नेहरू को कुछ भारतीयों द्वारा क्यों पसंद नहीं किया जाता है? - Letsdiskuss
img
Download LetsDiskuss App

It's Free

LOGO
गेलरी
प्रश्न पूछे

shweta rajput

blogger | पोस्ट किया 27 Jun, 2020 |

नेहरू को कुछ भारतीयों द्वारा क्यों पसंद नहीं किया जाता है?

subham singh

student | पोस्ट किया 07 Jul, 2020

नेहरू हमारे देश के प्रथम प्रधानमन्त्री थे जो चुनाव हार गये थे और हमारे प्रधानमन्त्री बनने वाले थे पटेल जी लेकिन देश के कथित बापु के जिद्द के आगे पटेल जी हार गये और ईस नेहरु को प्रधानमंत्री बना दिया गया

kisan thakur

student | पोस्ट किया 07 Jul, 2020

नेहरू एक ऐसा ईन्सान जो कुर्सी के लिए  कुछ भी कर सकता था सुभाष बाबु का पता ना चला चन्द्रशेखर जी का मुखबिरी करवाना

vivek pandit

आचार्य | पोस्ट किया 03 Jul, 2020

नेहरु सत्ता लोभी था उसी कि वजह से कश्मीर मुद्दा आज तक चल रहा है

Awni rai

student | पोस्ट किया 03 Jul, 2020

नेहरु कि स्वभाव से ही लोग उसे पसन्द नही करते थे भारत के राजनीति मे अगर वंशवाद है तो इन्ही के कारण है अगर देश के टुकड़े हुए है तो इन्ही के कारण हुआ है

subham singh

student | पोस्ट किया 02 Jul, 2020

क्योंकि ये बहुत बड़ा हिन्दु विरोधी था और ईसी के कारण हमारे देश का टुकड़ा हुआ ये एक नाम का पण्डित था और ईसे हमारे देश के चाटुकारितापूर्ण इतिहासकार इसे महान बना दिये और ना जाने किस रिस्ते से ईसे चाचा लोग बुलाते है ये केवल अग्रेजो का चाटुकार था

amit singh

student | पोस्ट किया 30 Jun, 2020

मुझे भी नेहरु पसन्द नही है उसका कुछ कारण है जैसे अय्याशी 
कश्मीर मुुुुुद्दा 
चिन को जमीन देना 
अपनी देश के जमीन  को बंजर बोल उसेे चिन को सौप देना
हिन्दु धर्म से नफरत  
सुभाष बाबु को गायब होने मे उसपे शक होना लाजमी  होना  

abhi singh

teacher | पोस्ट किया 30 Jun, 2020

हा आज कल के युवाओ के बिच नेहरू के प्रति घृणा है जो सही है नेहरू एक ऐसा नेता था जो केवल सत्ता सुख चाहता था इसीलिए उसने भारत का दू टुकड़ा करवाया क्योकि उसे प्रधानमंत्री बनाना था और रही बात जिन्ना की तो वो भी प्रधानमंत्री बनाना चाहता था और इनके जो सरदार थे महात्मा गाँधी वो नेहरू से भट प्यार करते थे इसीलिए तो उन्होंने पटेल जी को प्रधानमंत्री नहीं बनाने दिया क्योकि अगर पटेल जी प्रधान मंत्री बन जाते तो इनकी अय्याशी कैसे होती 

आज कल के युवाओ के बिच नेहरू के प्रति बहुत नफरत है। इसका अधिकांश हिस्सा भारतीयों के एक छोटे से लेकिन बहुत ही दिखने वाले समूह से आता है- युवा जो मध्यम और उच्च मध्यम वर्ग के परिवारों से संबंध रखते हैं और उन राज्यों से आते हैं जहां जाटों, पटेलों, राजपूतों आदि जैसे समुदायों का राजनीति में दबदबा है। दुश्मनी मुख्य रूप से गुजरात, राजस्थान, हरियाणा, महाराष्ट्र जैसे राज्यों और यूपी के कुछ हिस्सों में मौजूद है जहां राइटविंगर का बोलबाला है। ये क्षेत्र मुख्य रूप से इस दृष्टिकोण के लिए सदस्यता लेते हैं कि भारत केवल हिंदुओं का है और मुसलमान और ईसाई बाहरी हैं। ज्यादातर लोग, जिनकी ये गलत धारणाएं हैं, वे राइटविंगर विचार का अनुसरण करते हैं कि नेहरू ने भारत को कुछ 'महान हिंदू समाज' बनने से रोका। 

  • आज का भारत कहीं बेहतर होता अगर सरदार पटेल नेहरू की बजाय पहले पीएम बनते
  • नेहरू हिंदू विरोधी थे
  • नेहरू ने वंशवादी राजनीति का निर्माण किया
  • 1962 के युद्ध में हार के लिए नेहरू जिम्मेदार थे।
  • नेहरू ने भारत के लिए UNSC में स्थायी सीट को ठुकरा दिया और इसे चीन को दे दिया।

इन सब कारणों से नेहरू को लोग पसंद नहीं करते और मै भी नहीं करता