कुंवर सचदेव कौन है, और क्या है इनकी सफलता की कहानी ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Sneha Bhatiya

Student ( Makhan Lal Chaturvedi University ,Bhopal) | पोस्ट किया | शिक्षा


कुंवर सचदेव कौन है, और क्या है इनकी सफलता की कहानी ?


0
0




Content Writer | पोस्ट किया


सफलता की कोई कहानी नहीं होती, जो इंसान सफल होते हैं, वो कहानी बनाते हैं | वैसे ही कुंवर सचदेव की कहानी है | कुंवर सचदेव एक "इनवर्टर मैन" है । पुराने समय के लोगों का कहना था, कि जैसा नाम रखते है, इंसान का काम वैसा ही होता है | कुंवर सचदेव भी अपने नाम की तरह है | जो की हमेशा एक सकारात्मक सोच रखते है, और अपने बुलंद इरादों से आज सफल हुए | कुंवर सचदेव अपने सफल प्रयासों से आज "Su-Kam" कंपनी के मालिक हैं, और इनका साल का टर्नओवर 2000 करोड़ रुपए है |


Letsdiskuss

कुंवर सचदेव की सफलता की कहानी :-

आज जानते हैं, घर-घर जाकर पेन बेचने वाला लड़का आज 2000 करोड़ का मालिक है , यह बहुत बड़ी बात है | कुंवर सचदेव का जन्म दिल्ली के एक पंजाबी परिवार में हुआ | कुंवर सच देव अपने परिवार के सतह एक छोटे से घर में रहा करता था | इनके पिता भारतीय रेलवे में कलर्क थे और माँ ग्रहणी थी | कुंवर सचदेव ने सिर्फ प्राइमरी तक की पढ़ाई प्राइवेट स्कूल में की और पैसों की कमी की वजह से उन्हें सरकारी स्कूल में डाल दिया गया |

अपनी स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद कुंवर सचदेव ने मेडिकल का एंट्रेस एग्जाम दिया और उनके 49 % थे जिस कारण उनका एडमिशन नहीं हो पाया | इसके बाद उन्होंने दोबारा 12 वीं का एग्जाम दिया और टॉप किया | वापस से उन्होंने मेडिकल का एग्जाम दिया पर फिर उनका सिलेक्शन नहीं हुआ | उनका सिलेक्शन इंजीनियरिंग में हो गया | उनका मन इंजीनियरिंग में नहीं था परन्तु उन्होंने फिर भी इसको किया |

उनको पढ़ाई का बहुत शोक था, उन्होंने पढ़ाई के साथ-साथ घर-घर जाकर पेन बेचें और इस तरह उन्होंने पढ़ाई के साथ घर वालों की मदद की | उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद एक केबल कम्युनिकेशन कंपनी में सेल डिपार्टमेंट में जॉब कर ली, और उनको तब इस बात का एहसास हुआ की व्यापार से अच्छा पैसा कमाया जा सकता है | फिर उन्होंने जॉब छोड़ कर अपना व्यापार शुरू किया | उन्होंने अपनी एक कंपनी ओपन की ""Su-Kam" नाम से और उसको सफल बनाने में कड़ी मेहनत की |

इस तरह उन्होंने एक सफल व्यापार की शुरुआत की और खुद को सफल बनाया |



0
0

Picture of the author