मलेरिया (Malaria ke lakshan or gharelu upay) के लक्षण और इलाज क्या है - Letsdiskuss
img
Download LetsDiskuss App

It's Free

LOGO
गेलरी
प्रश्न पूछे

अज्ञात

पोस्ट किया 29 Nov, 2019 |

मलेरिया (Malaria ke lakshan or gharelu upay) के लक्षण और इलाज क्या है

pooja mishra

Content writer | पोस्ट किया 29 Nov, 2019

मच्छर से कई तरह की बीमारियां होती है और मलेरिया उन्हीं में से एक है। मलेरिया सिर्फ गंदगी के कारण होता है। आसपास फैली गंदगी से मच्छर होते हैं और यही मच्छर मलेरिया रोग का कारण बनते हैं। जिनसे शरीर में कई बीमारियां पैदा होने लगती है ।अगर वक्त पर मलेरिया का इलाज न किया जाए, तो यह जानलेवा भी हो सकता है।

मलेरिया के लक्षण – Symptoms of Malaria

• अचानक तेज सिरदर्द होता है ।

• बार-बार उल्टी या जी-मिचलाना जैसा महसूस करोगे ।

• तेज बुखार चढ़ जाता है ।

• बार-बार ठंड लगकर बुखार आता है ।

• बार-बार प्यास लगना और हाथ-पैर में ऐंठन महसूस करना ।

• थकान,घबराहट या कमजोरी लगने लगती है ।

• शरीर में खून की कमी हो जाती है ।

अदरक

• आपको हर घर में अदरक आसानी से मिल जायेगी, इसमें जिन्जेरॉल (gingerol), एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं।

• जो आमतौर पर सर्दी खासी जुखाम भगाने में मदद करता है,मगर यह मलेरिया जैसी बड़ी बीमारियों के लिए भी फायदेमंद है ।

• अदरक को छोटे-छोटे टुकड़े पानी में उबाल लें और उसे छान कर पिएं ।

पपीता का पत्ता

• भले ही पपीता और इसके पत्तें स्वाद में थोड़े कड़वे लगते हो मगर पेट से लेकर त्वचा तक के लिए यह एक सबसे अच्छा इलाज है ।

• डेंगू में तो आपने इसका फायदा सुना ही होगा लेकिन मलेरिया में भी यह बहुत काम आता है ।

• आप पपीते के पातें की चाय या जूस बन कर पिएं,आप स्वाद बढ़ने के लिए जूस में शहद मिला सकते है ।

• आप पूरे दिन में इसे एक से दो बार इस्तेमाल करें ।

नीम

• नीम के गुणो की तुलना किसी और औषधि से नहीं जा सकती है, यह चेहरा,बाल आँख और खून साफ़ करने में मदद करता है ।

• इसके एंटी-मलेरियल और एंटी-प्लाज्मोडियल गुणों के कारण यह काफी हद तक मलेरिया में बुखार होने पर राहत दिलाता है ।

• नीम के पत्तों को काली मिर्च के साथ पीस लें और इसमें पानी मिला दें उसके बाद 5 से 10 मिनट बाद आप इसे छान कर पी लें ।