मोबाइल फ़ोन कब ख़तरनाक बन सकता है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Jessy Chandra

Fashion enthusiast | पोस्ट किया |


मोबाइल फ़ोन कब ख़तरनाक बन सकता है ?


1
0




Engineer,IBM | पोस्ट किया


वर्तमान काल में मोबाइल फ़ोन एक ऐसी जरुरत बन गया हैं जिसके बिना जीवन थोड़ा असंभव लगता हैं , क्योंकि रोज़मर्रा के जीवन में मोबाइल का योगदान बहुत बढ़ गया हैं , जैसे की हम सभी जानते हैं की हम कभी भी कही भी घर बैठे बैठे कुछ भी सामान खरीद सकते हैं या फिर बेच सकते हैं , और अगर बात युवाओ की करें तो आज की युवा पीड़ी इंटरनेट और सोशल मीडिया की वजह से हर वक़्त फ़ोन के इस्तेमाल में लगी रहती हैं | लेकिन कुछ लापरवाहियों की वजह से फ़ोन कितना खतरनाक बन जाता हैं इस बात को कम ही लोग जानते हैं , मोबाइल फ़ोन का लगातार इस्तेमाल करने से बहुत से नुक़सान भी होते  हैं,  इसलिए सभी लोग इस बात को नहीं जानते हैं की कैसे मोबाइल फ़ोन खतरनाक बन जाता हैं | 


Letsdiskuss (courtesy-abcnews)

आपको बताते हैं कैसे मोबाइल फ़ोन खतरनाक बन जाता हैं  

- जो लोग बार बार सेल्फी लेते रहते हैं उनको यह बात नहीं पता होगी की जब बार बार चेहरे पर मोबाइल की लाइट सामने आती हैं तो इससे चेहरे पर वक़्त से पहले झुर्रिया पड़ जाती हैं और आपके चेहरे की स्किन जल्दी खराब होने लगती हैं |

- मोबाइल से निकलने वाली विकिरणों से कैंसर जैसी बीमारिया होने की संभावना होती हैं |

- इजरायल की हाइफा यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन में बताया गया की सोने से आधे घंटे पहले ही मोबाइल को हटा कर रख देना चाहिए और स्क्रीन का इस्तेमाल बंद कर देना चाहिए |

- अक़सर सभी लोग रात को सोते वक़्त अपना मोबाइल फ़ोन सिरहाने रख कर सोते हैं , पर वह यह नहीं जानते की मोबाइल स्क्रीन से निकलने वाली नीली रोशनी ‘स्लीप हार्मोन’ को खत्म कर देती हैं और यही कारण हैं की लोग रात रात भर जागते रहते हैं  और सुबह उन्हें आलस और नींद आती हैं |


0
0

Picture of the author