महाशिवरात्रि साल 2020 में कब मनाई जा रही है ? - Letsdiskuss
img
Download LetsDiskuss App

It's Free

LOGO
गेलरी
प्रश्न पूछे

अज्ञात

पोस्ट किया 27 Jan, 2020 |

महाशिवरात्रि साल 2020 में कब मनाई जा रही है ?

Kapil Mishra

Content Writer | | अपडेटेड 08 Feb, 2020

Maha Shivratri 2020 : 21 फरवरी साल 2020 को बड़े ही आस्था के साथ महाशिवरात्रि २०२० मनाई जाएगी. इस दिन भक्त अपने परमात्मा के लिए व्रत रखते हैं तथा कथा करते हैं. महाशिवरात्रि की सुबह से ही भक्त गणों की मंदिरों में आवाजाही शुरु हो जाती है. शिव भक्त सुबह से ही मंंदिरों में भोलेनाथ को बेलपत्र चढाने के साथ ही उनकी पूजा भी करते हैं. 


(सोर्स- लोकमत न्यूज)


ऐसा माना जा रहा है कि इस शिवरात्रि 117 साल बाद दुर्लभ योग बन रहे हैं जिसका सीधा असर मीन और मकर राशि पर पड़ेगा. कहा जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन भोलेनाथ की पूजा करने से सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. भोलेनाथ अपने भक्तों की भक्ति से प्रसन्न होकर उन्हें मनाचाहा वरदान देते हैं. 



Zyan Malik

Blogger | पोस्ट किया 05 Feb, 2020

Maha Shivratri 2020 Date: हिन्दू धर्म में महाशिवरात्रि को बहुत बड़ा पूजा माना जाता है। इस दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है। शिवरात्रि का पूरा दिन व्रत किया जाता है, शिव जी की पूजा अर्चना की जाती है। ऐसा कहा जाता हैं कि जो भी इस दिन शिव की पूजा अर्चना करता हैं उसकी सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। इस साल महाशिवरात्रि 21 फरवरी 2020 को मनाई जा रही हैं। आईये जानते इसका महत्व और पूजा करने का सही समय-

महाशिवरात्रि 2020 समय और शुभ मुहूर्त (Maha Shivratri 2020 Date, Time, Shubh Muhurat)

महाशिवरात्रि इस साल शुक्रवार, 21 फरवरी 2020 को मनाया जा रहा है। महाशिवरात्रि के दिन महादेव और माता पार्वती की पूजा शुभ काल के दौरान करनी चाहिए तभी इसका फल मिलता है। बता दें, महाशिवरात्रि पर रात्रि में चार बार शिव पूजन की परंपरा है।


Pandit Ayush

Blogger | पोस्ट किया 27 Jan, 2020

शिव , जिन्हें कई नाम से जाना जाता है ,बाबा भोलेनाथ, शिवशंकर,शिवशम्भू, शिवजी, नीलकंठ, रूद्र , कई सारे नाम है भगवान शिव के और हिन्दू धर्म में सभी देवी-देवताओं में सबसे श्रेष्ठ भगवान शिव शंकर को माना जाता है । भगवान शिव जिन्हें देवों के देव महादेव कहा जाता है, देवता ही नहीं बल्की असुर भी भगवान शिव के उपासक रहे हैं। अगर आज हम हिन्दू धर्म को मानने वाले लोगों में देखें तो शिव के उपासक ज्यादा हैं।


(इमेज-यूट्यूब)  


भगवान शिव के उपासक इसलिए अधिक हैं क्योकिं भगवान शिव सरल और सलिल स्वाभाव के हैं । जैसे भगवान शिव समझने में सरल हैं ऐसे ही इनकी पूजा विधि भी सरल है। मान्यता कहती है कि शिव को सच्चे मन से याद करने से ही शिव अपने भक्तों पर प्रसन्न हो जाते हैं इनकी पूजा में किसी प्रकार की किसी दिखावे की जरूरत नहीं होती। भगवान शिव को केवल जलाभिषेक, बेलपत्ती और सच्चे मन से इनका आवाहन ही बहुत है।


हिन्दू धर्म में सप्ताह के पहले दिन यानी कि सोमवार को शिव की आराधना का दिन माना जाता है। जिसमें हर सोमवार पूजा और अर्चना की जाती है और कुछ लोग व्रत भी लेते हैं , परन्तु साल में आने वाली एक शिवरात्रि का बहुत ही अधिक महत्व माना जाता है । यह एक ऐसा मुख्य पर्व है, जिसे बहुत बड़े रूप में रुप में पूरे देश भर में मनाया जाता है । शिवरात्रि साल में दो बार आती है। एक तो फाल्गुन के महीने में कृष्णा पक्ष में आती है जिसको महाशिवरात्रि कहते हैं, इस दिन भगवान शिव के विवाह ही मान्यता मानी गई है, और दूसरी श्रावण मास में आती है ।दूसरी महाशिवरात्रि के अवसर पर शिव के सभी भक्त कावड़ के जरिये गंगाजल लाते हैं और भगवान शिव को स्नान करवाया जाता है।


इस साल 21 फरवरी 2020 को महाशिवरात्रि मनाई जाएगी, और जिसका पूजन महूर्त सुबह 4:08 से शुरू है । चतुर्थी की शुरुआत 21 फरवरी सुबह 5 बजकर 20 मिनट से 22 फरवरी 2020 समय सुबह 7 बजकर 2 मिनट तक है ।


पूजन की आसान विधि :-

सुबह जल्दी उठकर नहाकर लें और साफ वस्त्र पहने । पूजा का संकल्प करें और शिव मंदिर में जाएं । मंदिर में जाकर सबसे पहले सबसे पहले भगवान गणेश का पूजन करें उसके बाद माता पार्वती जी का पूजन करें फिर नन्दीश्वर और कार्तिकेय का पूजन करें। एक बात ध्यान रखें कि महिलाएं कार्तिकेय का पूजन न करें। अब इसके बाद आप भगवान शिव का पूजन शुरू करें ।इसके लिए सबसे पहले शिव को पंचामृत से स्नान कराएं , फिर उन्हें साफ़ जल से स्नान करवाएं । अब इसके बाद उन्हें भांग, धतुरा, बेल पत्र,इत्र, अक्षत, पुष्पमाला, वस्त्र, जनेऊ ये सब चढाएं। इसके बाद उन्हें भोग लगाएं और उनकी कथा पड़ें । इसके बाद आरती करें और उनका पूजन संपन्न करें । इस दिन आपको व्रत लेना होता है और पूरी पूजा के समय सिर्फ ॐ नमः शिवाए का जाप करना है । इस तरह पूजा पूरी करें ।