लोहड़ी के त्यौहार का क्या महत्व है ? - Letsdiskuss
img
Download LetsDiskuss App

It's Free

LOGO
गेलरी
प्रश्न पूछे

Ramesh Kumar

Marketing Manager | पोस्ट किया 11 Jan, 2019 |

लोहड़ी के त्यौहार का क्या महत्व है ?

Kanchan Sharma

Content Writer | | अपडेटेड 12 Jan, 2019

लोहड़ी का त्यौहार पंजाबियों का प्रमुख त्यौहार है | यह हिन्दू त्यौहार मकर संक्रांति से एक दिन पहले मनाया जाता है | इस वर्ष मकर संक्रांति के त्यौहार को मनाए में बहुत उलझन है, क्योकि इस वर्ष मकर संक्रांति 14 जनवरी की जगह 15 जनवरी को मनाया जा रहा है | लोहड़ी 13 जनवरी को मनाया जाता है | लोहड़ी का त्यौहार कुछ-कुछ हिन्दू धर्म के होली के त्यौहार की तरह ही होता है | लोहड़ी का त्यौहार मुख्य रूप से बच्चों के लिए और जिनकी नई-नई शादी हुई होती है उनके लिए महत्वपूर्ण माना जाता है |

लोहड़ी का अर्थ -

लोहड़ी को पहले तिलोड़ी नाम से जाना जाता है, जिसका अर्थ 2 शब्दों से मिलकर बनाया गया है | तिल+रोड़ी | रोड़ी का अर्थ गुड़ और तिल और गुड़ के मिश्रण से तिलोड़ी बना | बाद में इसको बदलकर लोहड़ी कर दिया |

(Courtesy : onlynews24.com )

लोहड़ी को लेकर कुछ रोचक तथ्य :-

- लोहड़ी का त्यौहार शाम के समय मनाया जाता है , इस त्यौहार में लकड़ियों को जलाकर अग्नि के चरों और चक्कर काटते हैं | नाचते गाते और आग में रेवड़ी, मूंगफली, खील, मक्की की आहुति दी जाती है | इस त्यौहार में रेवड़ी, खील, गज्जक, मक्के का प्रसाद बांटा जाता है |

- कुछ मान्यता के अनुसार कहा जाता है कि संत कबीर की पत्नी लोई को याद कर के यह त्यौहार मनाया जाता है |

- पौराणिक मान्यता अनुसार भगवान शिव की पत्नी सती के त्याग की याद में यह त्यौहार मनाया जाता है | मान्यता यह कहती है कि सती का अग्नि में आत्मदाह करने के दिन को लोहड़ी के रूप में मनाया जाता है |

- ईरान में इस त्यौहार को नए साल के रूप में मनाया जाता है | 

(Courtesy : पंजाब केसरी )