BIS की फुल फॉर्म क्या है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Rohit Valiyan

Cashier ( Kotak Mahindra Bank ) | पोस्ट किया |


BIS की फुल फॉर्म क्या है?


0
0




| पोस्ट किया


BSI का पूरा नाम ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स है और बीएसआई को हिंदी में भारतीय मानक ब्यूरो कहते हैं।BSI एक भारतीय ब्यूरो हॉल मार्क होता है इस हॉल मार्क को हमारे भारतीय बहुमूल्य धातुओं पर मोहर द्वारा लगाई जाती है।जब भी आप कभी सोना चांदी खरीदने जाते हैं तो इसकी शुद्धता की पहचान करने के लिए इसमें मोहर लगाया जाता है ताकि इसके द्वारा हम पता लगा सके कि धातु कितना प्रतिशत शुद्ध है और कितना प्रतिशत अशुद्ध है इसलिए मोहर लगाना बहुत ही जरूरी होता है हर देशों में अलग-अलग तरीके से हॉल मार्क  लगाया जाता है। धातु में हॉल मार्किंग की सुविधा सदियों से चली आ रही है।Letsdiskuss


0
0

Blogger | पोस्ट किया


BIS Full Form in Hindi - बीआईएस क्या होता है

BIS की फुल फॉर्म Bureau Of Indian Standards होती है. इसको हिंदी मे भारतीय मानक ब्यूरो कहते है. BIS एक भारतीय मानक ब्यूरो हॉलमार्क है जोकि बहुमूल्य धातुओ पर मोहर द्वारा लगाया जाता है जैसे कि Platinum, Gold, Silver इत्यादि. बहुमूल्य धातुओं मे मिलावट को रोकने के लिए इसका उपयोग किया जाता है ताकि जिससे सभी बहुमूल्य धातुएं ज्यादा से ज्यादा शुद्ध होने का प्रमाण पा सके. दोस्तों हम आशा करते है आपको BIS की Full Form मालूम हो गई होगी तो चलिए अब इसके बारे और भी सामान्य जानकारी प्राप्त करते है.

BIS चिन्ह सभी धातुओं पर एक Code के रूप मे लगाया जाता है ताकि यह पता चल सके कि इसमे कितना भाग शुद्ध धातु का है और इसमे कितनी मिलावट है. भारत में Gold को 22 Carat मे मापा जाता है और इसके ऊपर यह अंक लगाया जाता है जैसे कि 966 तो इसका मतलब यह हुआ कि इसमे 96.6% Pure Gold है. इसी तरह अलग अलग Percent के लिए अलग-अलग अंक लगाए जाते है.किसी भी धातु पर Hall Marking की यह सुविधा बहुत पुरानी है. दोस्तों यह अलग अलग देशों मे अलग अलग तरह के Hallmark किए जाते है जिससे कि उस्तादो के गुणवत्ता को मापा जा सके.




0
0

Picture of the author