स्वपोषी एवं विषम पोषी में क्या अन्तर है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


komal Solanki

Blogger | पोस्ट किया | शिक्षा


स्वपोषी एवं विषम पोषी में क्या अन्तर है?


0
0




| पोस्ट किया


स्वयं पोशी :- ये वह जीव होते हैं जो अपना भोजन सरल अकार्बनिक द्वारा जटिल कार्बनिक पदार्थों द्वारा अपना भोजन स्वयं बनाते हैं तथा प्रकाश  की उपस्थिति में अपना भोजन बनाते हैं।

 उदाहरण:- यूग्लीना एवं सभी हरे पेड़ पौधे।

 स्वयं पोशी जीव जंतु होते हैं जो अपना भोजन स्वयं बनाने में समर्थ होते हैं भोजन के लिए किसी जीव जंतु पर निर्भर नहीं रहती हैं यह सूर्य की उपस्थिति में अपना भोजन बना लेते हैं और इन्हें क्लोरोफिल पाया जाता है।

विषमपोषी :-  ये वह जीव जंतु होते है जो कार्बनिक पदार्थ द्वारा अपना भोजन बनातेे है तथा अपने भोजन के लिए दूसरे जीव जंतु पर निर्भर रहते हैंं यह अपना भोजन  मृत जीव जंतु द्वारा तैयार करतेे हैं।

 उदाहरण:- यूग्लीना को छोड़कर सभी जीव जंतु विषमपोषी में आते है।Letsdiskuss

 


0
0

Occupation | पोस्ट किया


स्वयंपोषी:- वे जीव- जंतु  जो अपना भोजन सूर्य की उपस्थिति मे सरल अकर्बनिक पदाथो द्वारा जटिल कार्बनिक प्रदर्थो से अपना भोजन स्वयं बनाते है, इनको स्वयंपोषी जीव कहते है। उदहारण -युग्लीना और सभी प्रकार के हरे पेड़ -पौधे।

स्वयंपोषी जीव अपने भोजन खुद ढूंढ़ कर बनाते है। और यह किसी भी जीव -जंतु पर निर्भर नहीं होते है। और इनमें क्लोरोफिल पाया जाता है जिसके कारण यह हरे रंग हो जाते है। यह प्रकाश संश्लेषण की क्रिया द्वारा अपना भोजन बनाने मे सफल हो पाते है।

विषमपोषी :- विषमपोषी जीव वह होते है, जो अपना भोजन के लिए दूसरे जीवो पर निर्भर होते हैजो सडे -गले, प्रदर्थो से अपना भोजन ग्रहण करते है वह विषमपोषी जीव कहलाते है। जैसे - कवक और शैवाल।Letsdiskuss


0
0

Picture of the author