भारतीय शिक्षा-प्रणाली को सार्थक बनाने के लिए डॉ.साराभाई ने क्या सुझाव दिए? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


asha hiremath

| पोस्ट किया | शिक्षा


भारतीय शिक्षा-प्रणाली को सार्थक बनाने के लिए डॉ.साराभाई ने क्या सुझाव दिए?


0
0




| पोस्ट किया


डॉ.साराभाई  का जन्म गुजरात राज्य के अहमदाबाद में सन 1919 ईस्वी में हुआ था | उनके

पिता का नाम अंबालाल साराभाई था | जो अपने युग के एक प्रमुख उद्योगपति माने जाते थे |

रचनात्मक शिक्षा पर बल देने वाले इस पिता द्वारा स्थापित विद्यालय में ही डॉक्टर विक्रम

साराभाई की आरंभिक शिक्षा हुई | मैट्रिक करने के बाद उच्च शिक्षा पाने इंग्लैंड चले गए, 1947

 ईस्वी में कैंब्रिज से डाक्टरेट प्राप्त की । उन्होंने यह अनुसंधान कार्य ‘कॉस्मिक किरणें विषय

पर किया था | भारत में अंतरिक्ष अनुसंधान का कार्यारम्भ  डॉक्टर विक्रम साराभाई की

क्रियाशीलता का ही परिणाम माना जाता है।

भारतीय शिक्षा प्रणालीः

भारतीय शिक्षा प्रणाली को सार्थक बनाने के लिए डॉक्टर साराभाई के सुझावः

  • शिक्षा का आधार प्रयोग एवं अनुभव होना चाहिए।
  • गांधी जी के बताए बुनियादी शिक्षा को अपनाया जाए।
  • पारस्परिक सहयोग - वृत्ति को बढ़ावा दिया जाए।
  • सहकारी एवं संयुक्त प्रयोगशाला में स्थापित कर प्रयोग में लाई जाएं।
  • Letsdiskuss


0
0

Picture of the author