ज्योतिष के अनुसार आपके जूते-चप्पल आपके जीवन को प्रभावित करते हैं - LetsDiskuss
LOGO
गेलरी
ब्लॉग बनाएं

ज्योतिष के अनुसार आपके जूते-चप्पल आपके जीवन को प्रभावित करते हैं

पंडित दयाराम शर्मा

@ Astrologer,Shiv shakti Jyotish Kendra | | Astrology

जैसा कि मानव जीवन में हर चीज़ का अपना एक महत्व होता है | जिसके चलते इंसान को कभी सुख तो कभी दुःख , कभी अच्छा तो कभी बुरा समय झेलना पड़ता है | ज्योतिष के अनुसार मानव जीवन में ग्रहों और नक्षत्रों के परिवर्तन से मानव जीवन में भी बदलाव आते हैं |


ज्योतिष के अनुसार किसी भी व्यक्ति के जीवन हानि और लाभ, काम में तरक्की या कमी इन सभी का सम्बन्ध ग्रहों पर निर्भर करता है | किसी भी इंसान का भविष्य और वर्तमान उसके ग्रहों पर निर्धारित होता है | ज्योतिष के अनुसार जीवन में अच्छे और बुरे समय का संबंध व्यक्ति के जूतों पर भी निर्भर करता है |


आपको बता दें शनि देव का सम्बन्ध पैरों से होता है, इसका अर्थ यह है कि जब भी आप घर से बाहर जाते हैं, जूते या चप्पलों के साथ और वापस उन्हें पहनकर घर वापस आते हैं तो आपके पैरों के साथ साथ राहु और केतु से जुड़े हुए दोष भी आते हैं | जिससे आपके घर नकारात्मक प्रभाव आ सकते हैं | इसके लिए आप कुछ उपायों का प्रयोग कर सकते हैं, जिसको कर के आप राहु-केतु के दोष से बच सकते हैं |


उपाय करें :-

- अगर आपकी कुंडली में शनि को लेकर कोई भी दोष है, जैसे शनि की साढ़े साती या ढैय्या तो आप शनिवार के दिन बिना किसी को कुछ बताए अपना अपना पहना हुआ काले रंग का चमड़े का जूता या चप्पल किसी भी मंदिर के प्रवेश द्वार पर उतार कर वापस आ जाएं | इससे आपके राशि पर शनि का बुरा प्रभाव कम होता है और साथ ही सकारात्मक ऊर्जा का आगमन होता है |


- अक्सर किसी के जूते चप्पल मंदिर से चोरी हों तो लोगों को बहुत बुरा लगता है | परन्तु इस बात का ध्यान रखें कि मंदिर में चप्पल या जूता चोरी हो जाए तो इस बात से बिलकुल परेशान नहीं होना चाहिए बल्कि यह आपकी राशि के लिए किसी शुभ संकेत से कम नहीं है | शनिवार के दिन किसी मंदिर से आपकी चप्पल या जूते चोरी होते हैं, तो इसका अर्थ यह होता है कि आपकी राशि पर शनि के दोष का प्रभाव कुछ कम हुआ है |


(Courtesy : www.jagran )


- अगर आप किसी विशेष काम से कहीं जा रहे हों जैसे अपनी नौकरी के लिए या फिर बेटे या बेटी की शादी की बात करने तो भूलकर भी फाटे हुए जूते या टूटी चप्पल न पहने | इससे आपका बनता हुआ काम बिगड़ सकता है |


- इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखें कि जूते और चप्पलें अपने घर की देहलीज़ पर न उतारें हमेशा दरवाज़े के साइड में उतार कर रखें और कोई भी आए तो उसको भी जूते चप्पल साइड में उतारने के लिए कहें | घर के मुख्य प्रवेश द्वार रखें जूते-चप्पल मानव जीवन के विकास पर रोक लगाते हैं और साथ ही सौभाग्य और समृद्धि पर बुरा प्रभाव डालते हैं |


- अगर आप जूते और चप्पल के लिए कोई निश्चित स्थान बनाना चाहते हैं, तो आप उसके लिए कभी गलती से भी ईशान कोण (उत्तर-पूर्वी ) दिशा में न बनाएं | आप अपने फुटवियर का स्थान पश्चिम दिशा की ओर रखें , यह आपके लिए शुभ होगा |


(Courtesy : labourkiawaaz )


- कुछ लोगों की आदत होती है, एक ही जूते या चप्पल पहनकर बाहर भी जाते हैं और उसको घर में भी पहने होते हैं, यह बहुत ही ग़लत बात है | ऐसा करने से बाहर की मिट्टी आपके फुटवियर के साथ आपके घर में प्रवेश कर जाती है, जो आपके घर राहु और केतु के दोष का आगमन करवाता है | ऐसा करना कई बार आपके स्वास्थ को भी हानि पंहुचा सकता है |


- घर में कभी भी पुराने और फाटे हुए जूते न रखें और न ही टूटी हुई चप्पल रखें | इससे आपके घर नकारात्मक प्रभाव बना रहता है, जो आपके स्वास्थ के साथ-साथ आपके काम को भी प्रभावित करता है |


- कई लोग अपने घर में अपने फुटवियर इधर-उधर फेंक देते हैं, ऐसा करना बहुत ही ग़लत होता है |ऐसा करने से घर में रहने वाले लोगों का मन भी इधर-उधर और खिन्न बना हुआ रहता है | इसका असर आपके घर की शांति पर पड़ता है |


(Courtesy : नवभारत)