किस देश का राष्ट्रपति घर छोड़कर भाग गए? जनता ने राष्ट्रपति को घर छोड़ने के लिए क्यों मजबूर किया? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


Rinki Pandey

| पोस्ट किया |


किस देश का राष्ट्रपति घर छोड़कर भाग गए? जनता ने राष्ट्रपति को घर छोड़ने के लिए क्यों मजबूर किया?


4
0




| पोस्ट किया


Letsdiskuss

 

दुनिया का पहला ऐसा मामला है कि किसी देश के राष्ट्रपति को वहां की जनता ने ही भगा दिया हो और वहां से जाने के बाद दूसरे देश में शरण ली और ईमेल के माध्यम से अपना इस्तीफा दे दिया।

 

पड़ोसी देश श्रीलंका इस समय आर्थिक संकट से गुजर रहा है। सवाल यह है कि इस देश का राष्ट्रपति अपने देश को छोड़कर भाग गया और उसे क्यों भागना पड़ा। 

 

दोस्तों इसका जवाब यह है कि हमारे देश के पड़ोसी देश श्रीलंका में आर्थिक संकट का दौर चल रहा है। कई साल से आर्थिक संकट के कारण यहां पर लोग परेशान थे ऐसे में 1 दिन इतनी अधिक महंगाई हो गई और दाने दाने के लिए लोग मोहताज होने लगे तो लोगों का गुस्सा श्रीलंका के हुक्मरानों पर फूट पड़ा। इसके बाद वहां की गुस्साई जनता ने राष्ट्रपति भवन घेराव कर लिया। आज के वर्तमान उस समय के राष्ट्रपति गोतबया राजपक्षे गुस्साई भीड़ को देखकर वहां से भाग गए और फिर इसके बाद सिंगापुर में शरण ली। की जनता वहां के राष्ट्रपति और उस समय के तत्कालिक सरकार को दोष दे रही थी क्योंकि उनकी नीतियां देश को आर्थिक स्थिति में ला दी थी। मजेदार बात यह है कि राष्ट्रपति के भागने के बाद वे सिंगापुर पहुंचे और वहां से उन्होंने इस्तीफा दे दिया।

 

गोतबया राजपक्षे और उनका पूरा खानदान श्रीलंका में वंशवाद की बेल की तरह जमे हुए थे उन्होंने पूरे श्रीलंका को बर्बाद कर दिया ऐसा वहां के नागरिकों का मानना है।

 

श्रीलंका में महंगाई बहुत अधिक है आम लोगों का जीवन बर्बाद हो चुका है। बताया जाता है कि टैक्स कम करने और ऑर्गेनिक खेती को बढ़ावा देने के कारण ऐसी स्थिति आ गई है। रेवेन्यू ज्यादा जनरेट ना होने के कारण देश का आयात निर्यात सब खत्म हो चुका है।

 

इस समय नए राष्ट्रपति और नई सरकार का गठन श्रीलंका में नए सिरे से दोस्तों किया जा रहा है और आशा किया जा रहा कि श्रीलंका फिर इस मुसीबत से अपने आप को निकाल लेगा लेकिन यह बात सही है कि अगर सही हुक्मरान नहीं मिले तो किसी भी देश का बेड़ा कर कर सकते हैं। 

 

 


0
0

Picture of the author