पपीता खाने का सही समय क्या है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

Fashion Designer... | पोस्ट किया |


पपीता खाने का सही समय क्या है?


0
0




Blogger | पोस्ट किया


Letsdiskuss


पपीता खाने में जितना स्वादिष्ट होता है उतना ही हमारी सेहत को भी लाभ पहुंचाता है। सेहत के लिए पपीते का रस भी बहुत गुणकारी होता है।  पपीता न सिर्फ सेहत के लिए बल्कि यह बालों व स्किन के लिए भी अच्छा होता है, इतना ही नहीं पपीते को सलाद के रूप में भी खाया जा सकता है। यानी सलाद खाएं सेहत बनाएं। आइए जानें पपीते खाने से सेहत पर क्‍या प्रभाव पड़ता है।
पपीते में बड़ी मात्रा में विटामिन ए, पोटेशियम और कैल्शियम होता है। इसमें विशेष रूप से एंजाइम होते हैं, जो मांसाहारी आहार करने वालों के लिए भी लाभकारी है, क्योंकि यह हाई कैलोरी मांसाहारी भोजन को पचाने में भी मदद करता है।

पपीता बहुत जल्दी पचने वाला फल है। पपीते से दाद, खाज, खुजली दूर हो जाती है।

पपीते के सवेन से न सिर्फ उच्च रक्तचाप को नियंत्रित किया जा सकता है बल्कि ये ऊर्जा बढ़ाने में भी कारगर है। 

त्वचा पर अगर कहीं कट लग गया है या उसमें सूजन, जलन है तो पपीते को उस जगह लगाकर आराम मिलता है।

यदि किसी के पेट में कीड़े है तो पपीते के बीज और छिलके इस बीमारी को दूर करने में फायदेमंद है।

जिन लोगों को बहुत अधिक कब्ज की शिकायत रहती है उनके लिए पपीता किसी औषधी से कम नहीं।

पपीते के सेवन से अर्थराइटिस के दर्द और कैंसर जैसर बीमारियों से राहत मिलती हैं, हालांकि इससे बीमारी को जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता लेकिन ये इन बीमारियों से होने वाले दर्द और अन्य़ समस्याओं से निजात दिलवाता है।

पपीता खाने से शरीर अंदरूनी रूप से स्वस्थ रहता है जिस कारण हमें सर्दी, खांसी, जुकाम जैसी बीमारियां भी नहीं होती।

लंबी उम्र पाने और लंबे समय तक जवान रहने के लिए पपीता खाना लाभाकारी है।

पपीते के सेवन से आमाशय और आंत संबंधी विकारों में बहुत लाभ मिलता है।

हृदय, नाड़ियों तथा पेशियों की क्रिया ठीक रखने में भी पपीते के सेवन से मदद मिलती है।

पपीते के सेवन से चेहरे पर झुर्रियां पड़ना, बालों का झड़ना, बवासीर, चर्मरोग, अनियमित मासिक धर्म आदि अनेक बीमारियां दूर हो जाती है।

यह हृदय रोगियों और डायबिटीज के मरीजों के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। यह उच्च कोलेस्ट्राल स्तर को कम करने में मदद करता है।

पपीते का रस प्रोटीन को आसानी से पचा देता है। इस कारण आंत और पेट के विकारों के लिए काफी लाभदायक होता है। इसके नियमित सेवन से कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है। इसमें पाए जाने वाला एंजाइम शरीर में होने वाली सूजन को कम करने में मदद करता है।

पपीते में पाया जाने वाला विटामिन ए त्वचा और आंखों के लिए काफी उपयोगी होता है। इसमें पाए जाने वाला कैल्शियम शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाने का काम करता है। यह शरीर की पाचन क्षमता को सही रखता है साथ ही पेट के संक्रमण से बचाता है।

पपीते के चूर्ण का सेवन करने से आमशय की जलन, जख्म, अपच दूर होता है।


0
0

Picture of the author