मेटावर्स की दुनिया में जाने का तरीका क्या है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


Rinki Pandey

| पोस्ट किया |


मेटावर्स की दुनिया में जाने का तरीका क्या है?


2
0




| पोस्ट किया


मेटावर्ष नाम सुनते ही ऐसा लगने लगता है जैसे किसी अलग दुनिया कि बात हो रही हो । जी हां अगर आप ऐसा सोच रहें है तो बिल्कुल सही सोच रहें है , मेटावर्ष का मतलब एक आभासी दुनिया होता है । जिसमें लोग वास्तविकता में नहीं होते । 

 

पीछले एक साल से मेटा काफ़ी चर्चा में है । मेटा तब ज्यादा चर्चा ने आया जब फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग ने अपनी कम्पनी का नाम मेट रख दिया ।  इसके पीछे का कारण पुछा गया तो उन्होंने बताया कि कुछ समय बाद हम एक आभास की दुनिया बनाने जा रहें है । जो वास्तविक दुनिया से बिल्कुल अलग होगी । 

 

आइए जानते है कि मेटा शब्द की उत्त्पति कैसे और कब हुई ? 

 

मेटावर्स भले ही आज अचानक से चर्चा में आया है लेकिन यह काफी पुराना शब्द है। 1992 में नील स्टीफेंसन ने अपने डायस्टोपियन उपन्यास "स्नो क्रैश" में इसका जिक्र किया था। स्टीफेंसन के उपन्यास में मेटावर्स का मतलब एक ऐसी दुनिया से था जिसमें लोग वीडियो गेम में डिजिटल दुनिया वाले गैजेट जैसे हेडफोन और वर्चुअल रियलिटी की मदद से आपस में कनेक्ट होते हैं। आज हम आपको अपनी इस रिपोर्ट में बहुत ही आसान भाषा में बताएंगे कि आखिर मेटावर्स क्या है और क्यों दुनिया की बड़ी टेक कंपनियां इसमें निवेश कर रही हैं? 

 

अभी तक हम सभी जानते थे एक दुनिया ब्रह्मांड है । लेकिन वैज्ञानिकों ने अब एक नई दुनिया खोज ली है मेटावर्स । ब्रह्मांड में आप सभी चीजों को छू सकते है उसे महसूस कर सकते है । लेकिन यह आभासी दुनिया बिल्कुल भी अलग है । मेटावर्स में ठीक आप उसी तरह से काम कर सकते है जैसा सोच रहें है । उदाहरण के तौर पर मैं आपको समझता हूं अगर आप सोच रहें है कि मैं किसी दिल्ली के मॉल में जाकर शॉपिंग करूं , तो आप ठीक दूर बैठ कर शॉपिंग कर सकते है । इसमें सबसे पहले आपकी और उस शख्स की तस्वीर का  होलोग्राम तैयार होगा जिससे जिससे आपको बात करना है  और फिर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से आप बात कर सकेंगे। 

Letsdiskuss

यह दुनिया कैसे चलेगी :- 
  
आप सोच रहें होंगे आखिरकार यह दुनिया चलती कैसे होगी । तो मैं आपको बता दूं यह दुनिया पूरी तरह से इंटरनेट पर आधारित है । इसके लिए आने वाले समय में आपको एक अलग तरह का इंटरनेट प्रयोग करना पड़ेगा । वास्तविक दुनिया में अगर आपको अमेरिका घूमना है तो इसके लिए आपको अमेरिका जाना पड़ेगा । लेकिन इस आभासी दुनिया में आप अपने घर बैठे ही अमेरिका में घूम , टहल , और मजेदार शॉपिग और चीजे खा, पी सकते है । 

 

क्या मेतावर्स के लिए हमें पढ़ाई करने की जरुरत है ? 

 

मेटावर्स का अनुभव आप वर्चुअल रियलिटी हेडसेट और हाई-स्पीड इंटरनेट के बिना नहीं कर सकते। इसमें आग्युमेंट रियलिटी चश्में, स्मार्टफोन और मोबाइल एप की जरूरत होती है। यदि कोई आपसे कहता है कि सिर्फ मोबाइल से आप मेटावर्स का अनुभव कर सकते हैं तो वह आपको गुमराह कर रहा है। आप मोबाइल से मेटावर्स के रिकॉर्डेड वीडियो तो देख सकते हैं, लेकिन मेटावर्स का अनुभव नहीं कर सकते। मेटावर्स में लोगों का होलोग्राम बनता है जो कि किसी का आभासी अवतार है।

 

इसे भी पढ़े : मेटावर्स की दुनिया बनने में कितना समय लग जाएगा?


1
0

Picture of the author