राहुल द्रविड को -वॉल- के नाम से क्यों जाना जाता है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


अमन कुमार

Working (West Delhi Cricket academy) | पोस्ट किया | खेल


राहुल द्रविड को -वॉल- के नाम से क्यों जाना जाता है?


0
0




(BBA) in Sports Management | पोस्ट किया


भारतीय क्रिकेटर राहुल द्रविड का पूरा नाम राहुल शरद द्रविड़ है। राहुल को उनके बैटिंग स्टाइल के लिए काफी पहचान मिली और एक बार जब वह क्रीज पर जम जाते तो दुनिया का बड़ा से बड़ा गेंदबाज उन्हें हिला तक नहीं सकता। राहुल भारतीय राष्ट्रीय टीम के सबसे अनुभवी क्रिकेटरों में से एक हैं। राहुल द्रविड ने साल 1996 में भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा बने और अक्टूबर 2005 में पहली बार भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में चुने गये। हालांकि दो साल बाद सितम्बर 2007 में उन्होंने अपने इस पद से इस्तीफा दे दिया था। 16 साल तक भारत के लिए खेलने के बाद उन्होंने साल 2012 के मार्च में अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मैट से सन्यास ले लिया।


लम्बे समय तक बल्लेबाजी करने की उनकी क्षमता के कारण उन्हें दीवार (बॉल) के रूप में जाना जाता है। भारतीय क्रिकेटरों में सुनील गावस्कर और मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के बाद द्रविड तीसरे ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 10,000 से अधिक रन बनाये हैं। वह दुनिया के क्रिकेट इतिहास में छठे और भारत के तीसरे खिलाड़ी बन गए जब उन्होंने वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में 10,000 रन का स्कोर बनाया। 182 से अधिक कैच के साथ वर्तमान में टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा कैच का रिकॉर्ड द्रविड़ के नाम है। द्रविड़ को 2004 में आईसीसी प्लेयर और वर्ष के टेस्ट प्लेयर के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

Letsdiskuss


0
0

Picture of the author