औरत की सबसे बड़ी कमजोरी क्या है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

Marketing Manager (Nestle) | पोस्ट किया |


औरत की सबसे बड़ी कमजोरी क्या है?


0
0




Journalist, Ex-Sahara, NDTV-ian & Avid Traveller | पोस्ट किया


औरत एक होती है रूप अपने होते हैं मां बहन बेटी !औरत साक्षात ममता की मूर्ति होती है हर औरत में मातृत्व की भावना कूट-कूट कर भरी होती हैं वह कमजोर कभी भी नहीं होती है बल्कि हमारे पुरुष प्रधान समाज ने उसे कमजोर बनाया गया है अन्यथा शास्त्रों में तो अनेक नारी की शक्तियों का वर्णन मिलता है. .

"नारी नारी मत कहो नारी नर की खान, नारी से पैदा हुए श्री कृष्ण भगवान" इसी प्रकार एक अन्य उक्ति में भी नारी की महिमा का बखान किया है "………

"नारी नारी मत कहो नारी नर का पौधा नारी से पैदा हुए श्री अर्जुन योद्धा"……

औरतों की सबसे बड़ी कमजोरी है उसका मातृत्व ,कहते हैं पुत्र कुपुत्र हो सकता है लेकिन माता कभी कुमाता नहीं हो सकती। कृपया मेरे शब्दों से सहमत हो तो अपवोट पर अपनी अंगुली को जरूर सहलाए.. अगर आप हमारे जानदार और शानदार वीडियो का लुफ्त उठाना चाहते हैं तो यूट्यूब चैनल S Galwa Official पर जरूर पधारे ।



0
0

Content writer | पोस्ट किया


औरत शब्द खुद में बहुत विशाल है| वह केवल एक औरत नहीं होती बल्कि एक माँ, बहन, बेटी, और बहु है| ऐसे में यहाँ एक सवाल की औरत  की सबसे बड़ी कमजोरी क्या है यह एक बेहद गंभीर और रोचक सवाल है| मगर इस सवाल का अगर हर व्यक्ति गंभीरता से अध्यन करें और सोचें तो इसके कई मायने निकल कर आते है | मगर हर सिक्के के दो पहलु होते है ऐसे ही कुछ लोगो का मानना है के हर औरत में मातृत्व की भावना कूट-कूट कर भरी होती हैं वह कमजोर कभी भी नहीं होती है बल्कि हमारे पुरुष प्रधान समाज उसे कमज़ोर बनाता है|  खैर आपके सवाल की और बढ़ें तो मुझे लगता है एक औरत की सबसे बड़ी कमज़ोरी यह है की - 


Letsdiskuss


भावनात्मक 

एक महिला की सबसे बड़ी कमज़ोरी होती है की वह कभी भी कही भावनात्मक हो जाती है| एक महिला के लिए कई बार खुद के इमोशन संभालना बहुत जरुरी हो जाता है| शायद यही एक बड़ा कारण है की महिलाओं को शमशान घाट नहीं जाने दिया जाता| 

क्योंकि वह अपने इमोशंस पर कण्ट्रोल नहीं कर पाती |



माँ होना 

दूसरा एक औरत की कमज़ोरी माँ होना कहा जा सकता है|एक माँ कई बार सही होने के बावजूद भी अपनी हार महसूस करती है| इसका कारण उसके बच्चें होते है| 


वैसे आज के तरक्की पसंद समाज में एक महिला को कमज़ोर कहना बेहद गलत है क्योंकि अब भारत देश में औरतों को एक सामान समझा जाता है और सबको समानता दी जाती है|



0
0

Picture of the author