कभी-कभी भावनाएं हमारे दृढ़ विश्वास को भी क्यों कमजोर कर देती हैं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

@letsuser | पोस्ट किया |


कभी-कभी भावनाएं हमारे दृढ़ विश्वास को भी क्यों कमजोर कर देती हैं?


0
0




Student | पोस्ट किया


मानव किसी भी चीज को देखने के लिए आध्यात्मिक, तार्किक या भावनात्मक आदि दृष्टिकोण का उपयोग करता है। कुछ लोग ऐसे होते हैं जो अपने जीवन के महत्वपूर्ण फैसले भावनात्मक दृष्टिकोण से लेते हैं। परंतु कभी-कभी हमारे अंदर की भावनाएं हमारे दृढ़ विश्वास को कमजोर कर देती हैं, क्योंकि अक्सर मानव भावनाओं में बहकर तर्क को अनदेखा करके निर्णय ले लेता है। और निर्णय लेने के बाद पछताता है परंतु हर बार ही ऐसा हो यह संभव नहीं है। Letsdiskuss


0
0

Picture of the author