पितृ पक्ष शुरू हैं, मैं बिना प्याज लहसुन के स्वादिष्ट छोले कैसे बना सकती हूँ ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Medha Kapoor

B.A. (Journalism & Mass Communication) | पोस्ट किया |


पितृ पक्ष शुरू हैं, मैं बिना प्याज लहसुन के स्वादिष्ट छोले कैसे बना सकती हूँ ?


0
0




Home maker | पोस्ट किया


जैसा कि सभी जानते हैं, पितृ पक्ष शुरू हो चुके हैं | जो लोग पितृ पक्षों को मानते है, वो लोग 15 दिनों तक प्याज-लहुसन का सेवन नहीं करते | इस बीच अगर मेहमान आ जायें तो बिना प्याज-लहुसन वाला खाना क्या बनाया जाए जो स्वादिष्ट भी हो ? तो आइये आज आपको हम बिना प्याज-लहसुन के छोले बनाने की विधि बताते हैं |


Letsdiskuss


सामग्री :-

- छोले या काबुली चने - 1 कप (8 से 10 घंटे पहले भीगा कर रखें हुए)
- टमाटर - 2
- हरी मिर्च - 2 से 3 (बारीक़ कटी हुई )
- हरी धनिया (बारीक़ कटी हुई )
- जीरा - 1 चम्मच (तड़के के लिए )
- तेल - 1 चम्मच
- छोला मसाला - 1 चम्मच
- चाय की पत्ती - 1 चम्मच
- अमचूर - 1/2 छोटा चम्मच
- अदरक- एक छोटा टुकड़ा
- इमली का पेस्ट- 1/2 छोटा चम्मच
- हींग - एक चुटकी
- नमक - स्वाद के अनुसार

विधि :-

- सबसे पहले भीगे हुए छोले को अच्छे से धो लें और फिर उन्हें कुकर में उबालने रख दें | (कुकर में कम से कम 8 से 10 सिटी लगने दें )
- अब इसके बाद आप 2 कप पानी में चाय की पत्ती उबालने रख दें | पानी तब तक उबालें जब तक कि पानी का रंग चाय की पत्ती की तरह काला ना हो जाए |
- उबली हुई चाय पत्ती के पानी को छान कर अलग रख लें |
- अब आप टमाटर को धो कर काट लें और उसको मिक्सी में अच्छी तरह पीस लें और उसकी प्यूरी बना लें |
- अब कड़ाई को गैस पर गरम करने रखें उसमें तेल डालें, तेल गरम हो जाए तो इसमें जीरे, हींग और बारीक़ कटी हरी मिर्च का तड़का लगाएं |
- अब टमाटर प्यूरी और स्वाद के अनुसार नमक डालें और कम से कम 5 से 6 मिनट तक पकाएं |
- जब टमाटर ठीक से पक जायें तो इसमें उबलें हुए छोले डाल दें और अच्छी तरह मिलाएं |
- गरम मसाला,अमचूर और इमली का पेस्ट डालें और अच्छी तरह मिलाएं |
- अब चाय पत्ती वाला पानी डालें, और अगर जरूरत हो तो थोड़ा पानी आप अपने हिसाब से डाल सकते हैं |
- अच्छी तरह मसाला और छोले मिक्स हो जायें और पक जाएं उसके बाद उसमें बारीक़ कटा हुआ धनिया डाल दें |

लीजिये बिना प्याज और लहसुन के स्वादिष्ट छोले तैयार हैं |


0
0

Picture of the author