कुंभ के समय एकादशी व्रत का क्या महत्व है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Satindra Chauhan

@letsuser | पोस्ट किया |


कुंभ के समय एकादशी व्रत का क्या महत्व है ?


0
0




Content Writer | पोस्ट किया


हिन्दू धर्म में सभी त्यौहारों का बड़ा ही महत्व होता है | चाहे वो त्यौहार छोटा हो या बड़ा हो सभी अपनी-अपनी जगह एक अलग और महत्वपूर्ण महत्व रखते हैं | जैसा कि एक महीने में 2 ग्यारस , एक पूर्णिमा और एक अमावस्या आती है | हर महीने आने वाली ग्यारस का अपना एक महत्व होता है | आज आपको कुंभ के समय एकादशी का क्या महत्व है इसके बारें में बताते हैं |


जैसा कि कुंभ का अवसर बहुत ही पावन माना जाता है | ज्योतिषाचार्य सुजीत जी महाराज के अनुसार कुंभ में एकादशी का बहुत बड़ा महत्व है | एकादशी के दिन संगम तट पर और पूजा करना दान देना बहुत ही शुभ माना गया है | एकादशी का व्रत सभी व्रतों में बड़ा ही शुभ और व्रतों का राजा माना जाता है | इस महान पर्व पर विष्णु जी का पूजन बहुत ही करने से कई जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं |

इस पूरे कुंभ के समय जितनी भी एकादशी होती है उसका व्रत और पूजन करने से अनंत पुण्य की प्राप्ति होती है।

Letsdiskuss (Courtesy : giphy.com )

कैसे करें एकादशी का पूजन :-
एकादशी को प्रातः काल ब्रह्म मुहूर्त(सुबह 4.24 से 5.12 तक) में उठकर स्नान करें और मंदिर में सही समय में जाकर बैठ जायें | भगवान विष्णु की प्रतिमा के सामने धूप बत्ती और घी का दीपक जलाएं । गणेश भगवान की पूजा से शुरुआत करें और एकादशी पूजा शुरू करें |

एक महत्वपूर्ण बात , विष्णु भगवान का पूजन माता लक्ष्मी के साथ ही करना चाहिए | इसके बाद श्री विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ करें और उसके बाद श्री सूक्त का पाठ करें। आप सुन्दरकाण्ड का पाठ भी कर सकते हैं वह भी शुभ माना जाता है |
इस व्रत में अगर आप अन्न ग्रहण न करें तो यह व्रत आपको ज्यादा फल देता है | 

(Courtesy : Latestly.com )


0
0

Picture of the author