क्या रत्न धारण करने के कोई खास नियम होते हैं - Letsdiskuss
img
Download LetsDiskuss App

It's Free

LOGO
गेलरी
प्रश्न पूछे

गीता पांडेय

head cook ( seven seas ) | पोस्ट किया 13 Jun, 2019 |

क्या रत्न धारण करने के कोई खास नियम होते हैं

पंडित दयाराम शर्मा

Astrologer,Shiv shakti Jyotish Kendra | पोस्ट किया 13 Jun, 2019

मानव जीवन का निर्माण प्रकर्ति की कई सारी शक्तियों की देन है | जैसे धरती,आकाश , जल , अग्नि और वायु | इन सब के बाद जब एक इंसान धरती में जन्म लेता है तो उसके ग्रह और नक्षत्र उसके भविष्यफल को निर्धारित करते हैं |


जब किसी मनुष्य की कुंडली में उसके ग्रह कमजोर होते हैं, तब कई बार उसको कई सारी समस्या का सामना करना पड़ता है | ज्योतिष के आधार पर मनुष्य के ग्रहों के बुरे प्रभावों को कम करने के लिए रत्नों को धारण करना होता है | पर इस बात का शायद को अधिक लोग जानते हैं कि रत्न को भी धारण करने के कुछ खास नियम होते हैं और अगर उन नियमों का पालन न किया जाए तो रत्नों का प्रभाव गलत हो सकता है |
रत्न धारण करने के लिए रखें इन बातों का ध्यान :-

- जब भी आप कोई भी रत्न धारण कर रहे हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि उस दिन किसी प्रकार का कोई ग्रहण न हो, अमावस्या न हो और किसी भी महीने की 14 तिथि जिसको संक्रांति कहते हैं उस दिन रत्न धारण न करें |

- जैसा कि हर महीने में 15 - 15 तिथि होती है तो महीने की 4 , 9 और 14 तिथि को रत्न धारण करना अशुभ होता है |

- कृष्णा पक्ष की 13 वीं तिथि से लेकर शुक्ल पक्ष की दूसरी तिथि तक रत्न धारण नहीं करना चाहिए |

- मलमास और श्राद्धपक्ष में रत्नों को धारण करना सही नहीं माना जाता | हिन्दू धर्म के अनुसार यह दोनों पक्ष शुभ कार्यों के लिए सही नहीं होते |
किन नक्षत्रों में रत्न धारण करना शुभ होता है ?

रेवती, अश्विनी, रोहिणी, चित्रा, स्वाति और विशाखा यह कुछ विशेष नक्षत्र है , जिनमें रत्न धारण करना बहुत ही शुभ माना जाता है |