से उपयोग निश्चित रूप से आपके मसूड़ों और दांतों की स्थिति में सुधार करेगा।

सरसों का तेल:
अपने मसूड़ों को सरसों के तेल से मालिश करना भी पायरिया के इलाज में कारगर है। अपने दाँत ब्रश करने के बाद, आप कुछ सरसों का तेल ले सकते हैं और इसमें एक चुटकी नमक मिला सकते हैं। इस मिश्रण से अपने तर्जनी की नोक से अपने मसूड़ों की मालिश करें। मसूड़ों में अधिक दर्द होने पर, आप इस मिश्रण में एक कान की कली या कपास की गेंद को भिगोकर धीरे से अपने मसूड़ों की मालिश कर सकते हैं।

अमरूद:
विटामिन सी का एक समृद्ध स्रोत होने के नाते, अमरूद आपके दांतों के लिए एक उत्कृष्ट टॉनिक माना जाता है। एक चुटकी नमक के साथ अंकुरित अमरूद के फलों को चबाना भी पायरिया के लिए एक बेहतरीन घरेलू उपचार है। आप अमरुद के फल की कोमल पत्तियों को भी चबा सकते हैं। इससे आपके दांत स्वस्थ रहेंगे और मसूड़ों से खून आना बंद हो जाएगा।

तिल का तेल:
पायरिया के इलाज में तिल के तेल के साथ गरारे करना भी फायदेमंद होता है। तिल के तेल के साथ अपना मुंह भरें और लगभग 10 मिनट तक दबाए रखें। कुछ सेकंड के लिए अपने मुंह के अंदर तेल को घुमाएं और फिर बाहर थूक दें। यह आपके मसूड़ों को शांत करेगा और मसूड़ों से खून आना बंद कर देगा। यह पायरिया के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचार में से एक है जो अन्य दंत समस्याओं के इलाज में भी प्रभावी है

Letsdiskuss


0
0

Picture of the author