नाबार्ड की स्थापना कब हुई और इसका उद्देश्य क्या था? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

Cashier ( Kotak Mahindra Bank ) | पोस्ट किया |


नाबार्ड की स्थापना कब हुई और इसका उद्देश्य क्या था?


0
0




Content Coordinator | पोस्ट किया


यह कृषि और ग्रामीण विकास के लिए वित्त प्रदान करने वाला शीर्ष बैंकिंग संस्थान है। नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (NABARD) की स्थापना 12 जुलाई, 1982 को की गई थी। भारत सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक के 50 -50 योगदान से हुई । यह कृषि, लघु उद्योगों, कुटीर और ग्रामोद्योग, हस्तशिल्प आदि को बढ़ावा देने के लिए ग्रामीण ऋण संरचना में एक सर्वोच्च संस्था है।


Letsdiskuss (इमेज -गूगल)


नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (NABARD) की स्थापना भारत सरकार द्वारा एक शीर्ष विकास बैंक के रूप में की जाती है, जिसमें कृषि, कुटीर और ग्राम उद्योगों के संवर्धन और विकास के लिए ऋण प्रवाह की सुविधा है।


1.नबार्ड देश का सबसे महत्वपूर्ण संस्थान है जो कुटीर उद्योग, लघु उद्योग और ग्राम उद्योग और अन्य ग्रामीण उद्योगों के विकास की देखभाल करता है।


2. नबार्ड भी संबद्ध अर्थव्यवस्थाओं तक पहुँचता है और एकीकृत विकास को समर्थन और बढ़ावा देता है।


नाबार्ड का प्रधान कार्यालय मुंबई भारत में है।


नबार्ड राष्ट्र विकास में अपना अहम रॉल अदा करता  हैं लेकिन उनके पास पूँजी का अभाव है। इन सबकी जरूरतों को पूरा करने के लिए,एक बहुयामी बैंक होना चाहिए। हमारे देश की सरकार ने यह कदम जनहित को देखकर उठाया और आज उसका सकरात्मक परिणाम देखने को मिल है। वर्तमान में ग्रामीण कृषको की व ग्रामीण परिवार के जिवनार्थ नाबार्ड उनकी हर सम्भव सहायता व मार्गदर्शन कर रही है। तथा समय समय पर आर्थिक छूट भी प्रदान करती है




0
0

Blogger | पोस्ट किया


✴️NABARD का इतिहास❓
Letsdiskuss
?30 मार्च 1979 को, भारत सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक ने कृषि और ग्रामीण विकास (क्राफ्टकार्ड) के लिए संस्थागत ऋण की व्यवस्था की समीक्षा करने के लिए श्री बी शिवरामन की अध्यक्षता में एक समिति गठित की।
?शिवरामन समिति ने 28 नवंबर 1979 को एक रिपोर्ट प्रस्तुत की जिसमें कहा गया है कि एक नई संस्था की आवश्यकता है जो ग्रामीण क्षेत्र के विकास के लिए ऋण प्रवाह की आपूर्ति को पूरा करेगी।
?अधिनियम 1981 के माध्यम से संसद ने नाबार्ड की स्थापना को मंजूरी दे दी और नाबार्ड 12 जुलाई 1982 को अस्तित्व में आई।
?शुरुआत में नाबार्ड को 100 करोड़ रुपये की राशि से शुरू किया गया था।

✴️नाबार्ड के मुख्य उद्देश्य निम्नानुसार हैं:

?नाबार्ड ग्रामीण विकास गतिविधियों को बढ़ावा देने, कृषि के लिए पुनर्वित्त सहायता प्रदान करता है।
?यह लघु उद्योगों को सभी आवश्यक वित्त और सहायता भी प्रदान करता है।
?राज्य सरकारों के समन्वय में नाबार्ड कृषि प्रदान करता है।
?यह कृषि गतिविधियों को बढ़ावा देने के माध्यम से छोटे और मामूली सिंचाई में सुधार करता है।
?यह कृषि, ग्रामीण उद्योगों में अनुसंधान एवं विकास करता है।
?नाबार्ड अपनी पूंजी में योगदान देकर कृषि उत्पादन में शामिल विभिन्न संगठनों को बढ़ावा देता है।

❇️इस प्रकार, नाबार्ड की वस्तुओं को तीन प्रमुख सिरों के तहत लाया जा सकता है:-

?क्रेडिट समारोह
?विकास समारोह
?प्रोमोशनल फ़ंक्शन।


0
0

Picture of the author