कैलकुलेटर की "MC", "MR", "MS" आदि बटनों के अर्थ और कार्य क्या हैं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


Satindra Chauhan

| पोस्ट किया | शिक्षा


कैलकुलेटर की "MC", "MR", "MS" आदि बटनों के अर्थ और कार्य क्या हैं?


2
0




| पोस्ट किया


अक्सर देखा जाता है कि कैलकुलेटर पर इन मौजूद बटनो को नजरअंदाज कर दिया जाता है लेकिन यह हमारे काफी काम में आती है। अक्सर देखा जाता है कि दुकानदार व्यापारी जब कोई करना करते हैं तो किसी भी नंबर को बार-बार लिखते हैं 123+123+123 बार-बार इन्हीं संख्या को टाइप करना पड़ता है तो ऐसी स्थिति में इन्हीं बटनो की जरूरत होती है।

Ms बटन का प्रयोग हमें किसी भी नंबर को बार-बार टाइप करने के लिए जरूरत पड़ती है तो हम उस नंबर को एक बार टाइप करके एम एस बटन को दबा देंगे तो वह नंबर कैलकुलेटर में सेव हो जाएगा।

Mr बटन का प्रयोग प्रेस करने के लिए सेव किया गया नंबर इन शर्ट जाता है.।

Mc बटन का प्रयोग प्रेस करने से सेव किया हुआ नंबर यदि हट जाएगा तो हम किसी भी नंबर को टाइप करके सेव कर सकते हैं.।Letsdiskuss


1
0


कैलकुलेटर पर मौजूद इन बटनों को हम नजरअंदाज कर देते हैं लेकिन यह बटने हमारी काफी काम की होती हैं खा कर उन लोगों को जिन्हें दुकानदार, व्यापार के लिए कैलकुलेटर का इस्तेमाल करना पड़ता है कई बार कोई बड़ी गणना करते समय हमें एक ही नंबर को बार-बार टाइप करना होता है जैसे 1156+1156 आदि ऐसी स्थिति में बटने हमारे काफी काम आती हैं!

Ms का प्रयोग जिस भी नंबर की बार-बार जरूरत पड़ने वाली तो उसे एक बार लिखकर दबा दे वह नंबर कैलकुलेट में सेव हो जाएगा!

MR का प्रयोग इसे प्रेस करने के लिए सेव किया गया नंबर इन्सर्ट हो हो जाता है!

MC का प्रयोग इसे प्रेस करने से सेव किया हुआ नंबर हट जाएगा और आप अन्य किसी नंबर को सेव कर सकते हैं!Letsdiskuss


1
0

| पोस्ट किया


केलकुलेटर में मौजूद ऐसे कई बटने हैं जिन्हें हम और अधिकतर लोग नजरअंदाज कर देते हैं लेकिन यह बटने हमारी काफी काम आती है खासकर उन लोगों के लिए जिन को अधिक गणना करनी होती है जैसी व्यापारी दुकानदार और छात्रों के लिए भी केलकुलेटर का अधिक इस्तेमाल करना पड़ता है कई बार कोई गणना करते समय हमें एक ही आंख को बार-बार लिखना पड़ता है जैसे 1122+1122 इस शब्द को बार-बार टाइप करना पड़ता है ऐसी स्थिति में यह बटने हमारी काफी मदद करती हैं।

एमएस बटन का प्रयोग जिस भी नंबर कि बार-बार जरूरत पड़ने वाली हो तो उसे एक बार लिखकर एमएस की बटन दबा दें तो वह नंबर सेव हो जाता है और फिर हमें बार-बार उस नंबर को लिखने की जरूरत नहीं पड़ती है।

एमआर इसे प्रेस करने से सेव किया हुआ नंबर इन शर्ट हो जाएगा।

एमसी इसे प्रेस करने से सेव किया हुआ नंबर डिलीट हो जाएगा और आप दूसरा नंबर सेव कर सकते हैं।Letsdiskuss


1
0

');