भारत में मंहगाई चरम पर है पर कोई बोलता क्यों नहीं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

Crateor | पोस्ट किया |


भारत में मंहगाई चरम पर है पर कोई बोलता क्यों नहीं?


0
0




blogger | पोस्ट किया


मै डंके के चोट पर  कह सकती  हूं कि...  देश में कोई महंगाई  वहंगई नहीं है।

उसकी सच्चाई को जानने समझने के लिए कुछ  तथ्यों से परिचित होना पड़ेगा ।

 

सब 2010 और 2021 का डाटा है 

 

  • आज से १० वर्ष पहले जब कांग्रेस की सर्कार थी तो कांग्रेस किसान भाइयो को गेहू का समर्थन मूल्य 10.80 /kg देती थी और बाजार में आटा जो मिलता था 20  /kg  मिलता था।  
  • वही जब मोदी जी यानि बीजेपी की सरकार आई तो किअसन भाइयो को गेहू का समर्थन मूल्य 19 .75 /kg  दे रही है जोकि कांग्रेस की सरकार  से 90 % अधिक है और आटा का मूल्य 28/kg में बिक रही है जोकि कांग्रेस की सरकार से  40% अधिक है  
  • वही उस समय कांग्रेस की सरकार धान का समर्थन मूल्य 9.50 रु/kg  देती थी और बाजार में मोटा चावल 25 रू/kg बिकता था वही आज बीजेपी की सरकार में धान का समर्थन मूल्य 18.88 रू/kg जो की पूर्व की सरकार की तुलना में 99% अधिक है और वही मोटा वाला चावल इस समय बाजार में 30 रू/kg  जोकि केवल 20% अधिक की दर से बिक रहा है। 
  • उस समय वही सरकार किसान भाई लोगो को अरहर के दाल का समर्थन मूल्य 23 रू/kg देती थी और बाजार में अरहर का दाल लोगो को मिलता था 90 रू/kg । 
  • वही मोदी सरकार में किसान भाई लोगो को अरहर के दाल का समर्थन मूल्य 60रू/kg दे रही है जो की कांग्रेस की सरकार से 161% अधिक है। और बाजार में अब अरहर की दाल की कीमत है 108 रू से 110 /kg  जो की केवल 20% बढ़ा है उस समय की दाम से  
  • उस समय वही सरकार किसान भाई लोगो  मूंग दाल का समर्थन मूल्य 27.60 /kg देती थी और बाजार में मूंग दाल का भाव 87 रू/kg था 
    वही मोदी सरकार में किसान भाई लोगो को मूंग दाल का समर्थन मूल्य 71.96  /kg जो की कांग्रेस की सरकार से 162% अधिक है। और बाजार में अब मूंग दाल 99 रू /kg  जो की केवल 12% अधिक है 
  • उस समय वही सरकार किसान भाई लोगो  उड़द दाल का समर्थन मूल्य 25.20 रू /kg  देती थी और बाजार में उड़द दाल 85 रू/kg मिलता था  
    वही मोदी सरकार में किसान भाई लोगो को  उड़द दाल का समर्थन मूल्य 60 रु  /kg  जो की कांग्रेस की सरकार से 138% अधिक है। और बाजार में अब उड़द दाल 152 रू /kg जो की केवल 79% अधिक है। 
  • उस समय वही सरकार किसान भाई लोगो गन्ने का समर्थन मूल्य 107.76 रू देती थी और बाजार में चीनी 42 रू मिलती थी। 
    वही मोदी सरकार में किसान भाई लोगो को  गन्ने का समर्थन मूल्य 315 रूपये जो की कांग्रेस की सरकार से  193% अधिक है और बाजार में चीनी 37 रू से 39 रु  मिल रही। 
  • और बहुत कुछ है जैसे की 
     कांग्रेस की समय में कुछ समानो की कीमत 

  • जीरा दो सौ रु /kg 
  • हल्दी एक सौ चालीस 
  • धनिया दो सौ रु /kg 
  • मिर्च दो सौ रु /kg 
  • सरसों का तेल सत्ताशी रु /kg 

 

  • जबकि आज 11 वर्ष बाद  2021 में 
  • जीरा  दो सौ अस्सी रु /kg (40% वृद्धि)
  • हल्दी दो सौ /kg  ( कोई वृद्धि नहीं)
  • धनिया दो सौ रु /kg  ( कोई वृद्धि नहीं)
  • मिर्च तीन सौ /kg  (46% वृद्धि)
  • सरसों का तेल एक सौ नब्बे  (100 %  वृद्धि)

 

गौरवतलब है की उस समय डीजल का रेट 51 रु/kg था आज 90 रूपये प्रति लीटर है है जो की 75  से 80 % की बृद्धि हुई है 

अब बातो क्या महंगा हुआ है अब लोगो को सातवा वेतन आयोग मिल रहा है किसान भाइयो की अब अधिक msp  मिल रही है और रही बात 

पेट्रोल के दामों पर छाती पीट रहे मूर्खों की बुद्धि की शुद्धि  की जरुरत है .

 

अभी बहुत कुछ बाकि है जिसको लिखना है और आप का क्या विचार है वो भी बता दीजियेगा 

 

Letsdiskuss

 

जय बीजेपी तय बीजेपी 
आम जन का नारा है 2024  भी हमारा है 


0
0

Picture of the author