सीनियर सिटीजन एक्ट क्या है - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


Sumil Yadav

| पोस्ट किया |


सीनियर सिटीजन एक्ट क्या है


14
0




Blogger | पोस्ट किया


बुजुर्गो के अधिकारों के लिए भी कानून बनाये गये हैं, ऐसा ही एक कानून है -सीनियर सिटीज़न एक्ट 2007 ।यह एक्ट बुजुर्गो के अधिकारों की रक्षा करता है और उन्हे पावर फूल बनाता है। देश मे बुजुर्गो की आबादी बड़ रही है, और उन पर अत्याचार भी बढ़ रहा है । वर्तमान मे 13.8 करोड़ बुजुर्ग है। उन्हे कई तरह की सुविधा दी जा रही हैं तथा यायोजनाएं चलाई जा रही है। इस एक्ट मे 60 साल या उससे अधिक उम्र के लोग आते है और जरूरत पड़ने पर वह इस अधिकार का उपयोग कर सकते है। क्या है सीनियर सिटीजन एक्ट :- आमतौर पर बुढे होने पर माँ- बापअपनी संपति बच्चों के नाम कर देते है की बुढ़ापे में बच्चे उनकी देखभाल करेगे, उनका ख्याल रखेगे । अगर बच्चे ऐसा नही करते है तो सीनियर सिटीजन एक्ट का इस्तेमाल किया जा सकता है इस नियम को 2007 मे लागू किया गया था। इसे वरिष्ठ नागरिक अधिनियमभी कहते है।

Letsdiskuss

और पढ़े- किस दिन वल्ड सीनियर सिटीजन डे मनाया जाता है?


8
0

| पोस्ट किया


बुजुर्ग अपनी सम्पत्ति और प्रॉपर्टी बच्चों के नाम कर देते है और आपने बच्चों से उम्मीद करते हैं कि वो उनकी देखभाल करेंगे, लेकिन बच्चे बुजुर्गो को बुनियादी सुविधाएं नहीं दे पाते है उनकी जरूरतें पूरी कर पाते है।यदि वह ऐसा नहीं करते हैं तो बुजुर्गो सीनियर सिटीजन एक्ट का इस्तेमाल कर सकते है बुजुर्गों के साथ ऐसे मामलों को रोकने और उनके भरण-पोषण के लिए 2007 में सीनियर सिटीजन एक्ट लागू किया गया था।सीनियर सिटीजन एक्ट के माध्यम से बुजुर्गो को आर्थिक रूप से मजबूती, मेडिकल सिक्योरिटी दी जाएगी और जरूरी खर्च भी दिया जाएंगे।

यदि किसी बुजुर्ग की संतान नहीं है तो वो भी मेंटीनेंस के लिए दावा कर सकते हैं, यदि उनकी सम्पत्ति रिश्तेदार के नाम पर है तो बुजुर्ग की देखभाल के लिए रिश्तेदारो पर दावा किया जाएगा। यदि उनके नाम पर बुजुर्ग अपनी सम्पति कर देते है फिर भी वह लोग उनकी देखभाल अच्छे से नहीं करते है, तो उन पर बुजुर्ग लोग सीनियर सिटीजन एक्ट की मदद ले सकते है।Letsdiskuss


8
0

| पोस्ट किया


दोस्तों अपने सीनियर सिटीजन एक्ट के बारे में तो सुना ही होगा पर यदि आप सीनियर सिटीजन एक्ट को नहीं जानते तो चलिए आज इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे सीनियर सिटीजन एक्ट बुजुर्ग लोगों के लिए बनाया गया है यानी ऐसे लोग जो स्टार्ट साल की उम्र पार कर चुके हैं और वृद्ध हो चुके हैं
जब माता-पिता अपने सारी प्रॉपर्टी अपने बच्चों के नाम कर देते हैं तो वह सोचते हैं कि बच्चे उनकी देखभाल अच्छे से करेंगे और उनकी सारी जरूर का ध्यान रखेंगे लेकिन वह ऐसा नहीं करते हैं तो ऐसे में सीनियर सिटीजन एक्ट का उपयोग बुजुर्गों के साथ ऐसे मामलों को रोकने के लिए किया जाता है।

सीनियर सिटीजन एक्ट के तहत बुजुर्गों की आर्थिक स्थिति की मजबूती, मेडिकल सिक्योरिटी होने वाले जरूरी खर्च और प्रोटेक्शन दिया जाता है। सीनियर सिटीजन एक्ट की शुरुआत 2007 में की गई थी।

Letsdiskuss


8
0

| पोस्ट किया


दोस्तों आपने सीनियर सिटीजन एक्ट के बारे में तो सुना ही होगा अगर आप सीनियर सिटीजन एक्ट के बारे में नहीं जानते हैं आज हम आपको बताते क्या है सीनियर सिटीजन एक्ट बुजुर्गों के अधिकार के लिए कानून भी बनाया गयाहैं सीनियर सिटीजन एक्ट 2007 बुजुर्गों की अधिकारों की रक्षा करता है आज वर्ल्ड सीनियर सिटीजंस डे है देश में बुजुर्गों की आबादी बढ़ रही है वर्तमान देश में 13.8 कल करोड़ बुजुर्ग हैं और उन्हें पावरफुल बनता है जिनकी उम्र 60 साल या उससे अधिक है तो सीनियर सिटीजन एक्ट में दायरे मैं आते हैं यानी जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल करते हैं आमतौर पर बुजुर्ग अपनी संपत्ति और प्रॉपर्टी बच्चों के नाम ट्रांसफर कर देता है बुजुर्गों के साथ ऐसे मामले रोकने और उनका भरण पोषण करना चाहिए उन्हें आर्थिक रूप में मजबूती और मेडिकल सिक्योरिटी जरूरी खर्च और प्रोजेक्ट्स देने के लिए कानून लाया गया हैjLetsdiskuss


7
0

| पोस्ट किया


सीनियर सिटीजन एक्ट क्या होता है चलिए हम आपको इस आर्टिकल में बताते हैं बुजुर्गों के अधिकारों के लिए भी कानून बनाए गए हैं उन्हें में से एक कानून है सीनियर सिटीजन एक्ट 2007 जिसमें बुजुर्गों के अधिकारों की रक्षा की जाती है और बुजुर्गों को पावरफुल बनाता है,जनसंख्या की दृष्टि से देखा जाए तो वर्तमान समय में हमारे देश में बुजुर्गों की संख्या बढ़ती जा रही है गणना के मुताबिक पता चला है कि पूरे देश में बुजुर्गों की संख्या 13.8 करोड़ है, बुजुर्गों को कई तरह की सुविधा भी दी जा रही हैं जिन लोगों की उम्र 60 साल या उससे अधिक है वह सीनियर सिटीजन एक्ट के दायरे में आते हैं यानी की जरूरत पड़ने पर सीनियर सिटीजन एक्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं। सीनियर सिटीजन एक्ट के तहत यदि कोई बेटा या बाहु अपने माता-पिता का ख्याल नहीं रखता है और उन्हें दुख देता है तो इसके तहत माता-पिता उसके ऊपर केस कर सकते हैं।Letsdiskuss


6
0

| पोस्ट किया


सीनियर सिटीजन एक्ट आम तौर पर बूढ़े लोगों पर निर्भर है यह बुजुर्गों के अधिकारों के लिए भी कानून बनाया गया है जिसे हम सीनियर सिटीजन एक्ट के नाम से भी जानते हैं सीनियर सिटीजन एक्ट 2007 बुजुर्गों के अधिकारों की रक्षा करता है देश में बुजुर्गों की आबादी बढ़ रही है वर्तमान में 13.8 लाख करोड़ बुजुर्ग हैं उन्हें पावरफुल बनता है उनकी उम्र 60 सालिया उससे अधिक है तो सीनियर सिटीजन एक्ट के तहत बुजुर्गों की आर्थिक स्थिति की मजबूती मेडिकल सिक्योरिटी होने वाले जरूरी खर्च और प्रोटेक्शन दिया जाता है सीनियर सिटीजन की शुरुआत बहुत पहले ही हो चुकी थी तथा यह एक्ट जारी हो चुका था सीनियर सिटीजन एक्ट आम तौर पर बूढ़े लोगों पर निर्भर है सीनियर सिटीजन एक्ट का इस्तेमाल किया जाता है यह ऐसे उपयोग बुजुर्गों के ऊपर होने वाले अत्याचार से रोकने के लिएLetsdiskuss


6
0

');