बच्चों पर मोबाइल के क्या साइड इफ़ेक्ट हैं ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


A

Anonymous

Working (West Delhi Cricket academy) | पोस्ट किया |


बच्चों पर मोबाइल के क्या साइड इफ़ेक्ट हैं ?


2
0




| पोस्ट किया


यदि आपके भी बच्चे कम उम्र में मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं तो आपको भी सावधानी बरतने की जरूरत है क्योंकि मोबाइल फोन इस्तेमाल करने से बच्चों को कई सारे साइड इफेक्ट हो सकते हैं तो चलिए जानते हैं कि बच्चों को मोबाइल फोन से कौन-कौन से साइड इफेक्ट हो सकते हैं।

 यदि आपका बच्चा ज्यादा मोबाइल फोन का इस्तेमाल करता है तो इससे उसकी आंखों के लिए हानिकारक साबित हो सकता है आंखें कमजोर हो जाती हैं, इसके अलावा ज्यादातर बैठकर फोन चलाने से बच्चों के रीट की हड्डियां कमजोर हो जाती है, बच्चों में सुनने की क्षमता कम हो जाती है इस तरह कई सारे साइड इफेक्ट है।Letsdiskuss


1
0

Content Writer | पोस्ट किया


आज के समय में बिना फ़ोन के किसी का काम नहीं चलता | वहीं दूसरी तरफ फ़ोन के नुक्सान ने मानव जाति को परेशानी में डाल दिया है | बड़े तो बड़े बच्चे भी मोबाइल की आदत में हैं | बच्चों पर मोबाइल के कुछ साइड इफ़ेक्ट है जिनके बारें में आपको बताते हैं |

- दिमाग का विकास -
दो साल के बच्चे का दिमाग आकार में लगभग तीन गुना तक हो सकता है, और 21 साल का होने पर उस बच्चे में शारारिक बदलाव भी आते हैं | बच्चे के दिमाग का शुरुआती विकास किस प्रकार हो रहा है यह उसके Environmental Stimuli पर निर्भर करता है | बच्चा अगर बचपन से ही मोबाइल की आदत में पड़ा होगा तो उसका दिमाग सिर्फ उस फ़ोन के फंक्शन तक ही सिमित रह जाएगा |
इससे बच्चे के अंदर कई सारी कमी आ सकती है, जैसे ध्यान न लगना, भोजन ठीक से न करना, आंखें खराब होना, |

Letsdiskuss (Courtesy : ShabdBeej )

- मोटापा बढ़ना :-
जिन बच्चों को मोबाइल की आदत हो जाति है, वो बच्चे अक्सर अपने रूम से बाहर जाना पसंद नहीं करते | वो सिर्फ अपने फ़ोन के साथ बैठे रहते हैं | उन में कोई भी प्राकर्तिक गतिविधि नहीं होती, जैसे वो खेलना पसंद करते तो हैं पर फ़ोन पर न की बाहर जाकर | ऐसे बच्चे अक्सर अपने वजन बढ़ने और मोटे होने का शिकार बनते हैं |

- नींद की कमी :-
जिन बच्चों को मोबाइल की आदत लगी होती है, उन बच्चों में अक्सर नींद की कमी पाई गई है | लगभग 60 प्रतिशत माता-पिता अपने बच्चों को मोबाइल का इस्तेमाल करने से नहीं रोकते , और लगभग 75 प्रतिशत बच्चों को उनके बैडरूम में मोबाइल इस्तेमाल करने की छूट मिली होती है | इससे बच्चे फ़ोन पर ही लगे रहते हैं और समय पर सोते हैं | जिसके कारण बच्चे मानसिक तौर पर कमजोर होते हैं |

(Courtesy : ZED Times )


1
0

| पोस्ट किया


दोस्तों  वर्तमान समय में बच्चें मोबाइल का ज्यादा उपयोग करते है पर क्या आप जानते है कि  बच्चों पर मोबाइल के क्या साइड इफेक्ट पड़ता है। तों चलिये हम आपको बताते है। वर्तमान समय में  1 वर्ष  से 2 वर्ष तक के बच्चों में स्मार्टफोन चलाने की बढ़ोतरी हुई है मोबाइल का ज्यादा उपयोग करने से बच्चों के आँखों को नुकसान पहुँचता है जिसे बच्चों को जल्द चश्मा लगने लगता है। बच्चे जब स्मार्टफोन चलाते समय बहुत कम पलकें झपकाते है जिसे बच्चों को आँखों में जलन होने लगती है।  और बहुत से साइड इफेक्ट पड़ते है बच्चों के मोबाइल चलाने से। इसीलिए माता पिता को ध्यान देना चाहिए कि बच्चें कम से कम मोबाइल का उपयोग करें।

Letsdiskuss

 


1
0

Occupation | पोस्ट किया


बच्चो पर मोबाइल चलाने के बहुत से साइड इफ़ेक्ट देखने को मिलते है -

•रिसर्च के मुताबिक पता चला है कि 50 से अधिक मोबाइल चलाने के कारण बच्चो के रीढ़ की हड्डी मे दर्द होता है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ज़ब बच्चे मोबाइल चलाते है तो लेटकर या फिर झुककर मोबाइल चलाते है जिस कारण से रीढ़ की हड्डी मे दर्द होने लगता है।

•बच्चे ज्यादा देर तक मोबाइल चलाते है तो मोबाइल ब्राइटनेस के कारण उनके आँखों मे रौशनी पड़ती है जिस कारण से उनकी आँखों मे कम दिखायी देने लगता है जिस कारण से उन्हें कम उम्र चश्मा लग जाता है।Letsdiskuss


1
0

Preetipatelpreetipatel1050@gmail.com | पोस्ट किया


आज छोटे-छोटे बच्चे भी मोबाइल का उपयोग बहुत अधिक करते हैं जिससे उनकी आंखें कमजोर होती हैं। क्योंकि,मोबाइल से निकलने वाले रेडिएशन बच्चों के दिमाग को कमजोर बनाते हैं जिससे उनकी सोचने समझने की प्रवृत्ति कम हो जाती है। बच्चों के अधिक देर तक मोबाइल चलाने से बच्चों में मोटापा भी बढ़ जाता है। कई कई बच्चे तो देर रात तक फोन का उपयोग करते हैं जिससे उनके नींद में भी कमी आती है और उनको चिड़चिड़ापन होने लगताा है।Letsdiskuss


0
0

Picture of the author