वेरिएबल क्या होते हैं?और यह कितने टाइप के होते हैं - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


preeti patel

Preetipatelpreetipatel1050@gmail.com | पोस्ट किया | शिक्षा


वेरिएबल क्या होते हैं?और यह कितने टाइप के होते हैं


0
0




Occupation | पोस्ट किया



वेरिएबल :- वेरिएबल एक डाटा नाम होता है जो किसी वैल्यू को स्टोर करने के लिए यूज़ किया जाता है। वेरिएबल यूजर डिफाइन इम्प्टी डाटा होता है जो प्रोग्राम मे डिफरेंट टाइप के वैल्यू को स्टोर करने मे यूज़ किये जाते है। वेरिएबल नाम क्योंकि यूजर डिफरेंट होता है अत: इसके नाम a to z or 0 to 9तथा अन्य वेरिएबल (-) से मिलकर बनता है नाम मे फ़ास्ट लेटर का अल्फावेटिक होना आवश्यक होता है।

टाइप्स ऑफ़ वेरिएबल :-

1. लोकल वेरिएबल :- ज़ब किसी वेरिएबल को किसी फंक्शन के अंदर डिफाइन किया जाता है तो ऐसे वेरिएबल लोकल वेरिएबल कहलाते है। ओपनिंग एंड क्लोज़िंग तक ही होती है इसका यूज़ प्रोग्राम मे किसी अन्य फक्शन या ब्लॉक मे नहीं किया जा सकता है उन्हें सिर्फ पर्टिकुलर फंक्शन के साथ ही यूज़ किया जा सकता है।

2. ग्लोबल वेरिएबल :- यह किसी वेरिएबल मे हेडर फ़ाइल के नीचे या मैंन फंक्शन के बाहर इंडिपेंडेंट रूप से डिफाइन किया जाता है। तो ऐसे वेरिएबल ग्लोबल वेरिएबल कहलाते हैं इनकी फाइल या स्कोप पूरे प्रोग्राम में होती है मेन फंक्शन में यूज कर सकते हैं।

 

Letsdiskuss


0
0

| पोस्ट किया


वेरिएबल:- वेरिएबल एक डाटा नेम होता है जो किसी वैल्यू को स्टोर करने के लिए यूज़ किया जाता है। इसे आईडेंटिफायर भी कहते हैं। प्रोग्राम एक्स ट्यूशन के दौरान वेरिएबल की वैल्यू बदलती रहती है यही स्थिर नहीं रहती। एक वेरिएबल को लिखने के लिए आप मैक्सिमम31 लेटर का उपयोग कर सकते हैं ।

वेरिएबल के प्रकार:-

1) लोकल वेरिएबल

2) ग्लोबल वेरिएबल

1) लोकल वेरिएबल:- लोकल वेरिएबल ऐसे वेरिएबल होते हैं इनको केवल उसी फंक्शन में उपयोग किया जा सकता है। जिनमें इन्हें डिक्लेअर किया गया हो। इस तरह के वेरिएबल को लोकल वेरिएबल कहते हैं।

(2) ग्लोबल वेरिएबल :- ग्लोबल वेरिएबल एस ए वेरिएबल को कहते हैं जिनमें केवल  उसी फंक्शन का उपयोग किया जाता है। जिनमें इन्हें केवल ग्लोबल द्वारा डिक्लेअर किया गया हो इस तरह की वेरिएबल को हम  ग्लोबल वेरिएबल कहते हैं।Letsdiskuss


0
0

Preetipatelpreetipatel1050@gmail.com | पोस्ट किया


 

* वेरिएबल एक डाटा नेम कहलाता है ! जो किसी  इंटिजर वैल्यू को स्टोर करने के लिए यूज किया जाता है वेरिएबल यूजर डिफाइन एक खाली डाटा होते हैं! जो सी  प्रोग्राम में डिफरेंट टाइप के वैल्यू को स्टोर करने में उपयोग किए जाते हैं! सी प्रोग्रामिंग में वेरिएबल नेम पहले से ही यूजर डिफाइन होता है अतः इसके नेम a to z और बाइनरी नंबर 0 to 9 तथा अदर  वेरिएबल साइन से मिलकर बनता है! वेरिएबल नेम के बीच में स्पेस नहीं होना चाहिए! इसमें 2 वर्ड को ऐड करने के लिए अंडर स्कोर का यूज किया जाता है!Letsdiskuss


0
0

Picture of the author