स्ट्रीट डांसर 3D मूवी कैसी है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

Sales Executive in ICICI Bank | पोस्ट किया |


स्ट्रीट डांसर 3D मूवी कैसी है?


0
0




Blogger | पोस्ट किया


पराग छापेकर, मुंबई। जब आप किसी विषय पर फिल्म बनाते हैं और फिर उसकी सफलता के बाद उसका सीक्वल बनाते हैं या उसी सब्जेक्ट पर फिल्म बनाते हैं तो अमूमन फिल्म की गुणवत्ता पर प्रभाव पड़ता है। ऐसी कुछ गिने-चुने फिल्में होती हैं जो अपने पहले भाग से लगातार बेहतर होती चली जाती हैं। निर्देशक रेमो डिसूजा ने 'एबीसीडी' से जो यह सफर शुरू किया, वह अब 'स्ट्रीट डांसर 3 डी ' तक आ पहुंचा हैं। वहीं रेमो ने अपना मापदंड फिल्म दर फिल्म ऊंचा ही किया है।

यह कहानी है सहज (वरुण धवन) और इंदर (पुनीत) की है, जो लंदन में अपना डांस ग्रुप चलाते हैं और ग्रुप का नाम 'स्ट्रीटडांसर'। वहीं दूसरी तरफ इनायत (श्रद्धा कपूर) है जोकि पाकिस्तानी मूल की है। इन दोनों ग्रुप का टकराव अमूमन लंदन की सड़कों पर या तो डांस के दौरान या इंडिया-पाकिस्तान क्रिकेट मैच के दौरान होता है। और यह अखाड़ा बनता है अन्ना (प्रभु देवा) के रस्ट्रॉ में। इस बीच सहज पंजाब एक शादी के लिए जाता है और पैसों के लिए वहां से चार लोगों को अवैध रूप से लंदन ले आता है और उसी पैसे से भाई के लिए स्टूडियो खोलता है। सहज का एक ही सपना है उसके भाई के ग्रुप स्ट्रीटडांसर को नंबर वन बनाना।



0
0

Content writer | पोस्ट किया


वरुण धवन-श्रद्धा कपूर की फिल्म 'स्ट्रीट डांसर रिलीज़ हो चुकी है। नाम से ही पता चल गया होगा की यह फिल्म डांस के ऊपर आधारित है। मगर कई बार फिल्में देखने में वैसे नही होती जैसे वह ट्रेलर में दिखती है । ठीक यही हाल इस फिल्म का भी है ऊँचें मकान और दर्शन छोटे। चलिए आपको फिल्म से जुडी जरुरी बातें बतातें है आखिर इतने शानदार ट्रेलर के बाद फिल्म को ऐसे क्यों कहा जा रहा है। अगर आप सोच रहे हैं कि कुछ नया देखने को मिलेगा तो भूल जाइए, क्योंकि आखिर के एक मैसेज को छोड़कर आपको सिर्फ निराशा ही हाथ लगेगी। कहानी की सीन्स लेकर गाने की लिरिक्स तक आपको पहले पार्ट 'एबीसीडी' (ABCD) की दोबारा याद दिलाएगी मगर आपको कुछ और नही मिलेगा कही कही आपको यह फिल्म बिना सर पैर के भी लग सकती है । 
 हालांकि डांस का तड़का आपको कई जगह देखने को मिलेगा, लेकिन दिल को छू जाए ऐसा कुछ नही है ।क्रिटिक कमाल राशिद खान उर्फ KRK ने फिल्म का रिव्यू करते हुए यह तक कह दिया की यह फिल्म मात्र 2।5 घंटे का टॉर्चर होने के अलावा कुछ भी नही है । ऐसे में आप खुद अंदाज़ा लगा सकते है हम आपको क्या समझने की कोशिश कर रहे है । हो सकता है फिल्म की स्टार्टिंग आपको अच्छी लगें मगर कहानी के आगे बढ़ते बढ़ते आपकी उमीदों को निराशा के अलावा कुछ और नही मिलेगा । हाँ वो बात और है की अगर किसी को सिर्फ डांस देखना है और कहानी में कोई इंटरेस्ट नहीं हो आप जरूर जाएं ।



Letsdiskuss


0
0

Picture of the author