क्या हस्त रेखा से अपने जीवनसाथी के बारें में जान सकते हैं ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Komal Verma

Media specialist | पोस्ट किया | ज्योतिष


क्या हस्त रेखा से अपने जीवनसाथी के बारें में जान सकते हैं ?


0
0




Content Writer | पोस्ट किया


हस्त रेखा का चलन ज्योतिष शास्त्र में बहुत ही महत्वपूर्ण है | जैसा कि आपको पहले ही बताया है हस्त रेखा से मनुष्य के जीवन की कई सारी बातें सामने आती है | हाथों की कई सारी रेखाएं होती है, जिसका मतलब कई बार आपके भाग्य को बदलता है | आपकी ज़िंदगी के कई राज़ आपकी हस्त रेखा बयान कर देती है |


हस्त रेखा से आप अपने जीवनसाथी के बारें में जान सकते हैं | जैसा कि भगवान शिव को शिवशक्ति कहा जाता है, पत्नी को अर्धांगिनी कहा जाता है , वो इसलिए कहा जाता है क्योकि मानव का शरीर दो लोगों के मिलाप से बना है | नर और नारी से जिसमें शरीर का एक हिस्सा नर का होता है और एक हिस्सा नारी का और एक नर का | वैसे ही मनुष्य का एक हाथ पुरुष अर्थात उसका और दूसरा हाथ उसकी पत्नी का होता है | जिससे आप किसी की भी हस्त रेखा से उसके जीवनसाथी का भविष्य देख सकते हैं |

Letsdiskuss (Courtesy : Zee News )

- जिस भी इंसान के हाथ में विवाह की रेखा हृदय रेखा के पास होती है, उनका विवाह जल्दी हो जाता है | जिनके हाथ में विवाह रेखा ह्रदय रेखा के बीच में होती है उनका विवाह 22 साल की उम्र के बाद होता है |

- हस्तरेखा में स्त्री का बयां हाथ देखा जाता है और पुरुष का दायां हाथ देखा जाता है | जिनके हाथ में विवाह रेखा के साथ ही एक और रेखा होती है, उसका जीवनसाथी बहुत ही अच्छा और ख़्याल रखने वाला होता है | अब चाहे वो पुरुष हो या स्त्री ये हस्त रेखा पर निर्भर करता है कि कौन से हाथ में 2 रेखा एक साथ है |

(Courtesy : Live Cities )

- जिन लोगों की विवाह रेखा और साथ वाली रेखा दोनों बराबर होती हैं, उनका वैवाहिक जीवन बहुत सुखमय गुज़रता है | उन्हें अपने विवाह से कभी किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होती | ऐसी रेखा जीवन में सुख को दर्शाती है |

- जिन लोगों के हाथ में विवाह रेखा ह्रदय रेखा के नीचे होती है, उन लोगों का विवाह होना बहुत मुश्किल होता है | अगर विवाह रेखा टूटी या कटी हो ऐसे लोगों का वैवाहिक जीवन सही नहीं होता | ऐसे लोगों के जीवन में काफी उथल-पुथल चलती रहती है |

(Courtesy : asian-voice.com )


0
0

Picture of the author