हल्दी वाले दूध का सेवन किन को नहीं करना चाहिए ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


अनीता कुमारी

Home maker | पोस्ट किया |


हल्दी वाले दूध का सेवन किन को नहीं करना चाहिए ?


0
0




Fitness trainer,Fitness Academy | पोस्ट किया


दूध पीना स्वास्थ के लिए लाभदायक होता है | सर्दियों के समय अगर आप हल्दी वाले दूध का सेवन करते हैं, तो यह आपके लिए केवल स्वस्थ ही नहीं होता बल्कि कई रोगों से आपकी रक्षा भी करता है | परन्तु हल्दी वाला दूध जितना लाभदायक होता है, कई बार वो उतना ही हानिकारक भी हो सकता है, बशर्ते हमें इस बात का ध्यान रखना है, कि हल्दी वाले दूध का सेवन किन को करना चाहिए और किन को नहीं |


Letsdiskuss

किन लोगों को हल्दी वाले दूध का सेवन नहीं करना चाहिए ?

- Gallbladder (पित्ताशय की समस्या ):-

अगर किसी मनुष्य को Gallbladder की समस्या है, तो उन्हें हल्दी वाला दूध बिल्कुल नहीं पीना चाहिए , क्योंकि हल्दी पित्ताशय में स्टोन बनाने का काम करती है |

- Allergy की समस्या :-

अगर आपको मसालों के सेवन से किसी भी प्रकार की एलर्जी होती है, तो आपको हल्दी का भी प्रयोग नहीं करना चाहिए | यह आपकी एलर्जी को बढ़ा सकती है, जिससे आपकी त्वचा पर लाल दाने हो सकते हैं |

- गर्भवती महिलाएं :- 

अक्सर गर्भवती महिलाएं दूध में हल्दी डालकर पीती हैं | उन्हें लगता है, कि इससे उनकी आने वाली संतान का रंग साफ होगा | परन्तु ऐसा नहीं है, हल्दी गर्भाशय को Contraction (सिकोड़ना ) कर देती है | गर्भाशय में Twitch (ऐंठन) पैदा कर सकती है। जो कि आपकी संतान के लिए हानिकारक हो सकता है |

- Diabetic रोगी :-

वैसे तो हल्दी वाला दूध Diabetic patients के लिए अच्छा होता है, परन्तु ज्यादा हल्दी का सेवन करना आपके ब्लड शुगर को बहुत अधिक कम कर देता है, जो कि Diabetic patients के लिए हानिकारक साबित हो सकता है |


15
0

student | पोस्ट किया


                                                              Letsdiskuss  हल्दी दूध के नुकसान

चोट लग जाने या सर्दी- बुखार होने पर हम अक्सर हल्दी दूध का सेवन करते हैं। पर क्या आप जानते हैं कि अनेक फायदों वाले इस हल्दी दूध से कुछ नुकसान भी होते हैं। एक रिसर्च के मुताबिक, यह बात सामने आई है कि अधिक हल्दी के सेवन से आपकी त्वचा रूखी और खुजलीदार हो सकती है। सामान्यता 240 से 500 मिग्रा हल्दी वो भी तीन बार में प्रयोग करने की हिदायत दी जाती है। हल्दी का अधिक सेवन करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें।

एलर्जी और गॉलब्लैडर की समस्या

अगर आपको मसालों के सेवन से एलर्जी हो जाती है तो हल्दी का भी प्रयोग बंद कर दें। यह आपकी एलर्जी को और बढ़ा सकती है। हल्दी गॉलब्लैडर में स्टोन बनाने का भी काम कर सकती है। इसके अलावा यह गैस भी बनाती है।

लीवर की समस्या बढ़ाए

जिन लोगों का लीवर बढ़ा हुआ है या फिर लिवर से संबंधित अन्य समस्याएं हैं, उन्हें हल्दी दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। इसमें मौजूद तत्व लिवर की समस्या को बढ़ा सकती है। अगर आपको खाना खाने के बाद सिर में भारी दर्द हो जाए तो, इसका एक कारण हल्दी भी हो सकती है।

 

गर्भवती महिलाएं

कई प्रेग्‍नेंट महिलाएं दूध में हल्दी डाल कर पीती हैं, जिससे उन्हें गोरा बच्चा पैदा हो। लेकिन हल्दी गर्भाशय का संकुचन, गर्भाशय में रक्त स्रव या गर्भाशय में ऐंठन पैदा कर सकती है।वैसे तो कई केस में हल्दी कैंसर सेल्स से लड़ने में सहायक होती है लेकिन दूसरे केस में यह भी देखा गया है कि यह ब्रेस्ट कैंसर को भी बढ़ावा देती है।

 

मधुमेह रोगी

मधुमेह रोगियों के लिए हल्दी अच्छी है लेकिन ज्यादा हल्दी के सेवन से ब्लड शुगर काफी अधिक कम हो जाती है।अगर आपको पहले से ही एनीमिया की शिकायत है तो, हल्दी का सेवन कम कर दें।

 

सर्जरी के बाद न लें हल्दी

यदि आपकी सर्जरी हुई हैं तो इसका ज्यादा मात्रा में सेवन बुरा है, हल्दी खाने से शरीर में ब्लड क्लॉटिंग की समस्या हो जाती है. यह उनके लिए रिस्की हो सकता है जिनकी हाल ही में सर्जरी हुई हो।

इम्यूनिटी घटाए

यह हमारी इम्यूनिटी सिस्टम को भी प्रभावित करती है। यह उसे कमजोर बना सकती है। भोजन में अगर ज्यादा हल्दी हो तो, इंसान को मतली आने की भी गुंजाइश होती है।

 

इंर्फटिलिटी और गैस की समस्या

ज्यादा हल्दी खाने से पुरुषों को इंर्फटिलिटी की भी समस्या हो जाती है। इससे स्पर्म का प्रोडक्शन कम हो जाता है, ऐसा रिसर्च में कहा गया है।ज्यादा हल्दी खाने से पेट में गैस की समस्या होती है। इससे डायरिया और कब्ज भी हो सकता है।

 

ये भी पढ़े - हल्दी वाले पानी में नीबू मिला कर पीने के क्या फायदे है?

 

 


10
0

Student | पोस्ट किया


हल्दी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है। जो गुणों का भंडार है। और लगभग हर घर में इसका प्रयोग प्रतिदिन होता है। चोट लगने पर या सर्दी होने पर हल्दी वाला दूध सेहत के लिए काफी अच्छा होता है। क्योंकि हल्दी एक एंटीबायोटिक है। देखा जाए तो हल्दी गुणकारी है परंतु कुछ परिस्थितियों में हल्दी का प्रयोग हमारे लिए जानलेवा भी हो सकता है। ऐसा देखा जाता है कि बहुत से लोगों के शरीर में आयरन की कमी होती है। परंतु वे हल्दी वाले दूध का सेवन करते रहते हैं। यह सोच कर कि हल्दी वाले दूध से उनके शरीर में फायदा होगा। परंतु होता इसके विपरीत है। ऐसा इसलिए क्योंकि हल्दी में ऐसे गुण होते हैं जिससे वह आयरन को सोख लेती है। और हल्दी वाले दूध पीने वाले व्यक्ति को इसका नुकसान होता है। इसलिए जिन व्यक्तियों के शरीर में आयरन की कमी हो उन्होंने हल्दी वाले दूध का सेवन नहीं करना चाहिए।



     मधुमेह के रोग से ग्रस्त व्यक्तियों को भी नहीं करना चाहिए हल्दी वाले दूध का सेवन। क्योंकि हल्दी वाला दूध ब्लड शुगर को तुरंत प्रभावित करता है। औऱ ऐसी स्थिति में हल्दी वाला दूध उनके लिए हानिकारक साबित होता है।

     पाइल्स के मरीजों के लिए भी हानिकारक होता है हल्दी वाला दूध। हल्दी हमारे स्वास्थ्य के लिए गर्म होती है। इसमें गर्माहट होने के कारण ये खून को पतला कर देती है। इसलिए पाइल्स के मरीजो को इससे दूर ही रहना चाहिए। इसके साथ ही जिन लोगों का हाल ही में ऑपरेशन हुआ है या होने वाला है। उनको भी हल्दी वाला दूध नहीं पीना चाहिए। क्योंकि हल्दी वाले दूध पीने से खून का बहाव पतला होगा। जो मरीज के लिए हानिकारक है।

     गर्भवती महिलाओं के लिए भी नुकसानदेह है हल्दी वाला दूध। क्योंकि हल्दी वाले दूध से गर्भवती महिलाओं के गर्भाशय में रक्त का बहाव तेज हो जाता है। जिससे ऐंठन होती है।

     अक्सर ऐसा देखा जाता है कि कुछ लोगों के शरीर का तापमान अक्सर गर्म ही रहता है। या कुछ लोग तेज मसाले वाला खाना खाना पसंद करते है तो ऐसे व्यक्तियों के लिए हल्दी वाला दूध अच्छा नहीं है। क्योंकि हल्दी वाला दूध ऐसे व्यक्तियों के शरीर में एलर्जी  पिंपल्स या खुजली पैदा करता है।

     अगर किसी व्यक्ति को पथरी की समस्या है तो उसके लिए भी हल्दी वाला दूध हानिकारक होता है।Letsdiskuss





    1
    0

    Creative director | पोस्ट किया


    प्राचीन समय से ही हल्दी रोग निवारण का एक अच्छा विकल्प रहा है | हल्दी का उपयोग विभिन्न रोगो के उपचार के लिए किया जाता है और हल्दी वाले दूध का सेवन समान रूप में होता है | हल्दी वाला दूध वैसे तो रोगों से मुक्ति दिलाने में सहायक होता है, लेकिन ऐसे बहुत से रोग व स्थितियाँ होती हैं जब व्यक्ति को हल्दी वाले दूध का सेवन नहीं करना चाहिए | 
     
    Letsdiskuss

    पथरी
    हल्दी में ओक्सलेट्स नामक यौगिक होते हैं जो पथरी को बढ़ावा देते हैं अर्थात पथरी बनाते हैं | यदि किसी व्यक्ति को पथरी हो तो उसे पूर्ण रूप से हल्दी के सेवन को त्याग देना चाहिए |

    रक्त से जुड़ी समस्याऐं

    जिन व्यक्तियों को रक्त से जुड़ी समस्याएं हैं उन्हें हल्दी वाले दूध से परहेज करना चाहिए | हल्दी रक्त के ठक्के को पतला करती है जिससे व्यक्ति के शरीर में रक्त से जुड़ी अनेक समस्याएं जन्म लेने लगती  हैं | इसीलिए जिस व्यक्ति को रक्त से जुड़ी समस्याएं हो उसे हल्दी वाले दूध का सेवन नहीं करना चाहिए |

    सर्जरी

    यदि आपकी कोई सर्जरी हुई है या होने वाली है तो आपको हल्दी वाले दूध के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि जैसा कि हम पढ़ चुके हैं, हल्दी रक्त के थक्के को पतला करती है जिसके  कारण आपके शरीर से अतिरिक्त खून बहने का खतरा बना रहता है | 


    0
    0

    Picture of the author