लाहौल विला कूवत का क्या मतलब होता है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

Optician | पोस्ट किया |


लाहौल विला कूवत का क्या मतलब होता है ?

0
0



| पोस्ट किया


Letsdiskuss

"लाहौल विला कूवत" का अर्थ यह होता है कि अल्लाह से बढ़कर कोई नहीं। अगर कोई भी गलत काम करता है तो कहा जाता है कि कम से कम अल्लाह से तो डरिए।
 जितना सामर्थ अल्लाह के या ईश्वर के अंदर है उतना सामर्थ किसी में नहीं है इसका अर्थ यह है कि अल्लाह से जितना ताकतवर कोई नहीं है वह सब जानता है चाहे हम जो भी करें उस तक सारी खबर पहुंच जाती है इसलिए अल्लाह से बड़ा शक्तिमान कोई नहीं है। इसके द्वारा ईश्वर की प्रशंसा की नहीं है और यह कुरान के हदीस में वर्णित है। दरअसल यह वाक्यांश पूरा नहीं है इसे अरबी भाषा में पूर्ण रूप से "ला हौल वा ला कुव्वता इल्ला बी अल्लाह" कहा जाता है। इसका इस्तेमाल अक्सर ऐसी जगह पर क्या रहता है जहां पर कोई चीज बिगड़ जाती है जैसे कि कोई बनी बनाई बात बिगड़ जाती है क्या किसी की शानदार चीजों पर कोई गलत असर पड़ता है। 
जो होना होता है वही होता है जो अल्लाह चाहेगा वही होगा। कहते हैं ईश्वर के बिना एक पत्ता भी नहीं हिलता। जब कोई काम बिगड़ जाता है या कोई परिस्थिति खराब हो जाती है तो हम सोचते हैं कि यह कैसे हो गया लेकिन होता वही है जो अल्लाह चाहता है तो इन शब्दों का प्रयोग ऐसी परिस्थितियों को मद्दे नजर रखते हुए किया जाता है। 
लेकिन अब इन चीजों का मतलब काफी बदल गया है लोग इन चीजों को गलत तरीके से इस्तेमाल करने लगे हैं क्योंकि अब जमाना अंग्रेजी वाला हो गया है इसलिए अब शब्दों में भी काफी परिवर्तन हो गया है और लोगों ने काफी परिवर्तन कर दिया है।
इस्लाम धर्म में अपने ईश्वर के प्रति अपने भाव को व्यक्त करने के लिए ऐसे शब्दों का प्रयोग होता है क्योंकि अल्लाह को मानने वाले अल्लाह को सबसे शक्तिमान मानते हैं जितना सा मर्थ्य में है उतना किसी ने भी नहीं है ऐसा तात्पर्य है।


0
0

student | पोस्ट किया


शानदार वाक्यांश l hawla wa lā quwwata illā bi Allāh हदीस (मुहम्मद की बातें) में कई बार उल्लेख किया जाता है और पैगंबर मुहम्मद द्वारा अत्यधिक माना जाता है और अत्यधिक अनुशंसित है। वाक्यांश कई मुसलमानों के लिए दैनिक प्रार्थना का एक हिस्सा है, और समारोह और dhikr (zikr) में एक आम वाक्यांश है।
यह असामान्य नहीं है कि वाक्यांश lā hawla wa lā quwwata illā bi Allāh का अनुवाद केवल उसी तरह किया जाता है जैसे अल्ला के माध्यम से कोई शक्ति या शक्ति नहीं है। हालाँकि यह अनुवाद इस शानदार वाक्यांश की भव्यता और गहरे महत्व को पकड़ने में विफल है।
हवाला शब्द का अनुवाद केवल शक्ति के रूप में करना एक अति-सरलीकरण है। अरबी जड़ h-w-l में सभी प्रकार के परिवर्तन और परिवर्तन को दर्शाया गया है। रूट एच-डब्ल्यू-एल ने विभिन्न प्रकार के शब्दों को जन्म दिया है, लेकिन वे सभी परिवर्तन और परिवर्तन के इस सामान्य धागे को साझा करते हैं। निश्चित रूप से यह सच है कि परिवर्तन और परिवर्तन के लिए शक्ति की आवश्यकता होती है, लेकिन अकेले शक्ति पर्याप्त अनुवाद नहीं है .... परिवर्तन और परिवर्तन इस शानदार वाक्यांश की कुंजी हैं।

वाक्यांश को शब्द-दर-शब्द के रूप में अनुवादित किया जा सकता है:
lā = नहीं, नहीं, कोई नहीं, न ही
हवाला = परिवर्तन, परिवर्तन, परिवर्तन, गति, गति
वा = और
lā = नहीं, नहीं, कोई नहीं, न ही
quwwata = शक्ति, शक्ति, सामर्थ्य, बल, पराक्रम, शक्ति
इलहा = लेकिन, सिवाय अगर नहीं
bi = with, to, to, in, through, by साधन
अल्लाह = सर्वोच्च होने के लिए अरबी नाम
 
प्रगति केवल परिवर्तन और परिवर्तन के माध्यम से प्राप्त की जाती है ... और आध्यात्मिक प्रगति के लिए परिवर्तन और परिवर्तन की उच्चतम डिग्री की आवश्यकता होती है। हम बदलाव की इच्छा कर सकते हैं, लेकिन हम अकेले ऐसे परिवर्तन करने की शक्ति नहीं रखते हैं।
इस तरह का परिवर्तन और परिवर्तन केवल अल्लाह के ताहिल (परिवर्तन) के माध्यम से हो सकता है। कहने का तात्पर्य यह है कि, सच्चा परिवर्तन और परिवर्तन अल्लाह की भयानक और शानदार शक्तियों के माध्यम से ही उत्पन्न हो सकता है।
यहाँ वाक्यांश के कुछ शाब्दिक अनुवाद हैं l हवाला वा lā quwwata illā billāh जो परिवर्तन और परिवर्तन के विचार को शामिल करते हैं:
 
अल्लाह के पास के सिवाय न तो कोई बदलाव है और न ही सत्ता।
अल्लाह के अलावा कोई परिवर्तन या ताकत नहीं है।
अल्लाह के अलावा न तो प्रगति है और न ही हो सकती है।

ये मुसलमानो के अपने विचार है इस विचार से हमारा दूर दूर तक कोई लेना देना नहीं है !

Letsdiskuss


0
0

Picture of the author