Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


mahesh parab

Blogger | पोस्ट किया |


फोरम पोस्टिंग्स से बैक लिंक्स कैसे बनाये

0
0



 दोस्तों आज हम आप को बताएँगे किस प्रकार आप फोरम में पोस्टिंग के द्वारा बैकलिंक बना सकते हो बिना फोरम पसाटिंग ब्लॉग को ऊंचाई तक नहीं लाया जा सकता है !

 दोस्तों सक्सेसफुल ब्लॉगर की निशानी है हाई क़्वालिटी बैकलिंक्स. के जरिये फोरम पोस्टिंग्स !

जो भी ऑनलाइन डिस्कशन वेबसाइट होती है. जहां पर लोग अपने प्रशनो के उत्तर पाने के लिए अपने प्रश्नों को पोस्ट करते है!. आप उन पर जा कर अपने ब्लॉग के निचे से सम्बंधित प्रश्नो के उत्तर दे सकते है! और उत्तर के आखिर में आप अपने ब्लॉग के उस आर्टिकल का लिंक ऐड कर उस प्रश्नो से मेल खा सकते हो !

यह बैक लिंक बनाने का बहुत ही बेहतर तरीका है! और जितने भी सफल ब्लॉगर हुए है वो सभी अपने ब्लॉग के लिए हाई केअलिटी बैक लिंक्स बनाते रहते है!

फोरम पोस्टिंग . में आपको अपने ब्ब्लोग से सम्बंधित प्रश्नों के उत्तर देने तोहे है और उसी आंसर के अंत में आप अपने ब्लॉग का आर्टिकल का link जो उस प्रश्न से सम्बंधित हो दे दीजिये.!

यदि आप फोरम में पोस्ट किये गए प्रश्नों का उत्तर सही देते है तो वह प्रश्नकर्ता आपके ब्लॉग पर कम से कम एक बार तो जरुर आएगा. और यदि आपके आर्टिकल इम्प्रेससिवे और यूस्फुल हुए तो वह विजिटर आपका परमानेंट रीडर बन जायेगा.यदि आप कोई वेबसाइट या ब्लॉग के ओनर है और आप चाहते है की वो वेबसाइट या ब्लॉग सक्सेस हो तो उसके लिए यह जरुरी है की उस ब्लॉग या वेबसाइट पर ओर्गेंनिक ट्रैफिक ज्यादा मात्र में हो|

 यह Organic Traffic क्या होता है?

 हम आप को एक जरुरी बात बता दे की जो ट्रैफिक आपकी वेबसाइट पर किसी सर्च इंजन जैसे Google, Yahoo, Bing, Yandex से आये वो Organic Traffic कहलाती है|

जब तक इन सर्च इंजन से अधिक ट्रैफिक आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर नहीं आती है तो आपका blog या वेबसाइट सक्सेस नहीं होगा|

दोस्तों फोरम पोस्टिंग में जो भी प्रश्न पोस्ट किये गए होते है उनके उत्तर सही और यूज़फुल ही मिलता है. यदि आप चाहे तो आप अपने प्रश्नों को भी पोस्ट कर सकते है !

दू फॉलो या दू फॉलो फोरम ही में बनाये गए बैकलिंक्स ही आपके ब्लॉग की सर्च इंजन रैंकिंग को बेहतर करते है और साथ में ट्रैफिक को भी लाते है!

लेकिन सूत्रों के अनुसार मानना ये है की ज्यादा ट्रैफिक लाने से बेहतर यह है की टार्गेटेड ट्रैफिक लाने पर जोर होना चाहिए. मान लीजिये आपका ब्लॉग टेक्नोलॉजी से जुडी जानकारी देता है और आप किसी तरीके से किसी ऐसे विजिटर जिसका इंट्रेस्ट टेक्नोलॉजी में नहीं है और आप उसको अपने ब्लॉग पर लाये तो वह उस ब्लॉग से तुरंत ही चला जायेगा और दुबारा नहीं आएगा!

इसीलिए हमेशा टार्गेटेड विजिटर ही लाने चाहिए और इस प्रकार के विजिटर आपके blog से सम्बंदित अन्य forum से या ब्लॉग से ही आयेंगे!

दोस्तों आप सोचते होंगे के बैक लिंक्स क्या है ?

बैक लिंक्स नाम सुकर ही समझ अत है के ये एक लिंक है जिस्सेकेक चीज़ को दूसरी चीज़ से जोड़ा जा सकता है! उदहारण के लिए यदि किसी वेबपेज पर अच् , डी ऍफ़ ,डी , ब्लॉग की लिंक जुडी हुई है जिसपर पाठक क्लिक कर के आसानी से वो ब्लॉग पर आ सकते है!

सर्च इंजन अधिक बैकलिंक्स वाले वेबपेज को अधिक रैंकिंग करता है!

आप सोचते होंगे बैक लिंक्स कितने टाइप की होती है!?

मुख्या प्रकार से बैक लिंक्स दो पारकर की होती है! दू फॉलो बैकलिंक्स और नो फॉलो बैकलिंक्स

फोरम पोस्टिंग करना शुरू करने से पहले आप एक बात पर ध्यान दे फोरम में पसाटिंग करना शुरू करने से पहले एक टाइम टेबल का बनना जरुरी है के कब आप को आर्टिकल लिखना है कब उसे पुब्लिश करना है और कब उसे फोरम में प्रमोट करना है !.

  

  फोरम पोस्टिंग्स से बैक लिंक्स कैसे बनाये