कुलदीप नैयर के प्रमुख लेख कौन से हैं ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Ram kumar

Technical executive - Intarvo technologies | पोस्ट किया |


कुलदीप नैयर के प्रमुख लेख कौन से हैं ?


0
0




Delhi Press | पोस्ट किया


कुलदीप नैयर   अपनी सदी के सबसे बड़े पत्रकारों में गिने जाते हैं | इनके लेख चाहे वह अखबारों में छपने वाली खबरें हो या इनकी लिखी हुई किताबे , इन्हे सबसे अलग व निडर पत्रकार बनाती हैं | 95 वर्ष कि उम्र में कुलदीप नेयर का निधन दिल्ली में 24 अगस्त के दिन हुआ | यह बहुत ही दुखद हैं कि हमने एक महान पत्रकार को खो दिया है | जहाँ लोग अपनी युवावस्था में खुदको अखबारों व समाचारों में पाना चाहते हैं वहीँ दूसरी तरफ नैयर  थे जो अपनी वृद्धावस्था में भी आये दिन ख़बरों में बने रहते थे | जितने बड़े वह पत्रकार थे उतने ही ज़्यादा उनके राजनीतिक सम्बन्ध भी थे |


कुलदीप नैयर  का जन्म 14 अगस्त ,1924 में सियालकोट (अब पाकिस्तान ) में हुआ था | वह वकालत करना चाहते थे परन्तु बंटवारे के समय यह हो न सका और वह पत्रकारी कि और बढ़ गए | उन्होंने USA से पत्रकारी कि शिक्षा ली व दर्शनशास्त्र में PhD की | नय्यर ने भारत सरकार के प्रेस सुचना अधिकारी के पद पर कार्य किया ,The Times (लन्दन ) के सपादक रहे तथा PIB ,UNI , और The Statesman के लिए लेखन किया |

Beyond The Lines 

कुलदीप नैयर  द्वारा बहुत से लेख लिखे गए परन्तु उनका सबसे अधिक चर्चित लेख उनकी खुदकी जीवनी Beyond the lines है | कुलदीप नय्यर ने इसमें अपने पत्रकारिता के जीवन, राजनीतिक उतार चढ़ाव और अपने जेल जाने के समय को बखूबी इस किताब में लिखा है | इस किताब को पढ़ने के बाद आप जानेंगे कि किस तरह सरकार के खिलाफ जाकर उन्होंने आपातकाल के समय जेल कि मक्खी वाली दाल तक खायी | अपने लाल बहादुर शास्त्री के सम्बन्धो के बारे में भी उन्होंने इस किताब में लिखा है | उन्होएँ बताया कि किस तरह आजादी के एक महीने बाद जब वह देश को देखते थे तो हर तरफ खून पड़ा नज़र आता था | लोगो ने एक दुसरे को इतनी बेहरमी से मारा था कि देखने वालों की रूह काँप जाती थी | कुलदीप नैयर  ने कहा कि चाहे भारत में कुछ भी हो परन्तु साम्प्रदायिकता नहीं होनी चाहिए, धर्म और जाती पाती के नाम पर बेगुनाहों को मौत के मुँह में डालना कायरता है |
कुलदीप नैयर का राजनीती से घिरा हुआ जीवन आपको इस देश कि राजनीति के बारे में वह वह बताता हैं जिन्हे आपको किसी और ने नहीं बताया जायगा |

Letsdiskuss


1
0

Picture of the author