मनोविज्ञान क्या है? - Letsdiskuss
img
Download LetsDiskuss App

It's Free

LOGO
गेलरी
प्रश्न पूछे

Medha Kapoor

B.A. (Journalism & Mass Communication) | पोस्ट किया 11 Jul, 2019 |

मनोविज्ञान क्या है?

pooja mishra

Content writer | पोस्ट किया 11 Jul, 2019

साइकोलॉजी ग्रीक भाषा के दो शब्दों ‘साइको’ अर्थात् आत्मा तथा लोगोस अर्थात् विज्ञान से मिल कर बनाया गया है | जिसे आधुनिक परिवेश में मनोविज्ञान के नाम से भी जाना जाता है। अगर साधारण शब्दों में समझाऊ तो आत्मा एवं मन का विज्ञान को मनोविज्ञान कहा गया है |


courtesy-Australian Psychological Society

जिसमें व्यावहारिक और गहन चिंता का विषय है, जिसके द्वारा आप हर उम्र के व्यक्ति के मन की बात सहजता से जान सकते हैं। आज की तनाव भरी, तेज रफ्तार एवं प्रतिस्पर्धायुक्त जिन्दगी में इन्सान जहां हंसना-खेलना तक भूल गया है, और डिप्रेशन एवं आत्महत्या जैसे कदम उठाने में भी नहीं हिचकिचाता, ऐसे में मनोविज्ञान उसके लिये किसी वरदान से कम नहीं है। जब किसी भी व्यक्ति को आम आदतों से जूझना पड़ता है और रोज़ाना के काम परेशानी बन जाते है ऐसे में मनोविज्ञान या मनोचिकित्षक काम आता है |
यहाँ तक की मनोविज्ञान के अनुसार मनुष्य के दिमाग मे 24 घण्टे हलचल रहती है। दिमाग किसी न किसी काम मे, सोच मे या किसी सपने को बुनने मे निरंतर लगा रहता है और जब इन सब चीजों के बीच हमारे दिमाग मे अशांति पैदा होती है और हम खुद की सोच पर काबू नहीं कर पातें ता यह अशांति झगड़े की वजह बनती है।
मनोचिकित्सक के अनुसार तनाव का लोगो पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है । तनाव के कारण लोग या तो खुद को नुकसान पहुचाते है, या तो दूसरों को नुकसान पहुचाने की कोशिश करते है ।
मनोविज्ञान इस बात का भी दावा करता है की Observation या टीवी देखने से भी छोटी छोटी सी बातो को लेकर लड़ने की प्रव्रत्ति लोगो मे आती है । और तो और अपनी बात साबित करने के लिए भी लोग लड़ पड़ते है ।