सलमान खान के NGO को क्यों क्यों ब्लैक लिस्ट किया जा रहा है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


हीना खान

Makeup artist,We MeGood | पोस्ट किया |


सलमान खान के NGO को क्यों क्यों ब्लैक लिस्ट किया जा रहा है ?


0
0




Optician | पोस्ट किया


नमस्कार हीना जी , आपका सवाल है सलमान खान के  NGO को ब्लैक लिस्ट किया जा रहा है |


                                         बॉलीवुड में सलमान खान की दरियादिली की लोग कसमें खाते हैं। वह हमेशा दूसरों की मदद करते रहते हैं। यह गुण उनमें माता-पिता सलीम खान और सलमा से आया है। मदद की इसी कवायद को औपचारिक रूप देने के लिए सलमान ने एनजीओ बीइंग ह्यूमन बनाया। लेकिन अब इस एनजीओ पर खतरा मंडरा रहा है।

बीएमसी यानी बृहनमुंबई महानगर पालिका ने सलमान खान के इस एनजीओ को काली सूची में डालने का फैसला किया है। बीइंग ह्यूमन फाउंडेशन के खि‍लाफ यह कार्रवाई बांद्रा में एक डायलिसिस सेंटर को स्थापित नहीं किए जाने के कारण हो रही है। एक साल से अध‍िक समय बीत जाने के बाद भी यह प्रोजेक्‍ट पूरा नहीं हुआ है।

                                    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीएमसी ने इस मामले में एनजीओ को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। साथ ही संस्था का डिपोजिट भी जब्त कर लिया है। बीएमसी के एडिशनल कमिश्नर ने इस बात की पुष्टि की है। दो साल पहले बीएमसी ने पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप में 12 डायलिसिस सेंटर खोलने का फैसला किया था। सलमान खान के एनजीओ को पाली हिल में 24 डायलिसिस मशीन लगानी थी।

बताया जाता है कि बीइंग ह्यूमन फाउंडेशन को बैंक गारंटी के साथ सारी परमिशन भी दी गई, लेकिन वो प्रोजेक्ट शुरू ही नहीं हुआ। हालांकि बीइंग ह्यूमन फाउंडेशन के एक प्रतिनिधि ने बताया है कि उनकी संस्था को कुछ जरूरी बातें अपने करार में शामिल करनी होती हैं। इन बातों के बारे में बातचीत चल रही थी जो असफल हुई। इसको लेकर कोई कॉन्‍ट्रैक्‍ट या एमओयू साइन नहीं किया गया था।

                                   बता दें कि डायलिसिस लिए बीएमसी ने करीब 350 रुपये इलाज की फीस तय की थी। इसके बाद बीइंग ह्यूमन एनजीओ ने 339.50 रुपये में डायलिसिस सेवा देने का फैसला किया था। सलमान खान अपनी संस्था के जरिए चैरिटी भी करते हैं और इसके लिए उन्होंने देश दुनिया में कई सारे रिटेल स्टोर भी खोल रखे हैं। इन स्‍टोर्स में बीइंग ह्यूमन ब्रांड के कपड़े-जूते व अन्य सामान मिलते हैं। इस मद से आए पैसे का बड़ा हिस्‍सा फाउंडेशन द्वारा किए जा रहे कार्यों में खर्च किया जाता है।


नोट :- आपका धन्यवाद् ,और अधिक जानकारी और सुझाव के लिए संपर्क करे |

आपके विचार हमारे लिए अनमोल है |



Letsdiskuss

 



7
0

Picture of the author