क्या देश शॉपलेस इकॉनोमी की राह पकड़ लेगा ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Kranthi seo

Quotes | पोस्ट किया |


क्या देश शॉपलेस इकॉनोमी की राह पकड़ लेगा ?


0
0




Blogger | पोस्ट किया


टेक्नोलॉजी के विस्तरण के साथ लोगो को उसके फायदे भी देखने को मिल रहे है। ऑनलाइन शॉपिंग के इस दौर में शॉपलेस इकोनॉमी का ख्याल भी बड़ी तेजी से आगे बढ़ रहा है और कई सारे एक्सपर्ट तो यहां तक कहते है की अगले कुछ सालो में हमारे देश में शॉपलेस इकोनॉमी देखने को मिलेगी। ख्याल अच्छा है पर यह पूर्ण तया संभव नहीं है।


Letsdiskuss

सौजन्य: प्राइमा सेलर 
भारतीय इकॉनोमी मिश्र इकॉनोमी है जहाँ कोई एक ही क्षेत्र पर सब कुछ निर्भर नहीं है। कुछ हद तक यह सच है की छोटे ब्यापारियों पर इस का दबाव बढ़ेगा पर उनका देश के विकास में योगदान काफी है और इसी लिए न तो इकोनॉमी शॉपलेस हो सकती है और न ही इन शॉप्स पर निर्भर। यह मिश्र इकॉनोमी में ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों क्षेत्र की जरुरत है।

ऑनलाइन शॉपिंग और सर्विसिस को देखते हुए लोग मानते है की कुछ सालो में सब ऑनलाइन ही हो जाएगा पर इस क्षेत्र की भी कुछ मर्यादाए है जो शायद लोग देखते नहीं है और इसी लिए यह कहना बिलकुल सही नहीं होगा की देश शॉपलेस इकोनॉमी बन जाएगा।
हाँ यह मुमकिन है की ऑफलाइन शॉप्स की तादाद थोड़ी कम हो और ऑनलाइन का मार्केट बढ़ जाए क्यूंकि टेक्नोलॉजी का बढ़ता उपयोग और लोगो के पास वक्त की किल्लत इस में खास भूमिका अदा करती है और इसीलिए ऑफलाइन शॉपिंग कम हो रहा है पर वो बिलकुल बंद भी नहीं हो सकता।



0
0

Picture of the author