क्या होता है नेक्रोफिलिया - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


shweta rajput

blogger | पोस्ट किया | शिक्षा


क्या होता है नेक्रोफिलिया


0
0




student | पोस्ट किया


नेक्रोफिलिया, जिसे नेक्रोफिलिज्म, नेक्रोलैगनिया, नेक्रोकाइटिस, नेक्रोक्लेसिस और थैनाटोफिलिया के रूप में भी जाना जाता है, लाशों के प्रति यौन आकर्षण या यौन क्रिया है। यह विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा अपने इंटरनेशनल क्लासिफिकेशन ऑफ़ डिसीज़ (ICD) डायग्नोस्टिक मैनुअल के साथ-साथ अमेरिकन साइकियाट्रिक एसोसिएशन  द्वारा इसके डायग्नोस्टिक एंड स्टैटिस्टिकल मैनुअल (DSM) में एक पैराफिलिया के रूप में वर्गीकृत किया गया है।





0
0

student | पोस्ट किया


नेक्रोफिलिया एक तरह की मानसिक बीमारी है जिसमे लोग लाश के साथ शारिरिक सम्बन्ध बनाते है


0
0

blogger | पोस्ट किया


??पाकिस्तान में जब किसी सुंदर लड़की की मौत होती है तो उसके परिजन महीनों उसका कब्र की पहरेदारी करते हैं

नेक्रोफिलिया(Necrophilia)-- नेक्रोफिलिया क्या है??

नेक्रोफिलिया एक मानसिक बीमारी है जिसमें व्यक्ति शव यानी लाश यानी डेड बॉडी के साथ बलात्कार करता है,,

अगर मनोवैज्ञानिकों की मानें तो सामान्य रूप से यह बीमारी हर 10 लाख व्यक्तियों में से एक को होती है,, लेकिन इस्लाम में हर दसवां व्यक्ति नेक्रोफिलिया का शिकार है,,

यानी जिंदा तो जिंदा अगर लड़की की लाश भी मिल गई या खुद भी उसकी हत्या करनी पड़ी है तो भी बलात्कार जरूर करेंगे,,

मिस्र की साम्राज्ञी क्लियोपेट्रा ने जो मौत चुनी उससे दुनिया स्तब्ध थी,, आखिर क्यों एक औरत नग्न अवस्था में अपने स्तन पर सांप से डसवाएगी,,लेकिन वो जानती थी कि जिसने मिस्र पर हमला किया है वे इस्लामिक फ़ौज के लोग हैं,,

स्तन पर दंस मरवाने से पूरे शरीर में जहर फैल जाएगा,,तो कोई इंफेक्शन के डर उसकी मृत देह के साथ बर्बरता नहीं कर पाएगा,, साथ ही स्तन को मुँह में लेकर कुचल नहीं पाएगा,, वहशियों का क्या वे किसी भी हद तक जा सकते हैं,,

फिर भी आपको बता दूं कि इतिहासकार कहते हैं कि उसके शव के साथ तीन हज़ार बार बलात्कार किया गया था,,,

रानी पद्मावती ने भी लड़कर मरने के बजाय जौहर चुना,,अभी जब पिछले दिनों फ़िल्म आई तो कितने लोगों ने कहा कि वो तो योद्धा थी,,लड़कर क्यों नहीं मरी??जौहर क्यों चुना??

तो इसका स्प्ष्ट कारण था ख़िलजी और वैसे ही इस्लामिक दरिंदो की फ़ौज,,रानी जानती थी की अगर लड़ते हुए उसने और उसकी साथी औरतों ने जान दी तो उसके शरीर के साथ क्या होगा,,बल्कि दुनिया इस असलियत को जानती है सिर्फ हमारे बच्चों से इसे छुपाया गया है,,नेक्रोफिलिया,,

बस बेटियों को इतना ही सन्देश दिया कि देखो मेरी बहनों,, जो पूरे विश्व में अपनी दरिंदगी और हवस के लिए प्रसिद्ध हैं,, जो शव को भी बिना बलात्कार नहीं छोड़ते,,

अगर तुम लोग इस चक्कर में आ गई कि सब एक जैसे नहीं होते तो याद कर लेना क्लियोपेट्रा और रानी पदमावती को,,,

बस इतना सन्देश आजकल मैं मां बहन बेटियों को दे रहा हूँ,,, आप भी अपने बच्चों को आगाह करके बचा सकते हैं,,

बच्चे समझने को तैयार हैं,, बस हम तैयार नहीं हैं सही शब्दों में समझाने के लिए,,

उत्तिष्ठ भारतः।।

Letsdiskuss


0
0

phd student | पोस्ट किया


ये एक प्रकार का बीमारी है इसमें लोग की हवस बढ़ जाती है और वो लोग केवल लास से सेक्स करना चाहते है


0
0

student | पोस्ट किया


उन्नीसवीं सदी में कानून और कानूनी चिकित्सा पर काम करता है - सोलहवीं सदी के माध्यम से लाश-उल्लंघन के अपराध के लिए विभिन्न शर्तें। "नेक्रोफाइल्स" का बहुवचन शब्द बेल्जियम के चिकित्सक जोसेफ गुइस्लैन ने अपनी व्याख्यान श्रृंखला में लिखा था, लेकोन्स ओर्लेस सुर लेस फेरेनोपेथिस, समकालीन नेक्रोफिलिक फ्रेंक बर्ट्रेंड के बारे में 1850 में दिए गए थे:

यह विनाशकारी पागलों की श्रेणी में है [एलियनस डिस्ट्रक्टेयर्स] कि किसी को कुछ रोगियों को स्वस्थ करने की आवश्यकता है, जिन्हें मैं नेक्रोफिलिएक्स [नेक्रोफाइल्स] का नाम देना चाहूंगा। एलियनवादियों ने एक नए रूप के रूप में अपनाया है, सार्जेंट बर्ट्रेंड का मामला, कैडर्स का विघटनकर्ता जिस पर सभी अखबारों ने हाल ही में रिपोर्ट किया है। हालांकि, यह मत सोचिए कि हम यहां पर एक ऐसी दवा के रूप में काम कर रहे हैं जो पहली बार दिखाई देती है। पूर्वजों ने, लाइकोपेंट्रोपी के बारे में बोलते हुए, उदाहरणों का हवाला दिया है कि कोई कमोबेश उस मामले से संबंधित हो सकता है जिसने अभी तक जनता का ध्यान इतनी दृढ़ता से आकर्षित किया है।



0
0

Picture of the author